जीजा ने साले को चाकुओं से गोदकर निकाली भड़ास, शव को झाड़ियों में फेंका, ये हुआ अंजाम

ब्यूरो/अमर उजाला, गोपेश्वर Updated Mon, 31 Jul 2017 11:53 PM IST
 Life imprisonment for brother in laws murder
प्रॉपर्टी के लालच में जीजा अपने साले से इस कदर नफरत करने लगा क‌ि उसने साले को चाकुओं से ही गोद डाला। इसके बाद उसने शव को झाड़‌ियों में फेंक द‌िया। घटना को अंजाम देने के बाद वह  फरार हो गया। लेक‌िन उसकी इस करनी का ये उसे ये सजा म‌िली। 
जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रदीप पंत की अदालत ने साले की हत्या के दोषी अभियुक्त को आजीवन कारावास और बीस हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है। घटना अगस्त 2011 की है।

पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक हुसैनपुरा, पटियाला (पंजाब) निवासी रेशम सिंह 24 अगस्त 2011 को अपने साले गुरुजीत सिंह को मोटर साइकिल से हेमकुंड साहिब की यात्रा के बहाने लाया था। 25 अगस्त को उसने कर्णप्रयाग के समीप गुरुजीत सिंह की चाकुओं से गोदकर हत्या कर शव को झाड़ी में फेंक दिया था।

26 अगस्त को वन विभाग के कर्मियों ने बैरियर के नीचे झाड़ियों में शव पड़ा देखा तो इसकी सूचना थाना कर्णप्रयाग को दी। पुलिस ने शव कब्जे में लिया। मृतक के पिता हरवंश सिंह ने कपड़ों और फोटो से अपने बेटे की शिनाख्त की। शव के पास ही पुलिस ने चाकू भी बरामद किया। आरोपी को सहारनपुर से गिरफ्तार कर लिया गया। 
आगे पढ़ें

ससुर से भी नहीं बनी

Spotlight

Most Read

Shahjahanpur

गुंडा एक्ट में निरुद्ध चार अपराधी एडीएम ने किए जिला बदर

गुंडा एक्ट में निरुद्ध चार अपराधी एडीएम ने किए जिला बदर

19 फरवरी 2018

Related Videos

इन रास्तों पर चलकर कैसे पढ़ेगी बेटी, कैसे बढ़ेगी बेटी?

उत्तराखंड के कई ऐसे गांव हैं जो अब तक केदारनाथ में आई आपदा के बाद से उबर नहीं पाए हैं। ऐसा ही एक गांव है केदारघाटी का तरसाली गांव जहां पर सड़कें नदारद हैं। बच्चियों को पहाड़ के दुर्गम रास्तों से स्कूल तक पहुंचना पड़ता है।

19 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen