अमर उजाला मास्टरक्लास में बोले अली अब्बास जफर, फिल्मों में 'ये नहीं हो पाएगा' जैसी स्थिति नहीं होती

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Updated Fri, 13 Sep 2019 08:24 AM IST
विज्ञापन
अली अब्बास जफर
अली अब्बास जफर - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
बॉलीवुड डायरेक्टर अली अब्बास जफर मसूरी रोड स्थित डीआईटी विश्वविद्यालय में मास्टर क्लास लगाने पहुंचे हैं। अमर उजाला ‘मास्टर क्लास विद अली अब्बास जफर’ में वे प्रशंसकों से रूबरू हुए। कार्यक्रम में कॉलेज स्टूडेंट्स के साथ ही अन्य लोग भी पहुंचे हैं। अली कार्यक्रम के दौरान फिल्म इंडस्ट्री के अपने अनुभव साझा करने के साथ ही प्रशंसकों से बातचीत की।

इस दौरान उन्होंने कहा कि एक दिन में कोई भी सुपरस्टार नहीं बनता। उसके लिए आपको वर्षों मेहनत करनी होती है। अपनी मेहनत और हुनर पर विश्वास रखते हुए लगातार संघर्ष करने का माद्दा रखना पड़ता है। तब जाकर कहीं आपको एक मौका मिलता है। मौके को भुनाते हुए अपना बेस्ट देने वाले ही आगे बढ़ते हैं। 

विज्ञापन

उन्होंने कहा कि मुझे लगता है जब आप फिल्म बनाने हैं तो यहां 'ये कैसे होगा, नहीं हो पाएगा' जैसी स्थिति नहीं होती है। पहले भी कुछ नहीं था और आगे भी नहीं होगा। इसी के बीच से हमे आगे बढ़कर अपने लक्ष्य को पूरा करना होता है। 
डीआईटी विश्वविद्यालय सभागार में आईएमएस यूनिसन यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो. गौतम सिन्हा, प्रोवीसी डा. रवितेष श्रीवास्तव ने अली अब्बास जफर का स्वागत किया। प्रशंसकों ने अली से उनकी जिंदगी और फिल्मी करियर से जुड़े कई सवाल पूछे। साथ ही फिल्म उद्योग और सिनेमा के मौजूदा स्वरूप को लेकर भी चर्चा की। अली ने बताया कि उन्होंने दून के मार्शल स्कूल से अपनी पढ़ाई की है। दिल्ली विश्वविद्यालय के किरोडीमल कॉलेज से साइंस स्ट्रीम से ग्रेजुएशन किया। यहां थिएटर करने के बाद उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री का रुख किया।
नए कलाकारों और फिल्म मेकर्स को उन्होंने काम सीखने की सलाह दी। अली ने कहा कि अदाकारी, स्क्रिप्ट राइटिंग, स्टोरी राइटिंग, टेक्निशियन बनने के लिए हजारों लोग रोजाना मुंबई पहुंचते हैं। इनमें से बड़ी संख्या ऐसे लोगों की होती है, जिन्हें उस काम की एबीसीडी तक मालूम नहीं होती। सोचिये ऐसे लोगों को कोई भी मौका क्यों देगा। उन्होंने कहा कि पहले अगर आप अपने हुनर को संवारने पर मेहनत करेंगे तो करियर खुद ब खुद संवर जाएगा।

कार्यक्रम का मुख्य प्रायोजक पर्यटन विभाग और सहयोगी प्रायोजक हाईप शूज रहे। मास्टर क्लास अमर उजाला की एक सीरीज है, जिसके तहत आम पाठकों और छात्र-छात्राओं को फिल्म जगत की हस्तियों से मुलाकात और बातचीत का मौका दिया जाता है।

विज्ञापन
आगे पढ़ें

फैन ने शाहरुख खान के साथ फिल्म में मांगा रोल

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X