'My Result Plus

इस साल अच्छी बारिश के आसार, जानिए कैसे की जाती है मानसून की भविष्यवाणी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 17 Apr 2018 03:04 PM IST
know what is the procedure to know about the future of weather
ख़बर सुनें
कृषि क्षेत्र और देश की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी बारिश होना बहुत जरूरी है। अभी सोमवार को ही मौसम विभाग ने इस साल अच्छी बारिश होने की संभावना भी जताई है। विभाग के मुताबिक मानसून की लंबी अवधि (एलपीए) का औसत इस बार 97 फीसदी रहेगा। यानि जून से सितंबर की अवधि के बीच मानसून सामान्य रहने की संभावना है। लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि देश में मौसम का पूर्वानुमान कैसे लगाया जाता है। इसके लिए कौन से पैटर्न और मॉडल की स्टडी की जाती है। चलिए आपको बताते हैं कि कैसे पता लगता है कि बारिश अच्छी होगी या नहीं।
मौसम विभाग के डायरेक्टर केजे रमेश के मुताबिक मानसून की भविष्यवाणी तीन अहम बिंदुओं पर की जाती है। इसमें पिछले 100 वर्षों का ट्रेंड देखा जाता है। विभाग का एक डायनामिक मॉडल होता है जिसका काम हर सेकेंड दुनिया भर के पूर्वानुमान का पता लगाना होता है। यह अगले 9 महीने के मौसम का पूर्वानुमान बताते हैं। इसके अलावा दुनिया भर के 31 अन्य मॉडल्स का भी विशलेषण किया जाता है। इन सभी के आधार पर मानसून का पूर्वानुमान लगाया जाता है। 

अप्रैल में ही क्यों लगता है मानसून का अनुमान

हमेशा अप्रैल में ही मानसून का अनुमान पता चलने के पीछे भी एक प्रक्रिया होती है। इसमें सबसे पहले डायनामिक मॉडल के जरिए अक्टूबर में पता चलता है कि मानसून कैसा रहेगा। फिर जनवरी में यह जानकारी और भी सटीक हो जाती है। इसके बाद यह जानकारी अप्रैल में थोड़ी और सटीक हो जाती है। इसलिए अप्रैल में ही मानसून संबंधित जानकारी दी जाती है जिसके बाद 15 मई तक मानसून की दिशा तय हो जाती है। 
आगे पढ़ें

प्रशांत महासागर के तापमान का असर भारत की बारिश पर

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

रक्षा मंत्री ने लिया गगनशक्ति का जायजा, अरुणाचल में एडवांस लैंडिग ग्राउंड का भी किया उद्घाटन 

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने बृहस्पतिवार को यहां चबुआ वायुसेना केंद्र में वायुसेना के अभ्यास गगनशक्ति का जायजा लिया।

19 अप्रैल 2018

Related Videos

जज लोया मामला: SC के फैसले से फ्रंटफुट पर आई BJP

जस्टिस लोया मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बीजेपी फ्रंट पर आ गई है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पार्टी इस मामले के जरिए BJP को बदनाम करने की कोशिश की जा रही थी।

19 अप्रैल 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen