बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

तीन साल लग गए पाक जासूस सतनाम को धरने में

अमर उजाला टीम डिजिटल/जयपुर  Updated Tue, 07 Mar 2017 11:47 AM IST
विज्ञापन
spy
spy - फोटो : demo pic
ख़बर सुनें
बाड़मेर जिले के सरहदी थाना क्षेत्र में गत दिनों पकड़े गए आईएसआई के जासूस सतनाम माहेश्वरी पर खुफिया एजेंसिया पिछले तीन साल से नजर रख रही थीं। तीन साल से सतनाम के फोन को इंटेलिजेंस ने सर्विलांस पर ले रखा था। इनको जासूसी की एवज में पैसे का भुगतान भी लम्बे समय से किया जा रहा था।
विज्ञापन


पूछताछ में खुलासा हुआ कि सतनाम माहेश्वरी ने वर्ष 2015 में अपने रिश्तेदार विनोद को भी भारत बुलवा लिया और उसे पाक इंटेलिजेंस एजेन्सी से जोड़ा। इसके बाद ये दोनों पाक इंटेलिजेंस को बाड़मेर, जोधपुर व पोकरण के मिलिस्ट्री डिपलायमेन्ट की सूचनाऐं दे रहे थे। पहली बार 2014 में चौहटन से इंटेलीजेंस एजेंसी के एक कार्मिक ने सतनाम की संदिग्ध गतिविधियों की रिपोर्ट मुख्यालय को भेजी थी। जिसके बाद से उच्च स्तर से एजेंसियां सतनाम की हरकतों पर नजर रख रही थी। पुख्ता सबूत मिलने के बाद कार्यवाही अमल में लाई गई।


सतराम ने पाक आईएसआई के निशानदेही पर अन्य लोगों को भी उनके लिए कार्य करने हेतु तैयार किया एवं इनको साथ लेकर पाक जाने की फिराक में था। लेकिन इसके पहले ही सतनाम पकड़ा गया। इंटेलिजेंस टीम उन लोगों के बारे में जानकारी जुटा रही है। मामले में अनुसंधान जारी है। बाड़मेर जिले में कोई दो दर्जन लोग एजेंसियों की नजर में हैं, जो पाक एजेंसी के लिए काम करते है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

जासूसों के पूरे नेटवर्क पर एजेंसियों की नजरें

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X