Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Corona in Uttarakhand: Cabinet Minister Satpal Maharaj Told Only One Covid Test Mandatory For Other State Pilgrims

चारधाम यात्रा 2021: पर्यटन मंत्री ने किया साफ, बाहरी राज्यों से आने वालों को तीन में से एक ही टेस्ट कराना है जरूरी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Sun, 18 Apr 2021 11:30 PM IST

सार

  • पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने बताया कि 24 व 25 अप्रैल को कुंभ में देव डोलियों का सत्कार व कुंभ स्नान होगा। इसमें कोविड के नियमों का पालन जरूरी है।
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : iStock
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

चारधाम यात्रा में आने वालों के लिए न्यूक्लीनियन एसिड एम्प्लीफिकेशन टेस्टिंग (सीबीएनएएटी), टीवी डायग्नोसिस टेस्ट ट्रू नेट (टीआरयूईएनएटी) और रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पॉलिमियर्स चेन रिएक्शन (आरटीपीसीआर) टेस्ट में से किसी एक की रिपोर्ट जरूरी होगी, न की तीनों की। पर्यटन, संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने रविवार को इस पर स्थिति स्पष्ट की। वहीं, बताया कि 24 व 25 अप्रैल को कुंभ में देव डोलियों का सत्कार व कुंभ स्नान होगा। इसमें कोविड के नियमों का पालन जरूरी है।

विज्ञापन


चारधाम यात्रा 2021: पहली बार अलग-अलग दिन खुलेंगे गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट, ये है वजह


महाराज ने कुंभ और चारधाम यात्रा पर आने वाले पर्यटकों, श्रद्धालुओं और साधु-संतों से अनुरोध किया है कि वह शारीरिक दूरी, सैनिटाइजर और मास्क का प्रयोग करते हुए कोविड नियमों का पालन अवश्य करें। उन्होंने बताया कि हरिद्वार में महाकुंभ पर आयोजित होने वाला देव डोलियों का कुंभ स्नान निर्धारित समय पर कोविड नियमों का पालन करते हुए आयोजित किया जाएगा।

उत्तराखंड में कोरोना: रविवार को 2630 नए संक्रमित मिले, 12 मरीजों की हुई मौत

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री की ओर से 24 और 25 अप्रैल को देव डोलियों के सत्कार, सम्मान और कुंभ स्नान कार्यक्रम को अनुमति मिल गई है। कहा कि इस कार्य के लिए साधु संतों सहित सभी पुलिसकर्मियों और ड्यूटी पर लगे कर्मचारियों को भी आवश्यक हिदायत दे दी गई है।

ग्रीन कार्ड बनाने का सॉफ्टवेयर हुआ तैयार

चारधाम यात्रा के लिए ग्रीन कार्ड बनाने वाला सॉफ्टवेयर आरटीओ ने तैयार कर लिया है। एनआईसी की मदद से तैयार सॉफ्टवेयर की सभी बारीकियों की पड़ताल भी कर ली गई है। अब शासन और सरकार के स्तर से इसकी लांचिंग की जानी है।

आरटीओ प्रशासन दिनेश चंद्र पठोई ने बताया कि ग्रीन कार्ड बनाने की प्रक्रिया इस साल से ऑनलाइन की जा रही है। इसके तहत 10 सीट क्षमता तक के वाहनों को फिटनेस या अन्य औपचारिकता के लिए किसी भी आरटीओ या एआरटीओ दफ्तर नहीं जाना पड़ेगा।

इसके बजाए सीधे ऑनलाइन आवेदन कर सभी दस्तावेज अपलोड करने होंगे। फीस भी ऑनलाइन ही जमा की जाएगी। इसके बाद ऑनलाइन ग्रीन कार्ड जारी हो जाएगा। उन्होंने बताया कि एनआईसी की मदद से सॉफ्टवेयर तैयार हो चुका है। जैसे ही शासन और सरकार के स्तर से निर्देश मिलेंगे, उसी हिसाब से इसकी शुरुआत कर दी जाएगी। इसका ट्रायल भी सफल हो चुका है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00