लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Bihar ›   ram rahim of bihar: baba arrested-for-sexual-harassment-of-girls-in-bihar

बिहार का राम रहीम: लड़कियों को साध्वी बना करता था दुष्कर्म, जानें क्या है पूरी कहानी

क्राइम डेस्क, अमर उजाला Published by: Nilesh Kumar Updated Thu, 31 Jan 2019 11:30 PM IST
बिहार का राम रहीम
बिहार का राम रहीम - फोटो : Amar Ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें
हरियाणा के गुरमीत राम रहीम के बाद बिहार में भी एक दुष्कर्मी बाबा का पर्दाफाश हुआ है। बिहार के सुपौल में धर्म के नाम पर अपना काला साम्राज्य चला रहा दुष्कर्मी बाबा लड़कियों को पहले साध्वी बनाता था और फिर उनका शिकार करता था। राम रहीम को कोर्ट से सजा मिलने के बाद बिहार के इस दुष्कर्मी बाबा की शिकार हुई दो बहनों को हिम्मत मिली और एक और राम रहीम सलाखों के पीछे जा पहुंचा। 


बाबा मनमोहन साहेब ने कबीर मठ की आड़ में तीन-तीन आश्रम संचालित कर रखा था। दुष्कर्म का शिकार हुई बहनों ने इस बाबा के बारे में सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखा है। यह पत्र लोगों के रोंगटे खड़ा कर दे रहा है। पत्र में बहनों ने लिखा है कि उनकी ही तरह सैकड़ों ऐसी लड़कियां हैं जो विश्व कबीर मंच के अंतर्राष्ट्रीय बाल ब्रह्मचारी बाबा संत मनमोहन साहेब के दुष्कर्म की शिकार हुई है। 

पंजाब और नेपाल में भी चलाता था आश्रम

पीड़िता बहनें मधुबनी जिले के फुलपरास थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली हैं। उसका पूरा परिवार पंजाब के लुधियाना शहर में रहता है। बाबा मनमोहन साहेब का परिचय उनके पिता से पहले हुआ था और वे दोनों उनके करनैल सिंह नगर स्थित आश्रम में आने-जाने लगी। पूरा परिवार बाबा का ऐसा भक्त था कि पीड़िता के घर का आधा हिस्सा सत्संग भवन के रूप में बदल दिया गया। 

बाबा से प्रभावित होकर दोनों बहनें साल 2009 में साध्वी बन गयीं और बाबा के साथ देश के विभिन्न हिस्से में प्रवचन के लिए बाबा के साथ जाने लगी। प्रवचन में दोनों बहनें भजन गाया करती थी। संत मनमोहन साहेब अपने पैतृक गांव सुपौल जिला के मरौना थाना क्षेत्र के पंचभिंडा के साथ-साथ मधुबनी जिला के फुलपरास, पंजाब के लुधियाना और नेपाल में भी आश्रम का संचालन करता था। 

पहले छोटी बहन को शिकार बनाया, फिर बड़ी बहन को

मनमोहन ने जुलाई 2010 में पहली बार पीड़िता की छोटी बहन के साथ दुष्कर्म किया था। उसके बाद संत मनमोहन लगातार यौन शोषण करता रहा। दुष्कर्म के बाद उसने वीडियो बनाया गया और खामोश रहने की धमकी दी। फरवरी 2016 को मरौना के पंचभिण्डा में विशाल सत्संग का आयोजन हुआ था। इसमें भाग लेने दोनों बहनें पूरे परिवार के साथ आश्रम पहुंची थी।

सत्संग खत्म होने के दो दिन बाद देर रात संत मनमोहन साहेब ने बड़ी बहन को अपने कमरे में पैर दबाने के बहाने बुलाया और फिर दुष्कर्म किया। बाबा ने चोरी-छिपे दुष्कर्म की वीडियो रिकॉर्डिंग कर ली और धमकाता रहा। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि दर्जनों लड़कियों को बाबा शिकार बना चुका है। 

बड़ी बहन को बाबा ने खुद अश्लील वीडियो दिखाकर बताया था कि दर्जनों लड़कियां हैं जो काफी बड़े घराने की है और पढ़ी लिखी हैं लेकिन किसी ने आजतक उसका विरोध नहीं किया है। उसका संबंध बड़े बदमाशों से है, इसलिए उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। 

 

राम-रहीम को सजा मिली, तो लिखी सीएम-पीएम को चिट्ठी

राम रहीम को कोर्ट से सजा की खबर के बाद पीड़ित बहनों को हौसला मिला। उन्होंने सोचा कि जब राम रहीम को सजा हो सकती है, तो इसे क्यों नहीं। बड़ी बहन ने छोटी बहन को आपबीती बताई तो छोटी बहन ने भी आठ साल से शिकार होने की बात कही। दोनों बहनों ने बाबा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। 

दोनों बहनों ने राष्ट्रपति, पीएमओ कार्यालय, सीएम नीतीश कुमार, मानवाधिकार आयोग, महिला आयोग समेत पुलिस पदाधिकारियों को पत्र लिखा। लिखा कि मैं और मेरी बहन का जीवन बर्बाद हो गया। वह लगातार लड़कियों का यौन शोषण कर रहा है।

बाबा को लगी भनक तो नेपाल भागने वाला था

बाबा मनमोहन को अपने खिलाफ संभावित कार्रवाइयों की भनक लग गई थी। सुपौल के एसपी द्वारा गठित एसटीएफ के अनुसार, मनमोहन नेपाल भागने वाला था। नेपाल सुपौल से काफी नजदीक है और वहां से विदेश भागना काफी आसान है। एसपी मृत्युंजय चौधरी ने बताया कि बाबा आश्रम से पासपोर्ट और अन्य जरूरी दस्तावेज लेकर निकल गया था। 

पुलिस को देखते ही वह तेजी से भागने लगा लेकिन पुलिस टीम ने खदेड़कर उसे दबोच लिया। एसपी मृत्युंजय चौधरी ने बताया कि मामले में चार्जशीट दायर कर स्पीडी ट्रायल चलाकर आरोपी बाबा को जेल से बाहर निकलने के पहले सजा दिलायी जायेगी।
 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00