विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Purchase below MSP should be illegal, says Swadeshi Jagran Manch

स्वदेशी जागरण मंच ने किसानों की आवाज की बुलंद, कहा- 'एमएसपी से नीचे खरीद को अवैध बनाए सरकार'

एजेंसी, नई दिल्ली। Published by: Jeet Kumar Updated Mon, 14 Dec 2020 06:15 AM IST
स्वदेशी जागरण मंच
स्वदेशी जागरण मंच - फोटो : Twitter
ख़बर सुनें

नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों की तरफ से चल रहे आंदोलन के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़े स्वदेशी जागरण मंच ने भी सरकार को कई संशोधन करने सुझाव दिए हैं। मंच ने



रविवार को कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से नीचे के मूल्य पर फसल खरीदने को गैरकानूनी घोषित किया जाना चाहिए। हालांकि मंच ने यह भी कहा कि कानून लाने के पीछे सरकार की कोई गलत मंशा नहीं है। 



संगठन की तरफ से पारित घोषणापत्र में कहा गया कि किसानों को एमएसपी की गारंटी मिलनी चाहिए और इससे नीचे के मूल्य पर फसल खरीदे जाने को गैरकानूनी घोषित किया जाना चाहिए। सरकार के लिए ही नहीं बल्कि निजी कंपनियां के भी एमएसपी से नीचे के मूल्य पर फसल खरीदने पर रोक लगानी चाहिए।  

संगठन के समन्वयक अश्विनी महाजन ने कहा, मंडी शुल्क की अनुपस्थिति के कारण खरीदार खुद ही एपीएमसी बाजार से बाहर खरीदारी करने के लिए प्रेरित होंगे। ऐसे में किसानों को भी अपनी उपज एपीएमसी बाजारों से बाहर बेचने के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

उन्होंने कहा, स्वदेशी जागरण मंच को लगता है कि ऐसे हालात में बड़ी खरीद कंपनियां किसानों का  शोषण कर सकती हैं। ऐसे में यह उचित होगा कि एपीएमसी बाजारों से बाहर खरीदारी करने की स्थिति में किसानों को एमएसपी का मूल्य मिले और इससे नीचे के मूल्य पर की गई खरीद अवैध घोषित हो।

संगठन ने प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) से जुड़े नियमों में भी संशोधन की सलाह दी ताकि देश में सीधे या बैकडोर से बहुराष्ट्रीय कंपनियों के मल्टीब्रांड रिटेल व्यापार में प्रवेश को प्रतिबंधित किया सके। 

 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00