विज्ञापन

सिर पर लाद कर ला रहे थे लाखों का कास्मेटिक

चंपावत Updated Thu, 14 Jun 2018 12:01 AM IST
बरामद सामान के साथ एसएसबी के जवान।
बरामद सामान के साथ एसएसबी के जवान। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
गढ़ीगोठ स्थित एसएसबी ए कंपनी के जवानों ने नेपाल से लाए जा रहे लाखों के कास्मेटिक  सामान को पकड़कर कस्टम के सुपुर्द कर दिया है। इस दौरान तस्कर भागने में सफल हो गए। पकड़े गए सामान की कीमत पंद्रह से बीस लाख रुपये आंकी जा रही है।  
विज्ञापन
बुधवार सुबह धनुषपुल स्थित एसएसबी 57 वीं वाहिनी की ए कंपनी के कमांडर एसआई मग सिंह के निर्देश एएसआई विरेंद्र सिंह, एचसी मुकेश कुमार, संजय सिंह, कां. रवि कुमार, चंदन सिंह भारत नेपाल सीमा पर पेट्रोलिंग कर रहे थे।

सुबह करीब छह बजे नाका पार्टी भारत नेपाल पिलर संख्या 802/1 के पास टीम को नेपाल की ओर से दो लोग सिर पर कुछ रखे आते दिखाई दिए। जवानों को देखकर तस्कर सामान छोड़कर फरार हो गए। टीम ने वहां से बरामद कास्मेटिक के 5272 नग खटीमा स्थित कस्टम विभाग के सुपुर्द कर दिया। कस्टम विभाग ने सामान जब्त कर लिया है। बरेली कस्टम द्वारा पकड़े गए सामान का मूल्यांकन किया जाएगा।
 
नेपाल जा रहे थे साधू, एसएसबी ने लौटाया
झूलाघाट(पिथौरागढ़)। पंजाब से आए दो साधु बुधवार को नेपाल जाने के लिए झूला पुल पर पहुंचे। पुल पर तैनात सहायक उपनिरीक्षक संग्राम सिंह ने साधुओं की आईडी की जांच की। इसके बाद दोनों को साधुओं को वापस लौटा दिया। एसएसबी की सूचना पर दोनों साधुओं के परिचय पत्र पुलिस ने भी चेक किए। एसएसबी के एसओ टीएस राणा ने बताया कि आसपास के गांवों के लोगों को ही परिचय पत्र के आधार पर मजदूरी या खरीददारी करने के लिए झूला पुल से आवाजाही की अनुमति दी जाती है। बाहरी प्रांत या अनजान लोगों को झूला पुल से नेपाल भेजने की अनुमति नहीं है।  

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Champawat

नवागत एसडीएम शिप्रा जोशी ने कार्यभार संभाला

नवागत एसडीएम शिप्रा जोशी ने कार्यभार संभाला

23 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: रक्षाबंधन पर देवीधुरा में आठ मिनट तक हुई बगवाल, 241 हुए चोटिल

चंपावत के देवीधुरा में रविवार को अनोखा नजारा देखने को मिला।  दरअसल देवीधुरा के बाराहीधाम स्थित खोलीखांण दुबाचौड़ा मैदान में हर साल रक्षाबंधन के दिन अनोखी परंपरा निभाई जाती है। इस परंपरा के मुताबिक रक्षाबंधन के दिन पत्थरों से बगवाल खेली जाती है।

26 अगस्त 2018

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree