जानिए, अरविंद केजरीवाल के धरने का सच

संतोष कुमार/ अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 21 Jan 2014 12:24 PM IST
cm arvind kejriwal's dharna at janpath
राजधानी दिल्ली के रेल भवन गोलचक्कर को दिल्ली सरकार ने धरना स्थल में तब्दील कर दिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पूरी दिल्ली को बुलावा भी भेजा, लेकिन आवाम गोल चक्कर तक नहीं पहुंच सकी।

देर शाम तक बमुश्किल दो सौ लोग मौके पर दिखे। वहीं, पुलिस बैरीकेट के बाहर भी लोगों की संख्या मामूली थी। हालांकि ‘आप’ के नेताओं का कहना था कि धरने पर जनता को शॉर्ट नोटिस पर बुलाया गया, धीरे-धीरे भीड़ पहुंचेगी।

यह भी पढ़ें: रात भर सड़क पर सोए केजरीवाल

दरअसल, मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी ने जैसे ही पूरी दिल्ली को रेल भवन तक पहुंचने का आह्वान किया, पुलिस ने सभी रास्तों की नाकाबंदी शुरू कर दी। गोल चक्कर की तरफ जाने वाले सभी छह रास्तों को बैरीकेट कर दिया गया। यहां से कोई भी व्यक्ति पैदल भी गोल चक्कर की तरफ नहीं जा सका।

यह भी पढ़ें: 'जारी रहेगा धरना, सड़क से चलेगी सरकार'


वहीं, कार, बाइक, बस समेत सभी वाहनों को दूर से ही दूसरे रास्तों पर डायवर्ट कर दिया गया। रेल भवन के एक किमी के दायरे में आने वाली सभी सड़कों पर वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई। इसके अलावा नजदीकी सभी मेट्रो स्टेशन भी नहीं चले।

इसका असर यह रहा कि लोगों का रेल भवन तक पहुंचना नामुमकिन हो गया। देर शाम तक मौके पर भीड़ इकट्ठा नहीं हो सकी। रेल भवन के नजदीक पहुंचने के बावजूद भी लोगों को मायूसी हुई। पुलिस ने उन्हें मुख्यमंत्री के नजदीक तक जाने की इजाजत नहीं दी।

पुलिस ने दो मंत्रियों को बैरीकेट के बाहर रोका
स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन व महिला बाल विकास मंत्री राखी बिडलान को भी पुलिसिया झिड़की का सामना करना पड़ा। बैरीकेट लगाने से पहले दिल्ली सरकार के दोनों मंत्री गोल चक्कर के बाहर थे। थोड़ी देर बाद वापस आने पर पुलिस ने दोनों को रोक लिया। इससे नाराज होकर स्वास्थ्य मंत्री वहीं पर धरने पर बैठ गए। करीब तीन घंटे बाद पुलिस ने उन्हें अंदर जाने की इजाजत दी। वहीं, राखी बिडलान की भी पुलिस के साथ काफी देर तक बहस होती रही। करीब आधे घंटे बाद पुलिस ने इन्हें धरना स्थल पर जाने की इजाजत दी।

बैरीकेट तोड़ने पर पुलिस ने विधायक को पीटा
शाम करीब 5:20 बजे राजेंद्र प्रसाद मार्ग की तरफ से मॉडल टॉउन के विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी ने अपने कुछ समर्थकों के साथ बैरीकेच तोड़कर धरना स्थल की तरफ जाने की कोशिश की। इससे नाराज होकर पुलिस ने सभी को दौड़ाया और जमकर पिटाई की। इससे विधायक चोटिल होकर वहीं गिर गए। दूसरी तरफ कार्यकर्ताओं को जबरन धक्का देकर पुलिस ने बस में डाल दिया। वरिष्ठ नेताओं के दखल के बाद कार्यकर्ता विधायक को अस्पताल ले जाने में कामयाब हो सके।

केजरीवाल पर देशद्रोह का मुकदमा चले : हर्षवर्धन

दिल्ली प्रदेश भाजपा ने दिल्ली सरकार के धरने को दिल्ली में अराजकता फैलाने वाला कदम बताया है। भाजपा का कहना है कि सरकार का भरोसा संविधान, भारतीय कानून और संवैधानिक संस्थाओं में नहीं है। विदेशी महिलाओं के साथ मानवीय व्यवहार करने की भी तमीज नहीं है। भाजपा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को मिस्टर यू-टर्न बताया है। यह भी आरोप लगाया है कि सरकार की नाकामियों को छिपाने के लिए राजनीतिक नाटक किया जा रहा है। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हर्षवर्धन ने कहा कि सरकार आम आदमी को ही कष्ट दे रही है। यह सरासर राष्ट्रद्रोह है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

गुरुग्राम में धारा 144 लागू, ‘पद्मावत’ देखने जाने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

फिल्म 'पद्मावत' की रिलीज को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शन और विवाद को देखते हुए गुरुग्राम में धारा 144 लगा दी गई है।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls