रामबन फायरिंग केस: BSF ने गलती मानी

अमर उजाला, जम्मू Updated Thu, 23 Jan 2014 12:19 PM IST
BSF admits lapses by its men in Ramban firing incident
जुलाई 2013 में रामबन में बीएसएफ फायरिंग में चार लोगों की मौत होने के मामले में बीएसएफ ने अपनी गलती मान ली है। छह जवान एवं अफसर दोषी पाए गए हैं। जल्द ही इनके खिलाफ कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू होगी।

बीएसएफ के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक हाल ही में बीएसएफ ने इस मामले की जांच बीएसएफ एक्ट के तहत करने के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार से यह मामला अपने पास ले लिया गया था।

बताया जा रहा है कि इस मामले में की गई स्टाफ आफ इंक्वायरी जोकि हाल ही में पूरी हुई है, उसमें कुछ अधिकारियों की प्रशासनिक गलतियां पाईं गई हैं। बीते वर्ष जुलाई में बीएसएफ के जवानों ने कंपनी बेस के पास रामबन में भीड़ पर फायरिंग कर दी थी।

इसमें चार लोगों की मौत हो गई थी। जबकि भीड़ के  उग्र होकर पथराव करने और उसके जवाबी फायरिंग में 44 लोग घायल हो गए थे। बीएसएफ की ओर से पहले इस मामले में अपनी गलती न मानते हुए आत्मरक्षा में फायरिंग किए जाने की बात कही गई थी।

बीएसएफ का मानना था कि दलवाह निवासी मोहम्मद लतीफ ने लोगों को उकसाया था जिसके परिणामस्वरूप भीड़ उग्र हो गई थी और लोगों ने बीएसएफ कैंप पर पथराव कर दिया था। इसके जवाब में आत्म रक्षा में बीएसएफ की ओर से फायरिंग की गई थी।

साथ ही कहा गया था कि बीएसएफ की ओर से हालात बिगड़ने पर स्थानीय पुलिस को भी सूचना दे दी थी और परिस्थितियां काबू से बाहर होने के बाद ही फायरिंग की गई थी।

उल्लेखनीय है कि घटना की निंदा करते हुए मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि इस तरह की घटनाओं से रियासत की शांति प्रक्रिया को काफी नुकसान पहुंचता है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ताबड़तोड़ डकैतियों से हिली सरकार, प्रमुख सचिव ने अधिकारियों को किया तलब

राजधानी में एक हफ्ते के अंदर हुई ताबड़तोड़ डकैती की वारदातों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

यहां पुलिस चालान काटने के बदले उठाया ये कदम, देखते रह गए लोग

उधमपुर में बिना हेलमेट के वाहन चलाने वालों के खिलाफ पुलिस की तरफ से विशेष तौर पर एक अभियान छेड़ा गया। इस बार अभियान में पुलिस ने चालान काटने के बजाए वाहन चालकों को निशुल्क हैलमेट देकर हमेशा हेलमेट पहनकर वाहन चलाने के लिए प्रेरित किया।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper