हाथों से बने मसालों का स्‍वाद चखना है तो पहुंचे यहां

ब्यूरो/अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Sat, 25 Jan 2014 11:59 AM IST
Food Fest in Park Plaza Hotel
अगर हाथ से तैयार किए गए मसालों से बने खाने का स्वाद चखना चाहते हैं तो पार्क प्लाजा एक बेहतर विकल्प हो सकता है। यहां आगामी 2 फरवरी तक दिल्ली के फेमस ‘पंजाबी खाना-काके दी हट्टी’ के  शेफ स्वीटी सिंह फूड फेस्ट लगाएंगे। यह फेस्ट हर शाम 8 बजे शुरू होगा।

स्वीटी सिंह बताते हैं कि उनके खाने की खासियत मसाले हैं, जिन्हें वे घर पर ही बनाते हैं। वे कभी भी मसाले डालने के लिए बरतन का इस्तेमाल नहीं करते, बल्कि अपने हाथों से ही मसाले डालतें हैं। इस फेस्टिवल में ‘चकुंदर का हलवा’ और ‘अनारी मुर्ग टिक्का’ भी खाएंगे जो स्वीटी सिंह की खास ‌डिश है।  

स्वीटी सिंह बताते हैं कि दिल्ली के असफ अली रोड में मेरे पापा पहले रेहड़ी पर खाना लगाते थे, फिर उन्होंने अपना ढाबा खोल लिया, उसके बाद मैंने मेहनत की और आज ‘काके दी हट्टी’ को हर कोई पहचानता है।

‘रोड्स अक्रोस इंडिया’ में शेफ गैरी के साथ अपना जलवा दिखा चुके स्वीटी सिंह ने अपने नाम के पीछे की कहानी बताई, मेरा असली नाम हरदेव सिंह है, एक बार हैदराबाद के एक होटल में जब खाना बनाने गया तो वहां के जीएम ने मेरे खाने से खुश होकर मुझे स्वीटी सिंह नाम दे दिया, तबसे ही यह मेरी पहचान बन गया। खाना बनाना मुझे बहुत पसंद है

इसलिए पूरा देश- विदेश घूम चुका हूं। जब भी विदेश जाता हूं तो विशेष ड्रेस पहनता हूं, जिसमें भारत का झंडा होता है, ऐसा इसलिए ताकी हर कोई पहचान सके की मैं एक भारतीय हू और आप मेरे वतन के  पकवान खा रहे हैं।

सचिन ने कहा, पाजी क्या खिलाओगे
एक बार आईपीएल के दौरान मैं बंगलुरू के होटल में था तो सचिन बैठे हुए थे, मेरा मन उनको मिलने का हुआ। मैनेजर ने मुझे सचिन से मिलाया, तो सचिन ने पुछा ‘पाजी क्या खिलाओगे’। मैंने सचिन को उस दिन टंगडी खिलाई जो उन्हें बेहद पसंद आई।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: चंडीगढ़ का ये चेहरा देख चौंक उठेंगे आप!

‘द ग्रीन सिटी ऑफ इंडिया’ के नाम से मशहूर चंडीगढ़ में आकर्षक और खूबसूरत जगहों की कोई कमी नहीं है। ये शहर आधुनिक भारत का पहला योजनाबद्ध शहर है। लेकिन इस शहर को खूबसूरत बनाये रखने वाले मजदूर कैसे रहते हैं यह देख आप हैरान हो जायेंगे।

22 जनवरी 2018