बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

कुरुक्षेत्र: प्रधानमंत्री की अपील यानी राज मर्यादा की लक्ष्मण रेखा, कोरोना प्रोटोकॉल पर भी जारी है सियासी खींचतान

अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: विनोद अग्निहोत्री Updated Wed, 21 Apr 2021 02:14 PM IST

सार

राजनीतिक दलों ने विधानसभा चुनावों में सारे कोरोना रोकथाम नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए अंधाधुंध चुनाव प्रचार किया और चुनाव आयोग अपने ही नियमों और दिशा निर्देशों का भरे दरबार चीर हरण होते देख धृतराष्ट्र की तरह नेत्रविहीन और भीष्म पितामह व गुरु द्रोण की तरह जड़ बना रहा...
विज्ञापन
पीएम मोदी की रैली
पीएम मोदी की रैली - फोटो : अमर उजाला (फाइल)
ख़बर सुनें

विस्तार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश को संबोधित करते हुए कोरोना संक्रमण के दूसरे हमले के प्रति बेहद चिंता जताते हुए लोगों से कोरोना प्रतिबंधों और नियमों के कड़ाई और ईमानदारी से पालन करने की अपील करते हुए बच्चों को विशेष जिम्मेदारी दी कि वह अपने घरों में बड़ों को ऐसा करने को बाध्य करें। साथ ही, उन्होंने रामनवमी और रमजान का जिक्र करते हुए भगवान श्रीराम की मर्यादा पालन की शिक्षा और रमजान के संयम की भी याद दिलाई। प्रधानमंत्री मोदी देश के सर्वोच्च और सर्वाधिक लोकप्रिय नेता हैं और उम्मीद है कि लोग उनकी अपील पर ध्यान देकर अपने व्यवहार को कोरोना संकट काल की जरुरतों के मुताबिक नियमित और मर्यादित रखेंगे। प्रधानमंत्री की यह अपील जन साधारण के साथ-साथ उन तमाम राजनीतिक दलों, उनके नेताओं, धर्माचार्यों और मजहबी नेताओं पर भी लागू होती है, जिन्होंने पिछले कई महीनों से कोरोना प्रोटोकॉल की सारी मर्यादाओं को ताक पर रख हुआ था। प्रधानमंत्री मोदी ने एक तरह से कोरोना संकट काल में राज मर्यादा की रेखा खींची है जिसका अनुपालन देश के सर्वोच्च स्तर से लेकर आम जन तक को करना होगा। लेकिन अगर यह काम पहले हो गया होता तो बहुत लोगों को असमय मरने से या अस्पतालों में गंभीर रूप से बीमार होकर भर्ती होने या घरों में बीमार होकर बंद रहने से बचाया जा सकता था। विपक्ष ने प्रधानमंत्री पर दोहरे रवैये का आरोप लगाते हुए अपने भाषण को सबसे पहले अपने और अपने दल के नेताओं पर उतारने को कहा है। कुल मिलाकर कोरोना प्रोटोकॉल पर भी सियासी खींचतान शुरू हो गई है।
विज्ञापन
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X