लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   Punjab ›   opposition slams Punjab government decision to appoint AAP leader Raghav Chadha as the chairman of the advisory committee

विपक्ष का राघव चड्ढा पर निशाना: आम आदमी पार्टी से पूछा- क्या प्रदेश की समस्याओं को समझने वाले लोग पंजाब में नहीं?

डिजिटल ब्यूरो, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Harendra Chaudhary Updated Tue, 12 Jul 2022 02:23 PM IST
सार

भाजपा का आरोप है कि राघव चड्ढा आम आदमी पार्टी के विभिन्न पदों पर काम कर चुके हैं, वे पार्टी के विस्तार के लिए काम करते रहे हैं। अब वे इस पद पर बैठकर ऐसे फैसले लेंगे, और पंजाब के अधिकारियों से लागू करवाएंगे, जिससे आम आदमी पार्टी का विस्तार होगा, लेकिन इसमें पंजाब का नुकसान होगा...

आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्ढा
आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्ढा - फोटो : Agency (File Photo)
ख़बर सुनें

विस्तार

पंजाब सरकार ने आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्ढा को सलाहकार कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त कर दिया है। यह कमेटी पंजाब की समस्याओं पर लोगों से बातचीत करेगी और इन समस्याओं के निराकरण के लिए सरकार को आवश्यक परामर्श देगी। इसके साथ ही पंजाब की भगवंत मान सरकार पर विपक्ष ने हमला बोल दिया है। विपक्ष ने आरोप लगाया है कि यह पंजाब को दिल्ली के इशारों पर चलाने की ‘साजिश’ है। अब पंजाब के हर फैसले दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के इशारे पर लिए जाएंगे और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान केवल सजावटी मुख्यमंत्री साबित होंगे। मुख्यमंत्री की शादी के बाद उन पर यह पहला राजनीतिक हमला हुआ है।  






राघव चड्ढा मूलरूप से दिल्ली से हैं। वे दिल्ली के राजेंद्र नगर से पूर्व विधायक रहे हैं और आम आदमी पार्टी में विभिन्न पदों पर काम कर चुके हैं। उनकी इस पहचान के सहारे भाजपा उन्हें गैर-पंजाबी बताकर इस नियुक्ति को पंजाब और पंजाबियत का अपमान बता रही है। पार्टी ने कहा है कि पंजाब में बहुत योग्य और राजनीतिक-प्रशासनिक रूप से बहुत परिपक्व लोग मौजूद हैं। लेकिन पंजाब की समस्याओं पर पंजाब के बाहर के व्यक्ति को बिठाना सांकेतिक रूप से यही दिखाता है कि पंजाब के लोग अपने राज्य का प्रशासन चलाने में सक्षम नहीं हैं। विपक्ष का आरोप है कि जो व्यक्ति पंजाब का नहीं है, वह पंजाब को नहीं समझता है, वह पंजाब की समस्याओं पर कोई ठोस राय कैसे दे सकता है।  

अब केजरीवाल करेंगे पंजाब पर शासन

भाजपा नेता सरदार आरपी सिंह ने अमर उजाला से कहा कि इसके पूर्व अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के अधिकारियों की बैठक ली थी। दिल्ली का मुख्यमंत्री होने के कारण वे पंजाब के अधिकारियों की कोई बैठक नहीं ले सकते थे। इस बैठक से आम आदमी पार्टी, पंजाब, भगवंत मान सरकार और स्वयं उनकी बहुत किरकिरी हुई थी। यही कारण है कि इस किरकिरी से बचने के लिए एक कमेटी बनाकर एक लूपहोल तैयार कर लिया गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि अब राघव चड्ढा के जरिए अरविंद केजरीवाल पंजाब का शासन चलाएंगे। उन्होंने कहा कि स्वाभिमानी पंजाब के लोग यह कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे।

पंजाब नहीं, आम आदमी पार्टी का करेंगे विस्तार

भाजपा का आरोप है कि राघव चड्ढा आम आदमी पार्टी के विभिन्न पदों पर काम कर चुके हैं, वे पार्टी के विस्तार के लिए काम करते रहे हैं। अब वे इस पद पर बैठकर ऐसे फैसले लेंगे, और पंजाब के अधिकारियों से लागू करवाएंगे, जिससे आम आदमी पार्टी का विस्तार होगा, लेकिन इसमें पंजाब का नुकसान होगा। पार्टी ने आरोप लगाया है कि अब पंजाब में भी दिल्ली की तरह शराब नीति लागू की जाएगी, जिससे उससे पैदा हुआ पैसा पार्टी के विस्तार में लगाया जा सके। लेकिन इससे पंजाब के युवाओं का भारी नुकसान होगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00