हरियाणा सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरी HMS

अमर उजाला, फरीदाबाद Updated Thu, 30 Jan 2014 06:34 PM IST
protest for increament in minimum salary
मुख्यमंत्री की रैली में घोषणा के बाद भी निजी कंपनियों के श्रमिकों को न्यूनतम वेतन 8100 रुपये न देने के खिलाफ हिंद मजदूर सभा (एचएमएस) से जुड़ी कंपनियों के श्रमिकों ने बृहस्पतिवार को जुलूस निकाला।

नीलम फ्लाईओवर के पास से निकाले गए जुलूस में नारेबाजी करते हुए सैकड़ों श्रमिक जिला उपायुक्त कार्यालय पर पहुंचे। वहां पर धरना देकर राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन के खिलाफ भड़ास निकाली। श्रमिकों ने सिटी मजिस्ट्रेट मनीषा शर्मा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

हिंद मजदूर सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष एसडी त्यागी ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्योगपतियों के दबाव में 8100 रुपये न्यूनतम वेतन लागू करने से मुकर गए। इसकी वजह से श्रमिकों में असंतोष है। इसको लागू करके महंगाई के हिसाब से इसे बढ़ाकर 15 हजार रुपये किया जाए, ताकि श्रमिक सम्मानजनक जीवन जी सकें। अभी 5300 रुपये न्यूनतम वेतन मिल रहा है।

इस मौके पर प्रदेश महासचिव सुरेंद्र लाल ने कहा कि सरकार परमानेंट कार्यस्थल पर काम करने वाले ठेका श्रमिकों को नियमित करवाने का आदेश जारी करे। कानूनन परमानेंट कार्यों पर परमानेंट वर्कर ही काम कर सकते हैं लेकिन शहर की कंपनियों में ऐसा नहीं हो रहा है।

जिला महासचिव आरडी यादव ने कहा कि इस समय शहर की कई कंपनियों में श्रमिक विवाद चल रहा है। जिनमें शोवा इंडिया एवं बेलिस इंडिया का विवाद प्रमुख है। इसलिए इनका निपटारा किया जाए। प्रबंधक श्रमिकों का ईएसआई, ईपीएफ काटकर उसे जमा नहीं करवा रहे हैं। इसलिए ऐसी गतिविधियों पर लगाम लगाई जाए।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

गुरुग्राम में धारा 144 लागू, ‘पद्मावत’ देखने जाने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

फिल्म 'पद्मावत' की रिलीज को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शन और विवाद को देखते हुए गुरुग्राम में धारा 144 लगा दी गई है।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls