'My Result Plus

Film Review: बुलंदी के नारों के बीच देखिए 'यूनियन लीडर' की लाचारी

रवि बुले Updated Sat, 20 Jan 2018 05:04 PM IST
union leader
union leader
ख़बर सुनें
निर्माता-निर्देशकः संजय पटेल
सितारेः राहुल भट्ट, तिलोत्तमा शोम, जयेश मोरे
रेटिंगः **

'यूनियन लीडर' मजदूर एकता जिंदाबाद जैसा नारा नहीं लगाती, लेकिन जान के खतरे वाले उद्योगों में श्रमिकों की स्थिति और लापरवाह-स्वार्थी-धनलोलुप फैक्ट्री मालिकों की तस्वीर सामने लाती है। लंबे समय से सिनेमा की नजर इधर नहीं गई थी। इस इंडो-कनाडाई प्रोजेक्ट में कुछ बातों को संवेदना से छुआ गया है। श्रमिकों के अधिकारों की बात की गई है। निर्देशक संजय पटेल की यह पहली फिल्म कई अंतरराष्ट्रीय समारोहों में सराही गई।

'यूनियन लीडर' में अहमदाबाद की एक केमिकल फैक्ट्री में काम करने वाले मजदूर क्रोमियम सल्फेट के प्रभाव में अपने फेफड़े गंवा रहे हैं। पांच मजदूर कैंसर के शिकार होकर मौत के मुंह में जा चुके हैं, लेकिन फैक्ट्री मालिक को परवाह नहीं। श्रमिक नेता को मालिक ने अपनी तरफ मिला रखा है। हकीकत समझ आने पर मजदूर नई यूनियन बनाते हैं, जिसकी बागडोर जय (राहुल भट्ट) को दी जाती है। मजदूरों की आवाज बुलंद होते ही मालिक फैक्ट्री बंद करने का फैसला करता है। अब मजदूरों का क्या होगा, क्योंकि जो मिल रहा था, वे उससे भी हाथ धो बैठे हैं!
आगे पढ़ें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all entertainment news in Hindi related to bollywood news, Tv news, hollywood news, movie reviews etc. Stay updated with us for all breaking hindi news from entertainment and more news in Hindi.

Spotlight

Related Videos

VIDEO: भाषण के बीच में आया इस मुख्यमंत्री के पास पीएम मोदी का फोन तो बदल गए सुर

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सिंगरौली में एक सभा को संबोधित कर रहे थे, इसी बीच उनके पास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फोन कॉल आ गया।

21 अप्रैल 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen