ये कैसी अंधेरगर्दी, करे कोई भरे कोई

अमर उजाला, नोएडा Updated Fri, 24 Jan 2014 01:05 PM IST
no power connection
नोएडा प्राधिकरण से आवंटित दुकान लेना एक आवंटी के लिए भारी पड़ रहा है। पुराने आवंटी पर बिजली का बिल बकाया होने के कारण अब आवंटी को कनेक्शन नहीं मिल रहा, जिसके लिए वह प्राधिकरण व विद्युत निगम के चक्कर काट रहा है।

भंगेल निवासी देवेंद्र शर्मा की पत्नी बीना शर्मा के नाम प्राधिकरण से करीब चार माह पहले सेक्टर 53 स्थित कंचनजंगा मार्केट में करीब एक करोड़ रुपये में दुकान आवंटित हुई। प्राधिकरण ने बोली के जरिए इसका आवंटन किया।

यह भी पढ़ें:क्या है इस बार नोएडा अथॉरिटी का बजट?

पजेशन मिलते ही आवंटी ने दुकान पर बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन किया। विद्युत निगम से कनेक्शन तो नहीं मिला, उल्टे पुराने कनेक्शन पर करीब 68 हजार रुपये बिजली का बिल बकाया होने का नोटिस थमा दिया। इससे परेशान आवंटी प्राधिकरण से गुहार लगाने पहुंच गया।

प्राधिकरण के वाणिज्यक खंड के एजीएम एलपी सिंह की ओर से विद्युत निगम को पत्र लिखा गया कि नया आवंटन होने के कारण आवंटी से पुराना बिल नहीं लिया जा सकता है। इसलिए कनेक्शन जारी कर दिया जाए।

यह भी पढ़ें: अब यहां एक्सरे का कोई पैसा नहीं लगेगा

इसके जवाब में विद्युत निगम ने प्राधिकरण को वापस पत्र लिखा है कि प्रॉपर्टी के अगेंस्ट ही बकाया बिल की रिकवरी हो सकती है। ऐसे में जब तक बकाया बिल जमा नहीं होगा, तब तक कनेक्शन नहीं दिया जाएगा।

पुराना आवंटन दिल्ली के विवेक विहार निवासी अशोक कुमार के नाम है। आवंटी ने प्राधिकरण से इस मसले का हल निकालने को फिर से गुहार लगाई है। फिलहाल अभी तक कोई रास्ता नहीं निकल सका है। पुरानी संपत्तियों के आवंटन पर बकाया वसूली को लेकर आए दिन आवंटियों को इस तरह की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

गुरुग्राम में धारा 144 लागू, ‘पद्मावत’ देखने जाने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

फिल्म 'पद्मावत' की रिलीज को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शन और विवाद को देखते हुए गुरुग्राम में धारा 144 लगा दी गई है।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls