विज्ञापन

शाहीन बाग: रास्ता खोलने पर प्रदर्शनकारियों से आज बातचीत करेंगे वार्ताकार, एजेंडा तैयार

अमित शर्मा, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 19 Feb 2020 03:25 AM IST
विज्ञापन
Supreme court let panel lawyers could negotiate shaheen bagh protesters on wednesday
ख़बर सुनें

सार

  • पैनल में वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े, वजाहत हबीबुल्ला और साधना रामचंद्रन शामिल
  • एक तरफ का रास्ता खोलने पर बन सकती है सहमति
  • नागरिकता संशोधन कानून के विरोध राज्यों के मुख्यमंत्रियों से करेंगे मुलाकात

विस्तार

शाहीन बाग का प्रदर्शन खत्म कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर बना पैनल बुधवार को प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर सकता है। पैनल में शामिल वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े, वजाहत हबीबुल्ला और साधना रामचंद्रन ने एक सर्वमान्य हल के विभिन्न विकल्पों पर विचार किया है।
विज्ञापन
इसी बीच प्रदर्शनकारियों ने कहा है कि वे बातचीत तो करेंगे, लेकिन नागरिकता संशोधन कानून वापस लिए जाने से पहले धरना समाप्त नहीं करेंगे। लेकिन खबर है कि दोनों पक्षों में एक तरफ का रास्ता खोलने पर सहमति बन सकती है। इसके लिए प्रदर्शनकारियों और वार्ताकारों के बीच तालमेल बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं।


सूत्रों के मुताबिक शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी अब तक के अपने प्रयास को एक सफल मुकाम तक पहुंचाना चाहते हैं। इसके लिए वे अनेक राज्यों के मुख्यमंत्रियों से मिलकर नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में सबको साथ लाने की कोशिशें कर रहे हैं। एक प्रतिनिधि मंडल ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की है।

जल्दी ही मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी मिलकर वहां के सदन में कानून के विरोध में प्रस्ताव पास कराने की तैयारी है। इस मुद्दे पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी मिलने की बात हो रही है।

प्रदर्शनकारियों के मुताबिक, ऐसे में पूरा धरना एक बार में खत्म करने से इस मुहिम को चोट लग सकती है। यही कारण है कि प्रदर्शनकारी रणनीति के तहत शाहीन बाग का धरना एक बार में खत्म करने के पक्ष में नहीं हैं।

वहीं, प्रदर्शनकारी सुप्रीम कोर्ट की अवहेलना करते हुए भी नहीं दिखना चाहते हैं। यही कारण है कि वे बीच का एक ऐसा रास्ता निकालने की कोशिश कर सकते हैं, जिसमें लोगों को आवागमन के लिए रास्ता भी मिल जाये और विरोध प्रदर्शन भी जारी रहे।

इसके लिए सड़क के एक तरफ का रास्ता खोला जा सकता है। इससे दोनों पक्षों की बात रह जाएगी। क्या प्रदर्शनकारी शाहीन बाग को छोड़ किसी दूसरे स्थल पर धरना देने के लिए तैयार हो सकते हैं, इस सवाल पर प्रदर्शनकारियों की राय बंटी हुई है। हालांकि इस पर अंतिम फैसला वार्ता के बाद ही लिया जाएगा।  

बुधवार ही क्यों?

जानकारी के मुताबिक वरिष्ठ वकील साधना रामचंद्रन मंगलवार को शहर में नहीं होंगी, लेकिन चूंकि वार्ता पैनल के सभी सदस्यों के उपस्थित रहने पर ही संभव है, इसीलिए वार्ताकार बुधवार को प्रदर्शनकारियों से मुलाकात कर सकते हैं। सभी सदस्यों ने इसके पहले मुलाकात कर मुद्दे के एक हल पर पहुंचने के लिए विभिन्न विकल्पों पर मंथन किया है।

 
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us