विज्ञापन

Chanakya Niti: बुरे समय में होती है इन तीन रिश्तों की परख

Shashi Shashi
धर्म डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Shashi Shashi
Updated Sat, 28 Nov 2020 04:41 PM IST
आचार्य चाणक्य
1 of 4
आचार्य चाणक्य कुशाग्र बुद्धि के धनी थे। उन्हें कई विषयों की गहरी समझ थी। उन्होंने तक्षशिला से शिक्षा ग्रहण की और वहीं पर आध्यापक भी हुए। चाणक्य एक कुशल राजनीतिक होने के साथ कुशल अर्थशास्त्री भी थे। चाणक्य के द्वारा नीतिशास्त्र में बताई गई बातें मनुष्य के जीवन के लिए अनमोल हैं। रिश्तों के बारे में चाणक्य कहते हैं कि अच्छे और बुरे रिश्तों की पहचान बुरे समय में ही होती है। चाणक्य कहते हैं कि बुरे समय में व्यक्ति को कभी भी अपना धैर्य नहीं खोना चाहिए। चाणक्य नें ऐसे तीन रिश्तों के बारे में बताया है जिनकी परख बुरे समय में होती है। जानते हैं कि वे तीन रिश्ते कौन से हैं।
अगली स्लाइड देखें
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स, परामनोविज्ञान समाचार, स्वास्थ्य संबंधी योग समाचार, सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X