लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi ›   Delhi News: More than five lakh vehicles came off the roads due to metro operation

Delhi News : मेट्रो संचालन से सड़कों से कम हुए पांच लाख से अधिक वाहन, टेरी का अध्ययन

अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली Published by: दुष्यंत शर्मा Updated Mon, 03 Oct 2022 04:49 AM IST
सार

Delhi News: मेट्रो में सफर करने से रोजाना न केवल यात्रा में कम वक्त लगता है, बल्कि प्रदूषण से राहत दिलाने में भी मेट्रो की अहम भूमिका है। दिल्ली के 392 किलोमीटर के दायरे में मेट्रो परिचालन से यात्रियों के समय में सालाना करीब 26.9 करोड़ घंटे की बचत हो रही है। 

दिल्ली मेट्रो
दिल्ली मेट्रो - फोटो : दिल्ली मेट्रो ट्विटर
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

मेट्रो में सफर करने से रोजाना न केवल यात्रा में कम वक्त लगता है, बल्कि प्रदूषण से राहत दिलाने में भी मेट्रो की अहम भूमिका है। दिल्ली के 392 किलोमीटर के दायरे में मेट्रो परिचालन से यात्रियों के समय में सालाना करीब 26.9 करोड़ घंटे की बचत हो रही है। 



 2031 तक यह आंकड़ा 57.2 करोड़ घंटे तक हो जाने की उम्मीद है। द एनर्जी रिसर्च इंस्टीट्यूट (टीईआरआई) की ओर से किए गए एक अध्ययन के मुताबिक अगले 10 वर्षों में करीब दोगुना समय की बचत होगी। मेट्रो सेवाओं के इस्तेमाल से सड़कों से पांच से लाख से अधिक वाहन हटने के साथ ही प्रदूषण में भी कमी आई है। 


मेट्रो सेवाओं का इस्तेमाल करने से यात्रियों को वाहनों की बढ़ती संख्या के कारण सड़कों पर जाम की समस्या कम हो गई है। यात्रा में दूसरे परिवहन साधनों की तुलना में भी कम वक्त लगने के साथ वाहनों की संख्या भी लगातार कम हो रही है। 2019 में मेट्रो में यात्रियों की संख्या बढ़ने से करीब 4.74 लाख वाहन कम हुए थे।

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन की इस पहल से वातावरण से करीब सात लाख टन प्रदूषकों को हटाने में भी मदद मिल रही है। कई यात्री अपने निजी वाहनों को घरों में छोड़कर मेट्रो में सफर करने लगे हैं। इससे जीवाश्म ईंधन से चलने वाले वाहन कम हुए है।

 दिल्ली मेट्रो के परिचालन में स्वच्छ ऊर्जा के इस्तेमाल से ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन के मामले में भी एक बड़ी कामयाबी मिली है। इससे पर्यावरण को स्वच्छ बनाने के साथ-साथ कार्बन क्रेडिट से भी सालाना करोड़ों की कमाई हो रही है। छह वर्षों (2012-2018) के दौरान डीएमआरसी 35.5 लाख कार्बन क्रेडिट के जरिये करीब 19.5 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया। 

और कम होंगे वाहन
अपने पुनर्योजी ब्रेकिंग और मोडल शिफ्ट पहल के जरिये कार्बन क्रेडिट के मामले में दिल्ली मेट्रो का दुनिया में अग्रणी स्थान है । दिल्ली मेट्रो के करीब 392 किमी के नेटवर्क पर रोजाना करीब 50 लाख यात्राएं हो रही हैं। फेज-4 मेट्रो के तीन कॉरिडोर पर मेट्रो सेवाएं शुरू होने से ना केवल यात्रियों की सहूलियत बढ़ेगी बल्कि पर्यावरण भी बेहतर होगा। इससे सड़कों से वाहनों की संख्या में कमी और सार्वजनिक परिवहन अपनाने वालों की संख्या में बढ़ोतरी होगी।  
विज्ञापन

पुनर्योजी ब्रेकिंग से फायदा : यह किसी भी वाहन की रफ्तार कम करने का एक महत्वपूर्ण जरिया है। पुनर्योजी ब्रेकिंग (रिजनरेटिव ब्रेकिंग) के    जरिये वाहन की गति को कम करने सहित वाहनों की गतिज ऊर्जा को ऊष्मा के रूप में बदलने के बजाय भंडारित कर लिया जाता है। इसका इस्तेमाल बाद में जरूरत के मुताबिक किया जाता है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00