छात्रवृत्ति घोटाला: हरियाणा और राजस्थान के दो संस्थानों और तीन दलालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, काशीपुर Updated Sat, 28 Dec 2019 10:05 AM IST
विज्ञापन
scholarship scam Uttarakhand : Lawsuit on Two more educational institute
- फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
उत्तराखंड में एसआईटी निरीक्षक ने काशीपुर कोतवाली में हरियाणा और राजस्थान के दो निजी संस्थानों और तीन दलालों के खिलाफ कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर छात्रवृत्ति की राशि हड़पने के आरोप में दो अलग-अलग मुकदमे दर्ज कराए हैं। दो दलाल ऐसे हैं, जिन पर दोनों मामलों में केस दर्ज किया गया है। 
विज्ञापन

हाईकोर्ट के आदेश पर एसआईटी 11 जिलों में छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही है। एसआईटी अब तक बाजपुर और जसपुर में तीन मुकदमे दर्ज करा चुकी है। एसआईटी को राजस्थान और हरियाणा के दो निजी संस्थानों की ओर से स्थानीय लोगों की मिलीभगत से छात्रवृत्ति घोटाला किए जाने की शिकायत मिली थी। दोनों मामलों की  जांच एसआईटी निरीक्षक जीबी जोशी ने की। जांच में दोनों संस्थान और इस धंधे से जुड़े तीन दलालों की लिप्तता सामने आई। 
जांच के बाद शुक्रवार को गणपति कॉलेज ऑफ एजुकेशन फरीदाबाद (हरियाणा) के स्वामी, प्रबंधकों एवं अधिकारियों समेत जसपुर निवासी दिग्विजय सिंह व कमलजीत सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी एवं कूटरचित दस्तावेज तैयार करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया गया। गणपति कॉलेज ऑफ एजुकेशन पर 16 विद्यार्थियों का भौतिक सत्यापन नहीं होना पाया गया, जिस पर 7.57 लाख का छात्रवृत्ति घोटाला सामने आया है। 
इसी तरह जोशी ने मारवाड़ बीएड कॉलेज जोधपुर (राजस्थान) के स्वामी, प्रबंधकों और अधिकारियों समेत ग्राम बरखेड़ापांडे निवासी उदयराज सिंह, ग्राम भगवंतपुर, जसपुर निवासी कमलजीत सिंह व पंजाबी कॉलोनी जसपुर निवासी दिग्विजय सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। मारवाड़ बीएड कॉलेज 11 विद्यार्थियों का भौतिक सत्यापन नहीं होना पाया गया, जिस पर 6.57 लाख से अधिक का छात्रवृत्ति घोटाला सामने आया है। 

इससे पूर्व सितंबर 2019 में जसपुर कोतवाली में भी इन तीनों दलालों के खिलाफ छात्रवृत्ति घोटाले में मुकदमा दर्ज कराया जा चुका है। इन सभी पर इन संस्थानों में फर्जी प्रवेश दर्शाकर कूटरचित छात्रवृत्ति आवेदन एवं अन्य प्रपत्र प्रस्तुत कर लाखों रुपये की सरकारी राशि के गबन का आरोप है। आरोप है कि दलालों ने कम पढ़े-लिखे और सामान्य जाति के विद्यार्थियों को एससी/एसटी जाति में दर्शाकर लाखों की छात्रवृत्ति की राशि हड़प ली। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

तत्कालीन प्रधानाचार्या और लिपिक पर केस

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us