लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun News ›   Bailey Bridge Built On malpa Road, Which connects India to China Border

चीन सीमा को जोड़ने वाली लिपुलेख सड़क पर मालपा में भी बेली ब्रिज तैयार, सेना को होगा फायदा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, धारचूला (पिथौरागढ़) Published by: अलका त्यागी Updated Sat, 27 Jun 2020 10:00 PM IST
सार

  • कामयाबी: 67 आरसीसी ग्रिफ ने डेढ़ महीने में बनाए दो बेली ब्रिज

मालपा में बना बेली ब्रिज
मालपा में बना बेली ब्रिज - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

विस्तार

भारत-चीन को जोड़ने वाली लिपुलेख सड़क पर ग्रिफ (जनरल रिजर्व इंजीनियर फोर्स) ने एक और बड़ी कामयाबी हासिल की है। यहां ग्रिफ ने बेली ब्रिज का निर्माण पूरा कर पुल से वाहनों की आवाजाही शुरू कर दी है। सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण इस सड़क पर ग्रिफ बहुत तेजी से कार्य कर रही है। इस पुल के बनने बाद सीमा पर जाने वाले सेना के जवानों और व्यास घाटी के सात गांवों के लोगों को फायदा मिलेगा। 



67 आरसीसी ग्रिफ के कमान अधिकारी के नेतृत्व में मालपा बेली ब्रिज का शुक्रवार को विधिवत पूजा पाठ के बाद उद्घाटन किया गया। सामरिक दृष्टि से अति महत्वपूर्ण तवाघाट-लिपुलेख मार्ग पर बीआरओ हीरक परियोजना के तहत सड़क निर्माण में लगी है।



यह भी पढ़ें: मुनस्यारी-मिलम सड़क पर बीआरओ ने पांच दिन में तैयार किया चीन सीमा को जोड़ने वाला नया पुल

आठ मई को रक्षा मंत्री के सड़क का ऑनलाइन उद्घाटन करने के बाद 67 आरसीसी ग्रिफ ने सीमा विवाद और आगामी मानसून को देखते हुए युद्ध स्तर पर दिन रात सड़क निर्माण करके डेढ़ महीने के अंदर बुदि और मालपा में दो बेली ब्रिज तैयार कर दिए हैं।

रविवार से सिविल गाड़ियों की आवाजाही शुरू हो जाएगी

इन पुलों के निर्माण से व्यास घाटी के सात गांवों के लोगों के साथ-साथ सेना,आईटीबीपी, एसएसबी के जवानों को ,कैलाश मानसरोवर यात्रियों, आदि कैलाश, ओम पर्वत, भारत चीन व्यापारियों को आवागमन में राहत मिलेगी। 
 
उद्घाटन के दौरान दौरान 67 आरसीसी के कमान अधिकारी ले. कर्नल गुरतेज सिंह ने पुल बनाने में लगे एईईपी मंडल, एई देवाशीष, जेई दानू प्रसाद सहित सभी मजदूरों को बधाई दी। साथ ही सभी कर्मचारियों ने एक दूसरे को मिष्ठान खिलाकर खुशी जताई। इस पुल से रविवार से सिविल गाड़ियों की आवाजाही भी शुरू हो जाएगी।

मालपा में पुल निर्माण से पूरी तरह जुड़ा तवाघाट-लिपुलेख 
मालपा में बेली ब्रिज बनने से ग्रिफ ने तवाघाट-लिपुलेख को पूरी तरह जोड़ दिया है। सड़क पूरी तरह जुड़ जाने से व्यास घाटी के लोग बहुत खुश हैं। पुल के बनने से सीमा पर सेना भी सामान, रसद आदि आसानी पहुंचा सकेगी।

नाबी, कुटी को जोड़ने वाली सड़क का भी तेजी से हो रहा कार्य

ग्रिफ गुंजी, नाबी, कुटी लिम्पियाधुरा और चीन सीमा में गुंजी, कुटी ज्योलिंगकांग सड़क का कार्य भी युद्ध स्तर से कर रही है। इस सड़क के बनने से आदि कैलाश यात्रियों को भी फायदा मिलेगा। यहां पर 34 किमी सड़क का 67आरसीसी ग्रिफ तेजी निर्माण कर रही है। इस सड़क के तीन माह में तैयार होने की संभावना है। 

ग्रिफ ने नजंग, मालपा, लामारी से बुदि के बीच दुर्गम चट्टानों को दोनों तरफ से काटकर सड़क का निर्माण पूरा किया है। व्यास घाटी के लिए सड़क पूरी तरह लिंक होने जाने पर ग्रिफ के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई।
- जगत सिंह बुदियाल,  बुदि प्रधान 
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00