लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Coronavirus in Uttarakhand: RTO will ready drivers or oxygen truck drivers

उत्तराखंड: चलते रहेंगे ऑक्सीजन टैंकरों के पहिये, ड्राईवरों की नई फौज हो रही तैयार

आफताब अजमत, अमर उजाला, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Tue, 25 May 2021 11:10 AM IST
सार

प्रदेश में अन्य जगहों से आने वाले ऑक्सीजन टैंकरों की सेवा रुके नहीं इसलिए सरकार ने नए ड्राईवर तैयार करने का फैसला लिया है।

ऑक्सीजन
ऑक्सीजन - फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अब किसी भी ड्राईवर के कोरोना संक्रमित होने पर ऑक्सीजन टैंकरों के पहिये नहीं थमेंगे। परिवहन मंत्रालय के निर्देशों पर आरटीओ ने 166 ड्राईवरों की सूची तैयार की है, जिनमें से 70 ड्राईवरों ने जरूरत पड़ने पर टैंकर चलाने की सहमति प्रदान कर दी है। अब इन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा।



कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की मारामारी के बीच सरकार ने बाकायदा ऑक्सीजन सप्लाई के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए थे। परिवहन सचिव के माध्यम से परिवहन विभाग के कर्मचारियों को ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित करने में लगाया गया।


इस बीच परिवहन मंत्रालय ने निर्देश दिए कि ड्राईवरों का बैकअप प्लान तैयार किया जाए। आरटीओ प्रशासन दिनेश चंद्र पठोई ने बताया कि ऐसे 166 ड्राईवरों की सूची तैयार की गई जो कि हैवी वाहन चलाने में सक्षम हैं।

उन्होंने बताया कि सोमवार को इन सभी से संपर्क किया गया। इनमें से 70 ड्राईवरों ने बताया कि वह पूरी तरह से इमरजेंसी सेवाएं देने के लिए तैयार हैं। अब आरटीओ की ओर से इन सभी ड्राईवरों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा ताकि वह ऑक्सीजन टैंकरों का संचालन कर सकें। 

कई राज्यों से हो रही ऑक्सीजन की सप्लाई
देश के कई राज्यों से उत्तराखंड में ऑक्सीजन की सप्लाई हो रही है। केंद्र के माध्यम से लगातार ऑक्सीजन आ रही है। यह ऑक्सीजन के टैंकर प्रदेश के सभी जिलों में पहुंचाए जा रहे हैं। ऐसे में लगातार ड्राईवरों के कोरोना संक्रमित होने का खतरा भी मंडरा रहा है। उधर, प्रदेश सरकार ने अभी तक गढ़वाल और कुमाऊं में करीब 140 मीट्रिक टन ऑक्सीजन को इमरजेंसी के लिए रिजर्व कर लिया है।

मुख्यमंत्री ने 180 ऑक्सीजन कंसेट्रेटर्स के वाहन को रवाना किया 

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सोमवार को बीजापुर अतिथि गृह में प्रदेश के चिकित्सालयों के उपयोग के लिए 180 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स के वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ये ऑक्सीजन कंसेट्रेटर्स हंस फाउंडेशन ने भेंट किए थे। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी का सामना करने के लिए सभी का सहयोग मिल रहा है। सभी के सहयोग से हम इस महामारी को रोकने में अवश्य सफल होंगे। प्रदेश के सभी अस्पतालों में आक्सीजन की व्यवस्था की गई है। 

हंस फाउंडेशन के उपलब्ध कराए गए 180 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स से भी पीड़ितों की बड़ी मदद होगी। इन कंसेंट्रेटर्स को उन पर्वतीय जिलों को भेजा जाएगा जहां इनकी आवश्यकता है। उन्होंने हंस फाउंडेशन सहयोग और प्रयासों की भी सराहना की। इस अवसर पर हंस फाउंडेशन के विकास एवं योगेश सहित अन्य लोग उपस्थित थे। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00