फेफड़े के कैंसर का नया इलाज, अब नही होगी इससे मौत

Anuradha Goel Updated Mon, 01 Jun 2015 04:27 PM IST
Drug could double lung cancer patients' life expectancy
फेफड़े के कैंसर के कुछ मरीजों में नाइवोलूमैब नाम की दवाई से जिंदा रहने की संभावित उम्र दोगुना होती देखी गई है। नाइवोलूमैब शरीर के अंदर प्रतिरोधक क्षमता को कायम रखकर कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकती है।
शरीर की प्रतिरोधक क्षमता संक्रमण से शरीर का बचाव करती है लेकिन प्रतिरोधकता में खराबी आने के बाद शरीर के दूसरे भागों पर इसका बुरा असर होता है। कैंसर के मामले में ऐसा ही होता है। यह परिणाम 582 लोगों पर अध्ययन के बाद निकला है।

इस अध्ययन को अमरीकन सोसायटी ऑफ़ क्लिनिकल ऑन्कोलॉजी में प्रस्तुत करते हुए 'मरीजों के लिए वास्तविक उम्मीद' बताया गया है। हर साल फेफड़े के कैंसर से दुनिया भर में 16 लाख लोग मारे जाते हैं।

फेफड़े के कैंसर का इलाज मुश्किल होता है क्योंकि अक्सर इसका देर से पता चलता है और कई लोगों की सर्जरी भी संभव नहीं होती।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all update about cricket news, Entertainment news , fitness news, bollywood news in hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Related Videos

तांबे का बर्तन इन चीजों को बना देता है जहर

तांबे के बर्तन में रखा पानी अमृत समान माना जाता है। लेकिन यही तांबा और चीजों के साथ मिलकर खाने को जहर भी बना सकता है।

4 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen