हाथरस के लिए पैदल रवाना हुए राहुल-प्रियंका, यमुना एक्सप्रेसवे पर रोका गया काफिला

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Sneha Baluni Updated Thu, 01 Oct 2020 02:50 PM IST
हाथरस के लिए पैदल निकलीं प्रियंका गांधी वाड्रा
हाथरस के लिए पैदल निकलीं प्रियंका गांधी वाड्रा - फोटो : ani
विज्ञापन
ख़बर सुनें
उत्तर प्रदेश के हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए देशभर में गुस्सा है। पीड़िता की मौत के बाद उसका जबरन अंतिम संस्कार कर दिया गया। इसे लेकर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। इस मामले पर सूबे की योगी आदित्यनाथ सरकार विपक्ष के निशाने पर है। इसी बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पीड़िता के परिवार से मुलाकात करने के लिए दिल्ली से रवाना हो गए हैं। उन्हें युमना एक्सप्रेस वे पर रोक दिया गया है। प्रशासन ने उन्हें आगे जाने की अनुमति नहीं दी है। ऐसे में दोनों नेता पैदल ही हाथरस के लिए मार्च कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस और भाजपा इस मुद्दे को लेकर एक-दूसरे पर निशाना साध रहे हैं। यहां पढ़ें इससे जुड़े सभी अपडेट्स-
विज्ञापन


रोका गया राहुल-प्रियंका का काफिला
राहुल और प्रियंका के काफिले को यमुना एक्सप्रेसवे पर रोक दिया गया है। प्रशासन ने उन्हें आगे जाने की अनमति नहीं दी। प्रियंका के ओएसडी ने कहा कि प्रियंका और राहुल को यूपी पुलिस ने रोक लिया है। दोनों अब हाथरस के लिए पैदल मार्च कर रहे हैं। एक्सप्रेस वे से हाथरस की दूरी 142 किलोमीटर है।

 


सीमा संवृद्धि निशुल्क लड़ेंगी हाथरस पीड़िता का केस
निर्भया का केस लड़ने वाली वकील सीमा संवृद्धि हाथरस पीड़िता का केस निशुल्क लड़ेंगी।

बेटी न बच पा रही है न पढ़ पा रही है: पीसी शर्मा 
मध्यप्रदेश कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने कहा, 'न बेटी बच पा रही है, न पढ़ पा रही है। खरगोन में भी हाथरस जैसी घटना हुई। अभियुक्त को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है। मामले को फास्ट-ट्रैक कोर्ट में भेजा जाना चाहिए और उन्हें फांसी दी जानी चाहिए। संबंधित अधिकारियों को निलंबित किया जाना चाहिए।'
 

उत्तर प्रदेश में दाखिल हुए राहुल-प्रियंका
राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में प्रवेश कर लिया है। दोनों एक ही कार से हाथरस जा रहे हैं। दोनों नेताओं के साथ हजारों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं का हुजूम है।


डीएनडी पहुंचा कांग्रेस का काफिला
प्रियंका और राहुल का काफिला डीएनडी पहुंच गया है। डीएनडी पर भारी पुलिसबल तैनात हैं। डीएनडी फ्लाईवे पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का जमावड़ा है। दोनों नेता हाथरस जा रहे हैं।

जंगल राज के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें योगी: अनिल देशमुख
यूपी में दुष्कर्म की घटनाओं पर महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा, 'हमने पिछले कुछ महीनों के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दूसरों को सलाह देते हुए देखा। मैं उन्हें अपने राज्य की देखभाल करने और वहां प्रचलित 'जंगल राज' के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का सुझाव देता हूं।'


हाथरस के लिए रवाना हुए राहुल-प्रियंका
कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी दस जनपथ से हाथरस के लिए रवाना हो गए हैं। दोनों के साथ यूपी प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, अनिल चौधरी, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और सुरेजावाला भी जा रहे हैं।
 

प्रियंका और राहुल के गांव आने की सूचना पर पुलिस प्रशासन बेहद अलर्ट
राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के बिटिया के गांव आने की सूचना पर पुलिस प्रशासन बेहद अलर्ट हो गया है। जिले की सभी सीमाएं सील कर दी गई हैं और सघन चेकिंग कराई जा रही है। बिटिया के गांव को जाने वाले सभी रास्तों को रोक दिया गया हैl वहीं कांग्रेस के कुछ नेता राहुल और प्रियंका को अपने साथ लाने के लिए दिल्ली बॉर्डर पर पहुंच गए हैं।

राजस्थान के बारां और हाथरस की तुलना ठीक नहीं: गहलोत
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान के बारां में हुई घटना की तुलना हाथरस से होने को दुर्भाग्य बताया है। उन्होंने कहा, 'हाथरस में हुई घटना बेहद निंदनीय है, उसकी जितनी निंदा की जाए उतनी कम है लेकिन दुर्भाग्य से राजस्थान के बारां में हुई घटना को हाथरस की घटना से कंपेयर (तुलना) किया जा रहा है। जबकि बारां में बालिकाओं ने स्वयं मजिस्ट्रेट के समक्ष दिए 164 के बयानों में अपने साथ ज्यादती नहीं होने एवं स्वयं की मर्जी से लड़कों के साथ घूमने जाने की बात कही। बालिकाओं का मेडिकल भी करवाया गया एवं अनुसंधान में सामने आया कि लड़के भी नाबालिग हैं, जांच आगे भी जारी रहेगी। घटना होना एक बात है और कार्यवाही होना दूसरी, घटना हुई तो कार्यवाही भी तत्काल हुई। इस केस को मीडिया का एक वर्ग और विपक्ष हाथरस जैसी वीभत्स घटना से कंपेयर करके प्रदेश और देश की जनता को गुमराह करने का काम कर रहे हैं।'

राजस्थान का दौरा क्यों नहीं कर रहे राहुल-प्रियंका
यूपी के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा, 'वे (कांग्रेस नेता) राजस्थान का दौरा क्यों नहीं कर रहे हैं? क्या सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी राजस्थान में हो रही घटनाओं पर जवाब नहीं देंगे? वे जिले का दौरा कर इस मुद्दे पर (हाथरस दुष्कर्म की घटना) राजनीति करना चाहते हैं।'

राजनीतिक पर्यटन के जरिए हो रही है तनाव बढ़ाने की कोशिश: नकवी

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने उत्तर प्रदेश में दुष्कर्म की हालिया घटनाओं पर कहा, 'बर्बर अपराधियों को निश्चित रूप से उनकी बर्बरता के लिए दंडित किया जाएगा। जांच दल जांच को आगे बढ़ा रहे हैं। लेकिन मुझे लगता है कि इसपर राजनीतिक पर्यटन नहीं होना चाहिए। जो लोग राजनीतिक पर्यटन के माध्यम से तनाव बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं, उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए। हर कोई दुखी है और दोषियों के लिए सजा चाहता है, उत्तर प्रदेश सरकार इसके लिए काम कर रही है। आप जल्द ही परिणाम देखेंगे।'

भाजपा का नारा ‘तथ्य छुपाओ, सत्ता बचाओ’ है: राहुल
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने योगी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा का नारा बेटी बचाओ नहीं, ‘तथ्य छुपाओ, सत्ता बचाओ’ है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ' उत्तर प्रदेश के जंगलराज में बेटियों पर जुल्म और सरकार की सीनाजोरी जारी है। कभी जीते-जी सम्मान नहीं दिया और अंतिम संस्कार की गरिमा भी छीन ली। भाजपा का नारा ‘बेटी बचाओ’ नहीं, ‘तथ्य छुपाओ, सत्ता बचाओ’ है।'

मायावती ने यूपी सरकार पर साधा निशाना
बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने कहा, 'हाथरस की घटना के बाद, मुझे उम्मीद थी कि यूपी सरकार महिलाओं के खिलाफ अपराध करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। लेकिन बलरामपुर में एक दलित छात्रा के साथ ऐसा ही अपराध किया गया है। भाजपा की यूपी सरकार के तहत अपराधियों, माफियाओं और बलात्कारी खुले तौर पर घूम रहे हैं। महिलाओं के खिलाफ बिना किसी अपराध के यूपी में एक भी दिन नहीं बीतता। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस्तीफा दे देना चाहिए अगर वह महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित नहीं कर सकते। वह राज्य में कानून और व्यवस्था बनाए रखने में असमर्थ है। मैं केंद्र से आग्रह करता हूं कि उन्हें उनके स्थान गोरखनाथ मठ पर भेजा जाए। योगी से प्रदेश नहीं संभल रहा
 है। यूपी में नेतृत्व परिवर्तन होना चाहिए। राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू होना चाहिए।' 

हाथरस की सीमा हुई सील
हाथरस के जिलाधिकारी पी लश्कर ने कहा, 'हाथरस की सीमाएं सील हैं। जिले में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई है, पांच से अधिक लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं है। हमें प्रियंका गांधी की यात्रा के बारे में कोई जानकारी नहीं है। एसआईटी आज पीड़ित परिवार के सदस्यों से मुलाकात करेगी, मीडिया को अनुमति नहीं दी जाएगी।'

राहुल-प्रियंका को नोएडा सीमा पर रोकने की तैयारी
राहुल और प्रियंका सुबह 11 बजे हाथरस पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए हाथरस जाएंगे। उन्हें नोएडा सीमा पर रोकने के लिए भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात कया गया है।

सफाई कर्मचारी कर रहे हैं प्रदर्शन
मुरादाबाद में दिल्ली लखनऊ राजमार्ग को जाम कर दिया गया है। यहां सफाईकर्मी प्रदर्शन कर रहे हैं। सफाईकर्मियों ने 24 घंटे का विरोध बुलाया है। 

मीडिया को गांव में जाने की इजाजत नहीं
मीडिया को गांव में जाने की इजाजत नहीं है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने कोरोना का हवाला देते हुए यह फैसला किया है। पुलिस ने कहा कि मीडिया एसआईटी जांच में बाधा डाल रही है।

डीएनडी पर बढ़ाई गई सुरक्षा

राहुल और प्रियंका आज पीड़िता के परिवार से मुलाकात करने के लिए हाथरस जाएंगे। हाथरस में जहां धारा 144 लागू है वहीं डीएनडी पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दोनों डीएनडी से होते हुए हाथरस जाएंगे। दोनों भाई-बहन सुबह 11 बजे रवाना होंगे।

हाथरस जाएंगे राहुल-प्रियंका 
कांगेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और वायनाड से सांसद राहुल गांधी आज हाथरस जाएंगे। इससे पहले जब पीड़िता की मौत हुई थी, तब प्रियंका ने पीड़िता के परिवार से फोन पर बात की थी।

यूपी में फैले जंगलराज की हद नहीं: प्रियंका गांधी
प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर कहा, 'हाथरस जैसी वीभत्स घटना बलरामपुर में घटी। लड़की का बलात्कार कर पैर और कमर तोड़ दी गई। आजमगढ़, बागपत, बुलंदशहर में बच्चियों से दरिंदगी हुई। यूपी में फैले जंगलराज की हद नहीं। मार्केटिंग, भाषणों से कानून व्यवस्था नहीं चलती। ये मुख्यमंत्री की जवाबदेही का वक्त है। जनता को जवाब चाहिए।'

एसआईटी ने शुरू की अपनी जांच
प्रदेश सरकार द्वारा गठित एसआईटी ने जांच शुरू कर दी है। गृह सचिव भगवान स्वरूप के नेतृत्व में बनी एसआईटी टीम ने पीड़िता के परिवार से मुलाकात की। सात दिन के अंदर हर पहलू पर मंथन किया जाएगा और रिपोर्ट दी जाएगी।

निर्भया की मां ने बढ़ाया मदद का हाथ
दिल्ली सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता निर्भया की मां आशा देवी ने हाथरस पीड़िता के परिवार के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया है। निर्भया की मां ने कहा कि यदि पीड़िता का परिवार चाहेगा या न्याय दिलाने में परिवार को उनकी मदद चाहिए होगी तो वे परिवार की हर संभव मदद करेंगी।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00