विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
कुंडली से जानिए अपना भूत एवं भविष्यकाल,आज ही बनाएं फ्री जन्मकुंडली
Free Kundali

कुंडली से जानिए अपना भूत एवं भविष्यकाल,आज ही बनाएं फ्री जन्मकुंडली

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

हेड कांस्टेबल को सब इंस्पेक्टर ने पीट पीटकर किया गंभीर रूप से घायल

छत्तीसगढ़ में एक हेड कांस्टेबल को सब इंस्पेक्टर ने पीट पीटकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। पीड़ित हेड कांस्टेबल रामा शंकर सिंह ने कहा कि घटना राजनंदगांव की है। जहां उसे हथियार के मुद्दे पर पीट दिया गया। पीड़ित कांस्टेबल का कहना है कि वह सब इंस्पेक्टर के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।  

रामा शंकर ने कहा कि वह 15 तारीख को दफ्तर में काम कर रहे थे। इस दौरान सब इंस्पेक्टर ने हथियारों के बारे में पूछा। हेड कांस्टेबल ने उन्हें उनके विभाग में जाने को कहा। इस पर सब इंस्पेक्टर भड़क गया और उन्हें गालियां देनी शुरू कर दीं। इसके बाद उन्हें मरा गया जिसके कारण उनको गंभीर चोट भी आई। उनके सिर में 6 टांके आए हैं। 

पीड़ित रामा शंकर का कहना है कि वह सब इंस्पेक्टर को निलंबित कराना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।  




  ... और पढ़ें

छत्तीसगढ़ में दो नाबालिगों के साथ नौ लोगों ने 15 दिन तक किया गैंगरेप

राज्य के कोरिया जिले में नौ लोगों ने दो नाबालिगों को बंधक बना कर 15 से अधिक दिन तक उनके साथ गैंगरेप किया। पुलिस ने बताया कि 17 और 15 साल की इन दोनों लड़कियों को पुलिस ने पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश के बिजुरी रेलवे स्टेशन के पास सोमवार को खोज निकाला।

पीड़ित लड़कियां छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश की सीमा पर स्थित कोरिया के झगराखंड की रहने वाली हैं। कोरिया के एएसपी निवेदिता शर्मा ने बताया कि 4 मार्च को मुख्य अभियुक्त 20 वर्षीय अभिजीत पाल उर्फ पिंकू एक लड़की को शादी के नाम पर बहला कर ले गया था। 

लड़की के साथ उसकी एक सहेली भी थी। पिंकू दोनों लड़कियों को खोंगापानी गांव ले जाकर दोनों के साथ रेप किया। इसके बाद उसके बाकी दोस्तों ने दोनों लड़कियों के साथ 15 दिन से अधिक समय तक लेदुरी और बिजुरी गांव में रख कर गैंगरेप किया। 

शर्मा ने कहा कि नौ में से सात आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है जबकि दो की तलाश की जा रही है।
... और पढ़ें

विधायक ने दी धमकी, बेटे के साथ टीआई के घर की तोड़फोड़

बीते गुरूवार करीब 9:30 बजे भाजपा विधायक राजू सिंह क्षत्री और उनके पुत्र विक्रम उर्फ सोनू के साथ हुए विवाद के बाद तखतपुर थाने के टीआई वायएन शर्मा ने शिकायत दर्ज की। एसपी आरिफ शेख को लिखित में दी शिकायत में टीआई ने कहा कि गुरूवार को पुराने बस स्टैंड पर बिजेंद्र साहू, पंचराम और राजू देवांगन झगड़ा कर रहे थे। यह झगड़ा राजू देवांगन के पिता   अपने पिता समारू देवांगन के होटल में हो रहा था। होटल मालिक के मना करने पर उन्होंने उसके साथ मारपीट की। 

सूचना मिलने पर पुलिस दल घटनास्थल पर पहुंचा और दोनों को पकड़कर थाने ले आया। टाआई के मुताबिक विक्रम ने फोन कर कहा कि थाने में बैठे दोनों लड़के मेरे कार्यकर्ता हैं, उन्हें छोड़ दो। जिसके बाद टाआई ने ऐसा करने से इंकार कर दिया। कुछ समय बाद विधायक राजू सिंह ने कॉल किया व गालियां देते हुए मिलने को बुलाया। 

विधायक के ऐसा कहने के बाद टीआई ने उनसे कहा वे ढनढन गांव में पैट्रोलिंग पर हैं। इस पर विधायर भड़के और कहने लगे तुम्हें जिंदा नहीं छोड़ूंगा, मेरे पास लाइसेंसिंग हथियार है, लेकर आ रहा हूं, तुझे गोली मारूंगा। टीआई ने आगे कहा संपर्क ना होने पर विधायक राजू सिंह क्षत्रीय, उनके बेटा व आयुष ठाकुर, मनीष यादव, अमित सिंह ठाकुर मेरे घर आए और बाहर खड़ी गाड़ी को ईंट पत्थर से क्षती पहुंचाई।

जिसके बाद टीआई ने शिकायत दर्ज करा आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। शिकायत के बाद विवाद हढ़ गया जिसके बाद टीआई शर्मा को लाइनअटैच कर लिया गया। इस संबंध में तखतपुर के विधायक राजू सिंह क्षत्रीय से बात करने की कोशिश की गई लेकिन उनसे कोई संपर्क नहीं हुआ। वायन शर्मा के अनुसार एएसपी अर्चना झा इसकी जांच करेंगी।
... और पढ़ें

बच्चों के गैंग ने तिजोरी से छह लाख रुपये चुराए, पुलिस ने ऐसे सुलझाई गुत्थी

छत्तीसगढ़ के रायपुर में आजाद चौक इलाके में छह लाख रुपये की चोरी हुई है। पान एवं जनरल दुकान से हुई इस चोरी को बच्चों के एक गैंग ने अंजाम दिया है। पुलिस ने बच्चों का वारदात में साथ देने वाले युवक को भी गिरफ्तार कर लिया है। जहां से युवक को गिरफ्तार किया गया है, वहां से पुलिस ने साढ़े चार लाख रुपये बरामद किए हैं। 

सीएसपी नसर सिद्दीकी ने घटना की जानकारी देते हुए कहा कि मनीष अग्रवाल नामक व्यक्ति की पान मसाला और जनरल स्टोर की दुकान से 13 मई की रात चोरी हुई थी। जब नौकर अगले दिन काम पर पहुंचा तो उसने शटर टूटा हुआ पाया। जिसके बाद पुलिस को घटना की सूचना दी गई। पुलिस ने मामले की जांच की और संदिग्ध युवक झम्मन साहू उर्फ विशाल के अलावा चार बच्चों को भी पकड़ लिया।

सीएसपी ने बताया कि आरोपी बच्चों में से एक दुकान में कुछ सामान लेने गया था। उसी दौरान उसने वहां रखे गल्ले को देख लिया। जिसमें काफी पैसे थे। बच्चे ने इस बात की जानकारी झम्मन को दे दी। जिसके बाद वो चोरी करने के लिए मान गया। इन लोगों ने अन्य साथियों को भी जोड़ लिया और रात के वक्त चोरी की।

दो दिन पहले जेल से छूटा था

आरोपी झम्मन चोरी की घटना को अंजाम देने से दो दिन पहले ही जेल से छूटा था। वह चोरी के आरोप में ही जेल में था। जब पुलिस उसकी तलाश करते हुए उसके घर पहुंची को पता चला कि जेल से छूटने के बाद वह महज एक घंटे ही अपने घर में रुका था। 

यहां एसएसपी आरिफ एच शेख ने सभी थानों में इंटेलिजेंस सिस्टम बेहतर करने के लिए सिपाही से लेकर हवलदारों के लिए रूट चार्ट तय किया है। स्थानीय स्टाफ क्षेत्र में सक्रिय था, जिसके चलते बच्चों को भी पकड़ा जा सके। 



... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

पति छोड़ प्रेमी संग भागी पत्नी, हुआ कुछ ऐसा कोई स्वीकार करने को तैयार नहीं

इश्क में पागल एक महिला ने इश्क को परवान पर चढ़ाने के लिए पहले अपने पति को धोखा दिया और अपना घर छोड़ कर चली गई। मामला छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले का है। महिला प्रेम में इतनी पागल हुई कि उसने पति को छोड़ दिया लेकिन उसे उसके प्रेमी ने धोखा दिया। मामला करीब पांच महीने पुराना है। पुलिस ने बताया कि महिला की कई वर्ष पहले ही शादी हो चुकी है। लेकिन पति के काम पर निकलने के बाद वह अपने एक पड़ोसी के प्यार के चक्कर में पड़ गई। प्रेमी का नाम शिवदयाल यादव है उसने महिला को प्रेम जाल में फंसाकर उसे शादी का झांसा दिया। 

25 जून को शिवदयाल महिला को यह कहते हुए अपने साथ ले गया कि वह उससे शादी करेगा और  पत्नी का दर्जा देगा। यही नहीं आरोपी ने महिला को रायपुर नाका क्षेत्र में अपने एक जीजा के मकान में भी रखा। उससे शारीरिक संबंध भी बनाए। लेकिन बाद में वह महिला को छोड़ कर भाग गया। जब वह कई दिनों तक वापस नहीं लौटा तब उसने पुलिस का दरवाजा खटखटाया। 

महिला की शिकायत पर पद्नाभपुर पुलिस चौकी में दुष्कर्म के आरोप में शिवदयाल को गिरफ्तार कर लिया है। महिला के वापस लौटने पर उसे ससुराल वालों ने भी स्वीकार नहीं किया है और न ही परिवार वालों ने।  
... और पढ़ें

छत्तीसगढ़ का कुख्यात बदमाश वसूली देहरादून में गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ में वसूली के नाम से कुख्यात बदमाश को दून पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। बदमाश दो दिन पहले ही यहां दून में छुपने आया था। आरोप है कि वह लोगों को पहले मोटे ब्याज पर कर्जा देता था और फिर डरा धमकाकर वसूली करता था। आरोपी को ट्रांजिट रिमांड पर छत्तीसगढ़ पुलिस अपने साथ ले गई है। 

दून पुलिस के मुताबिक सोमवार को छत्तीसगढ़ की विलासपुर पुलिस ने वसूली के दून में मौजूद होने की सूचना दी थी। इस पर छत्तीसगढ़ के कुछ पुलिसकर्मी भी देहरादून पहुंचे, जिन्होंने दून पुलिस के साथ उसकी तलाश की। पता चला कि बदमाश कोतवाली क्षेत्र के एक होटल में ठहरा हुआ है। पुलिस ने होटल से वसूली को गिरफ्तार कर लिया।

वसूली का पूरा नाम बबला उर्फ अमित सिंह ठाकुर निवासी पारिजात एक्सटेंशन नेहरू नगर बिलासपुर है। पूछताछ में उसने बताया कि वह लोगों को मोटे ब्याज पर कर्ज देता है और बाद में डरा धमकाकर कर्ज वसूलता है। कर्ज वसूलने के लिए वह कई लोगों से मारपीट और जानलेवा हमले भी करा चुका है। उसके खिलाफ छत्तीसगढ़ कर्जा अधिनियम, जमीन की धोखाधड़ी समेत कई धाराओं में करीब सात मुकदमे दर्ज हैं।
... और पढ़ें

जबरन दिखाया दोस्त का गैंगरेप, 19 साल के लड़के ने की आत्महत्या

पिछले 12 दिनों से 19 साल के लड़के का परिवार और पुलिस आत्महत्या के पीछे के कारण को जानने की कोशिश कर रही थी। आखिरकार उसकी आत्महत्या के राज से पर्दा हट गया है। इसका खुलासा तब हुआ जब एक नाबालिग लड़की छत्तीसगढ़ के कोरबा स्थित पुलिस स्टेशन पहुंची और बताया कि लड़के ने आत्महत्या इसलिए की क्योंकि उसका सामूहिक दुष्कर्म हुआ था और उसे यह देखने पर मजबूर किया गया।

लड़की के बयान के आधार पर पुलिस ने संदिग्ध इश्वर दास और खेम कंवर को गिरफ्तार करके मामला दर्ज किया गया। कोटघोरा के एसडीओपी संदीप मित्तल को लड़की ने बताया, '1 सितंबर की शाम को लड़की बाजार से घर लौट रही थी और तभी उसे 19 साल का लड़का दिखा जो अलग दिशा में चल रहा था। चूंकि सड़क वीरान थी उसने लड़की को घर छोड़ने की पेशकश की। दास और कंवर बाइक से गुजर रहे थे। जब उन्होंने टीनेजर्स को देखा तो उन्हें बहुत बुरी तरह
टोका। फिर कपल को गाली और इसके बाद उनके मोबाइल छीनकर लड़के की पिटाई करनी शुरू कर दी।'

अधिकारी ने बताया, 'डरी हुई लड़की गांव की तरफ मदद के लिए भागी। दोनों ने उसका पीछा किया और उसे घसीटकर वहां लाए जहां लड़के के शरीर से खून निकल रहा था और वह बमुश्किल होश में था। इसके बाद दास और कंवर ने बारी-बारी से लड़की का बलात्कार किया। इस बीच वह लड़के को मारते रहे और उसे जबरन बलात्कार दिखाया गया। इसी वजह से उसने आत्महत्या कर ली।'


 
... और पढ़ें

बेटे को गिरफ्तार करवाने के लिए महीनों थाने के चक्कर लगाती रही मां

Gangrape
छत्तीसगढ़ के भिलाई में एक महिला अपने बेटे द्वारा किए जा रहे अपराधों से इतनी परेशान हो गई कि उसने खुद पुलिस से गुहार लगाई कि उसके बेटे को गिरफ्तार किया जाए। वह महीनों थाने के चक्कर लगाती रही लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई। आखिर में मजबूर होकर उसने एसएसपी के दफ्तर में मदद मांगी।

जब मामला उच्चाधिकारियों के संज्ञान में आया तब पुलिस ने आरोपी बेटे को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके (बेटे) के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

जानकारी के मुताबिक जामुल थाना क्षेत्र के अंतर्गत रहने वाली गीता दुबे का कहना है कि उनका बेटा सूरज कुमार गलत संगत में पड़ चुका है। वह चोरी जैसी वारदातों को भी अंजाम देता है। गीता ने आगे बताया कि जब वह इस बात कि शिकायत जामुल थाने के पुलिस अधिकारियों से करती है तो वह बेटे को नाबालिग बताकर पल्ला झाड़ लेते हैं। ऐसे में जब गीता की बात थाना पुलिस ने नहीं सुनी तो उसे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के दफ्तर जाना पड़ा।
... और पढ़ें

सड़क दुर्घटना में हुई युवक की मौत, पुलिस ने लात मार-मारकर शव को गाड़ी में डाला

छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले में एक पुलिस वाले ने बेहद अमानवीय हरकत की है। यहां एक शख्य की सड़क हादसे में मौत हो गई थी जिसके बाद पुलिस के सिपाही ने उसके शव को लात से मार-मारकर गाड़ी में डाला। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इसके बाद से ही पुलिस महकमे में खलबली मच गई।

पुलिस के मुताबिक नवागढ़ के नगधा गांव के रहने वाला सुनील कुर्रे (18) अपनी बहन के साथ मोटकसाइकिल से जिले के कन्या महाविद्यालय आया हुआ था। यहां से लौटते वक्त करीब दोपहर 2 बजकर 30 मिनट पर कवर्धा मार्ग पर पिकरी तालाब के पास एक ट्रक ने उसकी मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी।

जिसके बाद सुनील की बहन दूर जाकर गिर गई और वह ट्रक की चपेट में आ गया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। फिलहाल शव को पैर से लात मारने वाले सिपाही नीरज साहू को एसपी द्वारा सस्पेंड कर दिया गया है।
... और पढ़ें

ससुर के साथ झगड़ा करने पर युवक को पत्नी ने दी बड़ी सजा, अब गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

छत्तीसगढ़ के बिलापुर से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक युवक का अपने ससुर से झगड़ा हो गया जिसके बाद उसकी पत्नी ने उसे बहुत बड़ी सजा दी। जब वह सो रहा था तभी उसकी पत्नी ने उसके ऊपर उबलता हुआ पानी डाल दिया। इसके बाद वह बुरी तरह जल गया। उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया गया। पीड़ित और उसके परिवार के बयानों के अधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

बताया जा रहा है कि पीड़ित युवक मनोज सूर्यवंशी शहर के शिवघाट का रहने वाला है। सोमवार को उसका अपने ससुर के साथ किसी घरेलू बात पर झगड़ा हो गया था। उसका ससुर अपनी बेटी से मिलने के लिए वहां आया था। जब ससुर वहां से चला गया तो उसकी पत्नी ने कहा कि उसे उसके पिता से ऐसे बात नहीं करनी चाहिए थी।

इसके बाद दोनों पति पत्नी के बीच काफी झगड़ा हो गया। पत्नी बहुत गुस्से में थी। जब रात को मनोज सोने के लिए कमरे में गया तो वो रसोई की ओर चले गई। वह अपने साथ उबलता हुआ पानी लेकर कमरे में पहुंची। मनोज को इस बात की जरा भी भनक नहीं थी कि वो कुछ ऐसा करने वाली है।

उसकी पत्नी ने गुस्से में उसके ऊपर उबलता हुआ पानी डाल दिया। जिसके बाद वह काफी जल गया और चिल्लाने लगा। उसके चिल्लीने की आवाज सुनकर परिवार के अन्य सदस्य भी वहां आ गए और उसे नजदीकी अस्पताल लेकर गए। अभी पीड़ित की हालत गंभीर बनी हुई है। परिवार ने उसे अस्पताल में भर्ती कराने के बाद सरकंडा थाना क्षेत्र में शिकायत दर्ज करवाई।
... और पढ़ें

किशोरी से दुष्कर्म के आरोप में भाजपा नेता पर मामला दर्ज

छत्तीसगढ़ में भाजपा के एक स्थानीय नेता पर आदिवासी बहुल जशपुर जिले की एक किशोरी से दुष्कर्म करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है। 

पुलिस ने बताया कि 19 वर्षीय लड़की के माता-पिता ने सात अगस्त को कंसाबेल पुलिस स्टेशन में कंसाबेल जनपद पंचायत के 45 वर्षीय अध्यक्ष मोतीलाल भगत के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया था।

शिकायत में आरोप लगाया गया है कि आरोपी ने लड़की से 2016 में दुष्कर्म किया था, जब वह 12वीं कक्षा की छात्रा थी और कंसाबेल में एक किराए के घर में रह रही थी। 

यह भी शिकायत की गई है कि पहले से शादी शुदा होने के बाद भी भगत ने इस साल जनवरी में पीड़िता से शादी की लेकिन इस साल जून में उसे छोड़ दिया। इसके बाद लड़की के माता-पिता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। 
... और पढ़ें

संदिग्ध परिस्थितियों में 11वीं मंजिल से गिरी महिला की मौत, आरोपी इंजीनियर पति गिरफ्तार

पुणे में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को पत्नी के संदिग्ध परिस्थितियों में अपने अपार्टमेंट की 11वीं मंजिल से गिरने से मौत के बाद गिरफ्तार किया गया है। घटना शनिवार की है। मृत महिला के परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने इंजीनियर पति के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, महिला की शादी 17 साल पहले रायपुर के तारबाहर क्षेत्र के निरालानगर निवासी गिरीश पांडेय से हुई थी। मृत महिला का नाम मीनाक्षी पांडेय है जो 46 की थी। वह शादी से पहले मंडला निवासी थी। शादी के बाद 2011 के पहले तक पति-पत्नी बिलासपुर में ही रहते थे।  

ये भी पढ़ें- महाराष्ट्र से अश्लील वीडियो कॉलिंग कर मूक-बधिर युवतियों को कर रहा था परेशान, ऐसे आया गिरफ्त में 

वह वर्तमान समय में पुणे के मगरपट्टा इलाके में रह रहे थे। शनिवार को पत्नी मीनाक्षी की अपने फ्लैट की 11 वीं मंजिल से गिरने के कारण मौत हो गई। इस घटना के बाद मीनाक्षी के घरवालों ने मौत की संदिग्ध परिस्थितियों को देखते हुए पति गिरीश के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कराया। 

पुलिस ने मृतका के भाई की तहरीर पर गिरीश के खिलाफ भारतीय दण्ड संहिता (आईपीसी) की धारा 306 (आत्महत्या के लिये उकसाने), 504 (शांति भंग करने के लिए जानबूझकर किसी का अपमान करना) के तहत अपराध दर्ज किया है। इस मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी इंजीनियर अपनी पत्नी के साथ अक्सर मारपीट करता था।
... और पढ़ें

छत्तीसगढ़ : साध्वियों ने अपहरण कर गैंगरेप के लगाए आरोप, मामला दर्ज

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में कथित तौर पर चार लोगों ने दो साध्वियों का अपहरण कर सामूहिक गैंगरेप किया है। बताया जा रहा है कि ये घटना इसी साल 2 मार्च की है। लेकिन पुलिस को इस बारे में शुक्रवार को पता चला। जिसके बाद आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। 

बिलासपर के एसपी आरिफ शेख ने बताया कि साध्वियों की शिकायत पर पेंड्रा पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है। जिसमें उन्होंने चार लोगों को
रेप का दोषी बताया है। इन चार व्यक्तियों के नाम हैं दिलीपचंद पटेल, कल्पनाथ चौधरी, गिरिजाशंकर चौधरी और श्यामचंद चौधरी। 

दोनों साध्वियों की उम्र 24 साल के आसपास है। दर्ज शिकायत में साध्वियों ने बताया है कि वह 2 मार्च को वह साउथ बिहार एक्सप्रेस से चंपा रेलवे स्टेशन उतरी थीं। जिसके बाद उन्हें दिलीपचंद पटेल मिला जिसे वह पहले से जानती थीं। साध्वियों के मुताबिक दिलीपचंद ने उनसे कहा कि वह उन्हें अपनी गाड़ी से उनके आश्रम तक पहुंचा देगा। यह आश्रम जांजगीर-चांपा जिले के अमोदा हसौद गांव में है।

उन्होंने बताया कि जब वह गाड़ी में बैठीं तो उसके थोड़ी देर बाद ही पटेल ने गाड़ी कोरबा जिले की ओर मोड़ दी और कहने लगा कि उसे एक जन्मदिन पार्टी में जाना है। फिर बारापली में पटेल ने तीन और आदमियों को गाड़ी में बिठा लिया। जब उन्होंने इस बात का विरोध किया तो पटेल उन्हें बंदूक दिखाकर मारने की धमकी देने लगा और सोनाडी के एक सुनसान इलाके में ले जाकर चारों ने उनके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस का कहना है कि उन्होंने मामले की अधिक जानकारी लेने के लिए रविवार को दोनों पीड़िता को बुलाया था। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन