विज्ञापन
विज्ञापन

'कला में लोगों के विवेक को प्रभावित करने की क्षमता है'

मिखाइल शोलोखोव Updated Wed, 12 Sep 2018 06:28 AM IST
Mikhail Sholokhov- Russian novelist and winner of 1965 Nobel Prize in Literature
ख़बर सुनें
हम इस पृथ्वी पर रहते हैं, हम इसके कानूनों के अधीन हैं। दुनिया की आबादी का एक विशाल वर्ग समान इच्छाओं से प्रेरित है, उनके हित साझा हैं, जो उन्हें जोड़ते हैं। कामकाजी लोग ही अपने हाथों और दिमागों से सब कुछ बनाते हैं। मैं उन लेखकों में से हूं, जो यह मानते हैं कि कामकाजी लोगों की सेवा के लिए अपनी कलम का उपयोग करने की हमें स्वतंत्रता है। हम जिस युग में जी रहे हैं, वह अनिश्चितताओं से भरा हुआ है।
विज्ञापन
विज्ञापन
कुछ ऐसी ताकतें हैं, जो पूरे राष्ट्र को युद्ध की भट्ठियों में झोंक देती हैं। ऐसे में एक लेखक या कलाकार का काम क्या है, जो खुद को ईश्वर के रूप में नहीं देखता है, बल्कि खुद को मानवता का एक छोटा सा अंश मानता है? उसका काम है अपने पाठकों के प्रति ईमानदार होना, लोगों को सच बताना, जो कभी-कभी अप्रिय हो सकता है, लेकिन हमेशा निडर होता है। उसका काम है, लोगों के हृदय को मजबूत बनाना, उसे अपना भविष्य निर्माण करने में सक्षम बनाना।

उसका काम है पूरी दुनिया में शांति का अग्रदूत बनना और अपने शब्दों से शांति प्रिय लोगों की नस्ल तैयार करना। इसके अलावा उसका काम लोगों को प्रगति के लिए एकजुट करना भी है। कला में लोगों के विवेक को प्रभावित करने की बड़ी क्षमता है। मेरा मानना है कि हर किसी को खुद को कलाकार कहने का हक है, अगर वह लोगों के मस्तिष्क को सुंदर बनाने में सक्षम बनाता है और अगर वह मानवता को लाभ पहुंचाता है। मैं चाहता हूं कि मेरी किताबें लोगों को बेहतर बनने में मदद करें, उनके मस्तिष्क को शुद्ध करें। मैं चाहता हूं कि मेरी किताबें लोगों में साथियों के प्रति प्यार और मानवता के आदर्शों के लिए लड़ने की इच्छा पैदा करें और मानवजाति का विकास करें।

-नोबेलजयी रूसी उपन्यासकार

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

कृषि क्षेत्र से ही पैदा होगा रोजगार

हमारे यहां के अर्थशास्त्री अब भी ग्रामीण क्षेत्रों से लोगों के शहरी इलाकों में जाने को अच्छा मानते हैं, जबकि चीन ने शहरों से गांव जाने को प्राथमिकता में रखा है। भारत में अकेले कृषि क्षेत्र अर्थव्यवस्था को पटरी पर ला सकता है।

18 अप्रैल 2019

विज्ञापन

क्या वाकई दाढ़ी वाले पुरुषों से कुत्ते होते हैं ज्यादा साफ

मर्दों की स्टाइल बुक में पिछले कई सालों में दाढ़ी का भी नाम जुड़ गया है। इस दाढ़ी की देखरेख के लिए मार्केट में कई तरह के उत्पाद भी आने लगे हैं। लेकिन जिस दाढ़ी को आप स्टाइल के नाम पर बढ़ाए ले रहे हैं वो दाढ़ी दरअसल बैक्टेरिया का घर है।

19 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election