बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन
विज्ञापन
इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान
Myjyotish

इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर बप्पा के घर में आगमन से होंगी ये राशियां धनवान

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Digital Edition

चक्रवात अम्फान से कई जगह तबाही, कोलकाता के होटल जेडब्ल्यू मैरियट में भी भारी नुकसान

सोरेन की आपत्ति के बाद ट्रकों से उतारकर एसी एंबुलेंस से भेजे गए औरैया हादसे के शिकार हुए मजदूरों के शव

औरैया हादसे में मृत मजदूरों के शवों के साथ घायलों को भी ट्रकों के जरिए झारखंड व पश्चिम बंगाल के लिए रवाना कर दिया गया। इसकी जानकारी होने पर झारखंड सीएम हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर इसे अमानवीय बताया। जिसके बाद नवाबगंज में ट्रक से उतारकर शवों व घायल मजदूरों को एसी एंबुलेंस से आगे के भेजा गया।

16 मई को प्रदेश के औरैया में हुए भीषण सड़क हादसे में घरों को लौट रहे 26 मजदूरों की मौत हो गई थी। इनमें से 11 झारखंड व 6 पश्चिम बंगाल के रहने वाले थे। हादसे के अगले दिन यानी 17 मई को पोस्टमार्टम के बाद सभी 17 मजदूरों के शव ट्रकों से रवाना कर दिए गए। संवेदनहीनता दिखाते हुए जिम्मेदार अफसरों ने शवों को भेजवाने के लिए उचित इंतजाम तो नहीं ही किए, हादसे में घायल कुछ मजदूरों को भी इन्हीं शवों के साथ ट्रकों में बैठा दिया।
... और पढ़ें

कोरोना संकट के बीच त्रिपुरावासियों पर ओलावृष्टि की मार, पांच हजार घरों को नुकसान

त्रिपुरा में बुधवार को जमकर ओलावृष्टि हुई। तेज आंधी के साथ ओलावृष्टि और मूसलाधार बारिश ने राज्य में जमकर कहर बरपाया। वहीं प्राकृतिक आपदा से 5000 से ज्यादा घरों को नुकसान पहुंचा है। राज्य के मुख्यमंत्री ने गुरुवार को प्रभावित इलाकों का दौरा किया।

कोरोना के चलते लॉकडाउन की मार से जूझ रहे त्रिपुरावासियों पर बुधवार बेहद भारी पड़ा। पूरे राज्य में ओलावृष्टि और भारी बारिश से घरों के साथ पेड़-पौधों को काफी नुकसान पहुंचा है। प्रशासन निचले स्तर पर नुकसान के वास्तिवक आंकलन में जुटा है। साथ ही कई इलाकों में तत्काल राहत के लिए जनता को चेक भी वितरित किए।

मुख्यमंत्री ने बुधवार रात को ही सूबे के मुख्य सचिव मनोज कुमार को प्रभावित क्षेत्रों में बचाव एवं राहत कार्य तेज गति से करने के निर्देश दे दिए थे। वहीं मुख्यमंत्री प्रभावित जिलों के डीएम से भी सीधे बातचीत कर हालात की जानकारी ली।

राज्य के सिपाहीजला और खोवाई जिले में ओलावृष्टि, आंधी और मूसलाधार बारिश से ज्यादा नुकसान हुआ है। जिला प्रशासन के अनुसार सिपाहीजला जिला में विभिन्न स्थानों पर 17 राहत कैंप बनाए गए हैं। जिनमें 4200 लोगों को रखा गया है।



प्रशासन की ओर से इन केंद्रों में स्वास्थ्य व अन्य मूलभूत सुविधाओं के साथ लोगों को निःशुल्क भोजन प्रदान किया जा रहा है। वहीं खोवाई जिले में अलग-अलग जगहों पर 5 राहत कैंप लगाए गए हैं। मुख्यमंत्री ट्वीट कर बताया कि बुधवार को आई प्राकृतिक आपदा से राज्य को कई करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

मुख्यमंत्री ने राज्यवासियों से अपील की है कि आपदा से कोरोना की लड़ाई पर आंच नहीं आने देंगे। राज्य आपदा के प्रभाव और कोरोना की लड़ाई दोनों से ही मुकाबला करेगा।
... और पढ़ें

कोलकाता में 'खेला होबे', फुटबॉल खेलती दिखीं ममता बनर्जी

ममता ममता

विज्ञान: टूटे हुए उपकरण अब खुद कर लेंगे अपनी मरम्मत, वैज्ञानिकों ने बनाया खास कार्बनिक पदार्थ

आपको शायद हमारी बात पर यकीन नहीं हो रहा होगा। लेकिन यह कहानी सच होने वाली है।  भारतीय विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (आईआईएसईआर) कोलकाता तथा आईआईटी खड़गपुर के बनाए गए एक पदार्थ से बनी कोई भी चीज जैसे मोबाइल या कोई और वस्तु गिर कर टूटे तो वह अपने आप ठीक हो जाएगी। यहां के विशेषज्ञों ने ऐसे पदार्थ का अविष्कार किया है जो पलक झपकते ही अपने अंदर हुई टूट की खुद ही मरम्मत लेगा।  अमेरिका स्थित प्रतिष्ठित विज्ञान (एएएएस) जर्नल में यह शोध प्रकाशित हुआ है। इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के स्वत: मरम्मत से लेकर ऑप्टिकल उद्योग में इस नए पदार्थ के कई अनुप्रयोग हो सकते हैं।

नए और पुराने पदार्थ में क्या है अंतर
शोधकर्ताओं ने कहा कि पहले जो अपने आप ठीक होने वाली सामग्री विकसित की गई थीं उनका इस्तेमाल एरोस्पेस, अभियांत्रिकी और स्वचालन में किया जाता है। नए पदार्थ और पहले से इस्तेमाल किए जा रहे में अंतर यह है कि उन्होंने अब ठोस पदार्थ के एक नए वर्ग को संश्लेषित किया है जो उनके दावे के मुताबिक अन्य प्रतिस्पर्धी सामग्री की तुलना में 10 गुना सख्त है। पूर्व में विकसित सामग्री इसके विपरीत नरम और अनाकार (बिना किसी स्पष्ट परिभाषित आकार के) थी और उसे खुद की मरम्मत करने में प्रकाश, उष्मा या एक रसायन की आवश्यकता होती है। हालांकि नया पदार्थ सख्त है और अपने विद्युत आवेशों का इस्तेमाल स्वत:उपचार के लिये करता है।

इतनी सटीकता से खुद की मरम्मत करता है कि पहले और बाद में अंतर मुश्किल
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर के प्रोफेसर भानू भूषण खातुआ ने सोमवार को बताया, “मरम्मत के दौरान, खंडित टुकड़े त्वरण के साथ मधुमक्खी के पंख जैसी गति के साथ बढ़ते हैं। भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा 2015 में प्रतिष्ठित स्वर्ण जयंती फैलोशिप प्राप्त कर चुके प्रोफेसर सी मल्ला रेड्डी और उनके दल ने आईआईएसईआर कोलकाता में ठोस पदार्थ की नई श्रेणी का संश्लेषण किया। वैज्ञानिकों ने कहा कि अध्यधिक क्रिस्टलीय सामग्री जब खंडित हो जाती है तो पलक झपकते ही स्वयं को आगे बढ़ा सकती है और फिर से जुड़ सकती है तथा खुद की इतनी सटीकता के साथ मरम्मत कर सकती है कि अखंडित सामग्री और उसमें भेद करना मुमकिन नहीं होता।
... और पढ़ें

अमित शाह का हेलिकॉप्टर हुआ खराब तो ममता बनर्जी की चोट पर कसा तंज

नंदीग्राम

ममता बनर्जी को नंदीग्राम में लगी चोट पर चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

पश्चिम बंगाल में सरकार का बदलाव 'अपरिहार्य', रथयात्रा से तेज होगी प्रक्रिया: हर्षवर्धन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने शनिवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि पश्चिम बंगाल में सरकार का बदलाव “अपरिहार्य” है और राज्य में भाजपा की रथ यात्रा निकाले जाने से यह प्रक्रिया और भी मजबूत होगी। इस दौरान उन्होंने किसी का नाम लिए बिना कहा कि राज्य के लोग भाई-भतीजावाद, बढ़ते भ्रष्टाचार और तुष्टिकरण से पीड़ित हैं। उन्होंने आगे कहा, मुझे बीते एक साल से विभिन्न स्रोतों से जो जानकारी मिल रही है, उसके अनुसार तो यही कहा जा रहा है कि पश्चिम बंगाल में बदलाव अपरिहार्य है और राज्य में भाजपा की रथ यात्रा से इस प्रक्रिया को मजबूती मिल सकती है।

ममता बनर्जी के भतीजे पर साधा निशाना
बता दें, भाजपा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी पर कई घोटालों में शामिल होने का आरोप लगाती रही है और इसी कारण उन पर तंज भी कसती रही है। पार्टी इन दिनों ममता बनर्जी पर जिन मुद्दों को लेकर प्रहार कर रही है, उनमें भ्रष्टाचार और परिवारवाद सबसे बड़े मुद्दे हैं। इसी कड़ी में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अब इस राज्य में और कुछ नहीं सिर्फ भ्रष्टाचार, तुष्टिकरण और भाई-भतीजावाद है। उन्होंने कहा कि यह बात आम लोग कह रहे हैं, जिनका भाजपा के साथ किसी तरह का जुड़ाव नहीं है।

147 का है जादुई आंकड़ा
उल्लेखनीय है कि अप्रैल-मई में पश्चिम बंगाल की 294 सदस्यों वाली विधानसभा के लिए चुनाव होने हैं। यहां पर 147 का मैजिक फिगर या जादुई आंकड़ा है यानी इतनी सीटें हासिल करने वाला सरकार बना लेगा। वहीं, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दावा किया है कि उनकी पार्टी को 200 से अधिक सीटें मिलेंगी। ऐसे में भाजपा और तृणमूल दोनों ही पार्टियों के बीच अभी से चुनावी जंग शुरू हो गई है। दोनों ही पार्टियों के नेता आए दिन एक-दूसरे पर निशाना साधते हैं।

... और पढ़ें

बलिया के भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह के विवादित बोल, कहा- ममता बनर्जी के डीएनए में दोष

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बारे में विवादित बयान देते हुए उन्हें इस्लाम का पोषक बताया। कहा कि इस्लाम को मानने वाले लोग तो भगवान राम का विरोध करेंगे ही। दावा किया कि बंगाल के मुख्यमंत्री  ममता बनर्जी के डीएनए में दोष है। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब तक के सबसे बेहतर प्रधानमंत्री हैं।

अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले जिले के बैरिया क्षेत्र के भाजपा विधायक सिंह ने आज अपने निवास पर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा। दरअसल, कोलकाता में शनिवार को नेता जी सुभाषचंद्र बोस की 125वीं  जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में जय श्री राम का नारा लगाने के बाद ममता बनर्जी नाराज हो गईं थी।

इसको लेकर भाजपा विधायक ने तीखा हमला बोलते हुए कहा कि वह राक्षसी संस्कृति की हैं। सवाल किया कि बेईमान व शैतान भगवान राम से घृणा नही करेगा तो क्या प्रेम करेगा।शैतान व्यक्ति भगवान राम से प्रेम नहीं कर सकता। ममता बनर्जी बेईमान व शैतान हैं इसलिए उनका भगवान राम से घृणा करना स्वाभाविक है। पश्चिम बंगाल में ममता के दल के लोग जिस तरह से खून खराबा व हत्या करते हैं, उनका कृत्य उनके शैतान होने का ही प्रमाण है। 

मोदी को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से भी बेहतर बताते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी सबसे बेहतर प्रधानमंत्री साबित हुए हैं । मोदी जी ने देशहित के साथ ही किसानों व नौजवानों के हित में शानदार कार्य किया है । गौरतलब है कि भाजपा विधायक  आए दिन विपक्षी दलों के नेताओं पर जमकर निशाना साधते हैं।  
... और पढ़ें

पश्चिम बंगाल में ममता के गुंडागर्दी का जवाब बैलेट से देकर उखाड़ फेंकेगी जनता : अश्विनी कुमार चौबे

पश्चिम बंगाल में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के ऊपर हुए  हमले पर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि ममता बनर्जी और टीएमसी के गुंडों की ‘विनाश काले विपरीत बुद्धि’ को दर्शाती है। बंगाल जैसी राष्ट्रवाद, सांस्कृतिक उत्थान, समाज सुधार, बौद्धिकतावाद और विकासशील धरती पर इस तरीके का गुंडई व अराजकता को बंगाल की जनता ही स्वीकार नहीं करेगी।

वामपंथियों के गुंडागर्दी के खिलाफ लोगों की सहानुभूति लेकर बंगाल की सत्ता में आई ममता बनर्जी आज वामपंथियों के गुंडागर्दी और तथाकथित धर्म निरपेक्षता को अपनाकर भारतीय लोकतंत्र के टुकड़े टुकड़े करना चाहती हैं। इसका जवाब बंगाल की जनता विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को देगी। उन्होंने कहा कि जिस पत्थर का उपयोग वह अपने कार्यकर्ताओं से करवा रही हैं जनता उसका जवाब बैलेट से देगी और ममता सरकार को उखाड़ कर बंगाल की खाड़ी में फेंकेगी।  

किसान को बरगला रही हैं विपक्षी पार्टियां 
चौबे ने कहा कि किसान आंदोलन के नाम पर विपक्षी पार्टियां किसानों को बरगलाने का काम कर रही है। मोदी सरकार और भारतीय जनता पार्टी किसानों का सबसे बड़ा हमदर्द है और वह किसानों के दर्द को जानती है। सरकार ने इस मामले पर पहले ही कह दिया है कि वह हर बातचीत के लिए तैयार है।

किसानों के हित में कोई भी कदम उठाने को तैयार है। मोदी सरकार ने ही एमएसपी को डेढ़ गुना बढ़ाया और इस साल की खरीद भी डेढ़ गुना ज्यादा हुई है। लेकिन वामपंथी और देश विरोधी ताकते इस मामले में जानबूझकर राजनीति कर रही है जिसको बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। 

बिहार में वैक्सीन लगाने की पूरी तैयारी  
कोरोना वैक्सीन की तैयारियों के संबंध में  चौबे ने कहा कि बिहार में इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। केंद्र सरकार और बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय जिला प्रशासन के माध्यम से इस दिशा में पर्याप्त काम कर रहा है। कोरोना वैक्सीन लोगों को देने के लिए पोलिंग बूथ की तरह तैयारी की जा रही है। राज्य सरकार की जो जो मांग है उसको पूरा करने के लिए केंद्र सरकार प्रयत्नशील है। एक बूथ पर लगभग 100 लोगों को यह वैक्सीन दी जाएगी। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us