बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

Gandhi Jayanti 2020: दो अक्तूबर को ही क्यों मनाई जाती है गांधी जयंती?

एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला Published by: शुभांगी गुप्ता Updated Thu, 01 Oct 2020 05:43 PM IST
विज्ञापन
Gandhi Jayanti 2020
Gandhi Jayanti 2020

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
Gandhi Jayanti 2020: महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्तूबर  1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। इस दिन को विश्व अहिंसा दिवस के रूप में मनाया जाता है। देशभर में इस साल राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 151वीं जयंती मनाई जा रही है। विश्व में गांधी जी को उनके अहिंसात्मक आंदोलन के लिए जाना जाता है। विश्व अहिंसा दिवस, गांधी जी के प्रति वैश्विक तौर पर सम्मान व्यक्त करने के लिए मनाया जाता है। गांधी जी का कहना था, 'अहिंसा एक दर्शन है, एक सिद्धांत है और एक अनुभव है, जिसके आधार पर समाज को बेहतर बनाया जा सकता है।' 
विज्ञापन


गांधी जी ने लंदन में पढ़ाई करके बैरिस्टर की डिग्री प्राप्त की थी। भारत वापस आने पर उन्हें देश की स्थिति ने काफी प्रभावित किया। इसके बाद उन्होंने देश को आजाद करवाने के लिए लंबी लड़ाई लड़ी। भारत को अंग्रेजी हुकूमत से आजादी दिलाने में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का योगदान अतुलनीय है। शांति और अहिंसा के दम पर उनके द्वारा चलाए गए सत्याग्रह और आंदोलनों ने ब्रिटिश सरकार की ईंट से ईंट बजा दी थी। भारत छोड़ो आंदोलन के जरिए उन्होंने अंग्रेजों को देश छोड़कर जाने को मजबूर कर दिया था। महात्मा गांधी पर हर भारतीय गर्व करता है।


ऐसे मनाई जाती है गांधी जयंती - 
गांधी जयंती के मौके पर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित कई गणमान्य व्यक्ति नई दिल्ली स्थित राजघाट जाकर गांधी प्रतिमा के सामने श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। इस दिन राष्ट्रीय अवकाश होता है। बापू की समाधि पर राष्ट्रपति और भारत के प्रधानमंत्री की उपस्थिति में प्रार्थना आयोजित की जाती है। भारत के हर कोने के साथ-साथ दुनिया के कई हिस्सों में भी महात्मा गांधी की जयंती मनाई जाती है। इस अवसर पर जगह-जगह रैली, पोस्टर प्रतियोगिता, स्पीच, डिबेट, नाटक समेत कई तरह के आयोजन किए जाते हैं।

क्या आप जानते हैं कि - 
  • महात्मा गांधी ने लंदन से कानून की पढ़ाई करने के बाद बैरिस्टर की डिग्री हासिल की थी लेकिन बॉम्बे हाई कोर्ट में हुई पहली बहस में वे असफल रहे थे।
  • दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल कंपनियों में से एक एप्पल के संस्थापक स्टीव जॉब्स गांधी जी को सम्मान देने के लिए गोल चश्मा पहनते थे।
  • भारत में महात्मा गांधी के नाम पर 50 से ज्यादा सड़कें हैं। वहीं, विदेश में उनके नाम पर लगभग 60 सड़के हैं।
  • महात्मा गांधी को पांच बार नोबेल पुरस्कार के लिए नामित किया गया। हालांकि उन्हें एक बार भी नोबेल पुरस्कार नहीं मिला है। 
ये भी पढ़ें- जानिए, क्या थी वो सलाह जो करियर में सफलता के लिए मिशेल ओबामा ने बेटी मालिया को दी थी? 

शिक्षा की अन्य खबरों से अपडेट रहने के लिए यहां क्लिक करें। 
सरकारी नौकरियों की अन्य खबरों से अपडेट रहने के लिए यहां क्लिक करें। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us