गैंगरेप में शामिल 17 साल के आरोपी को भी कोर्ट ने सुनाई सजा, जानिए क्या था पूरा मामला

ब्यूरो/अमर उजाला, हल्द्वानी Updated Sun, 24 Dec 2017 08:53 AM IST
punishment to Minor for a gang rape
jail
विशेष न्यायाधीश (पॉक्सो) प्रीतू शर्मा की अदालत ने गैंगरेप के मामले में दोषी नाबालिग को भी सजा सुनाई है। उसे 21 साल की अवस्था तक बाल सुधार गृह और 25 साल की उम्र तक जेल में रहना होगा। इस मामले में दो आरोपियों को पहले ही सजा सुनाई जा चुकी है।
विशेष लोक अभियोजक नरेंद्र सिंह नेगी के अनुसार बनभूलपुरा क्षेत्र में नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म हुआ था। इस मामले में सुनवाई के बाद अदालत ने  डीएनए को आधार मानते हुए अभियुक्त दीपक और महेश उर्फ मैसी को दोषी पाया था।

 एक दिन पहले अदालत ने 376 डी, पॉक्सो सहित अन्य धाराओं के तहत दोषी महेश उर्फ मैसी को 20 साल के कारावास के साथ दस हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई थी। एक नाबालिग को अदालत ने सबूत के अभाव में छोड़ दिया लेकिन बनभूलपुरा क्षेत्र के रहने वाले एक अन्य आरोपी 17 वर्षीय नाबालिग को दोषी करार देते हुए सजा सुनाई गई है।


 

Spotlight

Most Read

Meerut

महिला टीचर की अश्लील फोटो फेसबुक पर वायरल, हिरासत में आरोपी

कोतवाली क्षेत्र की रहने वाली शिक्षिका के अश्लील फोटो एक युवक ने फेसबुक पर वायरल कर दिया। मामला दो समुदाय का होने के कारण क्षेत्र में तनावपूर्ण स्थिति बनी गई।

17 फरवरी 2018

Related Videos

VIDEO: बच्चों संग शिक्षा मंत्री भी रहे पीएम मोदी की क्लास में मौजूद

देहरादून के पथरीबाग में मौजूद लक्ष्मण विद्यालय में बच्चों के साथ शिक्षामंत्री अरविंद पांडेय ने भी  प्रधानमंत्री मोदी की क्लास में हिस्सा लिया।

17 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen