खतरनाक हुआ कोरोना: नए लक्षणों से डॉक्टर भी हैरान, इन संकेतों को ना लें हल्के में

Tejasvee Mehta तेजस्वी मेहता
Updated Sat, 10 Apr 2021 11:22 PM IST

सार

कोरोना की दूसरी लहर में कई लक्षण ऐसे देखने में आ रहे हैं जिन्हें कि आम आदमी बेहद सामान्य मानता है और नजरअंदाज कर देता है। बेचैनी, पेट में दर्द, दस्त, कमजोरी यह सभी समस्याएं गर्मियों में किसी को भी हो सकती है, लेकिन अब अधिक सावधान रहने की आवश्यकता है क्योंकि यह समस्याएं कोरोना के नए लक्षणों में शामिल हो चुकी हैं। 
कोरोना के नए लक्षण
कोरोना के नए लक्षण - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

Medically reviewed by Dr. Dilip Singh Chawda

विज्ञापन


डॉ दिलीप सिंह चावड़ा, चेस्ट स्पेशलिस्ट

असिस्टेंट प्रोफेसर, एमजीएम मेडिकल कॉलेज एंड एमवाय ग्रुप

डिग्री- एम.बी.बी.एस, डी.टी.सी.डी, डी.एन.बी

अनुभव- 7 वर्ष
 
कोरोना की दूसरी लहर दस्तक दे रही है। इस बार प्रसार पिछली लहर के मुकाबले भी तेज है। देशभर में दिन-ब-दिन कोरोना के आंकड़ों में वृद्धि हो रही है। पहली लहर की तुलना में कोरोना बेहद ताकतवर बनकर सामने आया है और इस बार तो लक्षण भी बदल गए हैं। दरअसल, कोरोना की दूसरी लहर में सबसे ज्यादा लक्षणों ने ही डराया है। पिछली बार की तुलना में सबकुछ बदला है। सर्दी खांंसी, बदन दर्द तो पहले की ही तरह है लेकिन कुछ और चीजेें भी लक्षणों के तौर पर शामिल हुुुईं हैं, जिन्हें कोरोना के नए लक्षण माना जा रहा हैै।

चिकित्सकों के अनुसार पहले कुछ गिने-चुने लक्षणों से मरीज स्वयं पहचान पा रहे थे कि उन्हें कोरोना की संभावनाएं लग रही हैं लेकिन आज की तारीख में लक्षणों के आधार पर तय कर पाना कि कोरोना है या नहीं बहुत मुश्किल हो चुका है। आइए जानते हैं विशेषज्ञ से कोरोना की दूसरी लहर में सामने आने वाले नए लक्षण क्या हैं? किस तरह सेे आप इन्हें समझ सकतेे हैंं और समय रहतेे सावधान हो सकते हैं।    


जांच के बिना पता लगाना मुश्किल
चेस्ट स्पेशलिस्ट डॉ.दिलीप सिंह चावड़ा के मुताबिक पिछले एक साल से वे कोरोना के कई मरीजों को देख चुके हैं, लेकिन पूरे साल में जहां आंकड़ों में बदलाव होते रहे हैं, वहीं साथ ही कोरोना के लक्षण भी कभी स्थिर नहीं रहे हैं। जहां शुरुआत में जुकाम, बुखार, खांसी आदि लक्षणों के आधार पर मरीज को जांच कराने की सलाह दी जाती थी, वहीं आज कई सारे लक्षण हैं, जो मरीज के शरीर में लंबे समय तक हैं तो उसे जांच कराना ही पड़ रही है। जांच के बिना तो यह कह पाना कि किसी मरीज को कोरोना नहीं है, बहुत मुश्किल है। 

बिना लक्षणों वाले मरीजों की संख्या है अधिक
जब से कोरोना की दूसरी लहर आई है, बिना लक्षणों वाले मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। युवाओं में ऐसे मरीजों की संख्या अधिक है। यदि किसी घर के एक या दो सदस्यों में कोरोना के कोई लक्षण दिखाई देते हैं तो उस घर के स्वस्थ और युवा सदस्य अक्सर बिना किसी लक्षण के भी कोरोना पॉजिटिव आते हैं। हालांकि इन मरीजों में तरह-तरह के पोस्ट कोरोना लक्षण जरूर देखे जा रहे हैं। 

यह लक्षण है दूसरी लहर में सामान्य
कोरोना की दूसरी लहर में कुछ नए लक्षण ऐसे देखने में आ रहे हैं,जो पहले भी लोगों में दिख तो रहे थे, लेकिन असामान्य थे। अब ये लक्षण बेहद सामान्य हो चुके हैं। 

पेट दर्द या बेचैनी
गर्मियों के मौसम में बेचैनी, घबराहट आदि को बहुत सामान्य माना जाता है और लोग इसे नजरअंदाज कर देते हैं लेकिन कई सारे मरीज पिछले दिनों ऐसे भी देखने में आए हैं जो इन लक्षणों की शिकायत के बाद कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

पेट दर्द और दस्त के लक्षण भी कई मरीजों में देखे जा रहे हैं। ऐसे में किसी भी मरीज को यदि दो या तीन दिन से अधिक यह समस्या रहती है तो उसे हल्के में नहीं लेना चाहिए। 

मांसपेशियों में दर्द एवं कमजोरी
कमजोरी भी कोरोना के लक्षणों में शामिल है। कई सारे मरीज बताते हैं कि उन्हें ऐसा महसूस होता है कि वे आलस्य का शिकार हो चुके हैं। उनके शरीर में ऊर्जा ही नहीं है। यदि वे एक जगह बैठे हैं तो वहां से एक से दो घंटे तक उठ नहीं पाते हैं। ज्यादा दूर चलने पर थकान महसूस कर रहे हैं। मासंपेशियों में दर्द बना हुआ है। ऐसे मरीजों को भी तुरंत कोरोना की जांच करवाने का परामर्श दिया जा रहा है। 

भूख न लगना और मानसिक सेहत पर असर
जहां पहले कोरोना के पोस्ट लक्षणों में यह देखा जा रहा था कि मानसिक रूप से मरीज खुद को अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं। अब यह पोस्ट लक्षण मुख्य लक्षणों के श्रेणी में आ चुका है। मरीजों के व्यवहार में भी चिड़चिड़ापन देखा जा रहा है। कोरोना वायरस शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से मरीज को कमजोर कर रहा है। अचानक से स्वस्थ व्यक्ति की भूख में कमी आ जाना भी कोरोना के नए लक्षणों में से एक है। 

नया वेरिएंट है अधिक खतरनाक
कोरोना का नया वेरिएंट बहुत खतरनाक है इसलिए यह न सिर्फ श्वसन प्रणाली पर हमला कर रहा है बल्कि अलग-अलग मरीजों पर तरह-तरह से प्रभावित कर रहा है। यही वजह है कि खांसी, सर्दी, श्वास संबंधी लक्षणों के अलावा भी कई लक्षण लोगों में नजर आ रहे हैं। ऐसे में किसी भी लक्षण को हल्के में नहीं लिया जा सकता है। कई मरीज तो स्वस्थ होने में सामान्य की तुलना में बहुत अधिक समय ले रहे हैं। ऐसे मरीज जिन्हें कोरोना के साथ निमोनिया भी हो रहा है, उन्हें ठीक होने में काफी लंबा समय लग रहा है। 

विटामिन-सी का सेवन है बहुत आवश्यक
कोरोना विशेषज्ञ का कहना है कि हम सभी जानते हैं कि शुरुआत से ही इस वायरस से बचना इसलिए मुश्किल हो रहा है क्योंकि यह दिखाई नहीं देता है। ऐसे में यदि आप मास्क, सैनेटाइजर को लेकर थोड़े भी लापरवाह हुए कि इसकी गिरफ्त में चले जाते हैंं इसलिए जरूरी है कि रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करें। गर्मियों में संतरे आसानी से उपलब्ध होते हैं, उनका सेवन करें। काढ़े की आदत को खत्म न करें, कोरोना से लड़ने के लिए उसे जारी रखना आवश्यक है। 

अस्वीकरण- अमर उजाला की हेल्थ एवं फिटनेस कैटेगरी में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को अमर उजाला के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। अमर उजाला लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित अस्वीकरण- बीमारी के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

नोट- यह लेख एमजीएम मेडिकल कॉलेज एंड एमवाय ग्रुप के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर दिलीप सिंह चावड़ा से बातचीत के आधार पर तैयार किया गया है। डॉक्टर दिलीप सिंह चावड़ा पिछले सात सालों से प्रैक्टिस कर रहे हैं। उन्होंने अपनी डिग्री एमजीएम मेडिकल कॉलेज, इंदौर से ली है।

 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें  लाइफ़ स्टाइल से संबंधित समाचार (Lifestyle News in Hindi), लाइफ़स्टाइल जगत (Lifestyle section) की अन्य खबरें जैसे हेल्थ एंड फिटनेस न्यूज़ (Health  and fitness news), लाइव फैशन न्यूज़, (live fashion news) लेटेस्ट फूड न्यूज़ इन हिंदी, (latest food news) रिलेशनशिप न्यूज़ (relationship news in Hindi) और यात्रा (travel news in Hindi)  आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़ (Hindi News)।  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00