अग्निशमन विभाग में नियुक्ति कब होगी? पटना हाईकोर्ट ने नीतीश सरकार से पूछा, 75 फीसदी पद खाली

amarujala.com, Presented by: अमर शर्मा Updated Thu, 09 Nov 2017 07:39 PM IST
patna high court asks bihar government on the vacant position in fire department
पटना हाईकोर्ट ने नीतीश सरकार से मांगा जवाब
प्रदेश में आगजनी की घटनाओं को काबू करने के निर्देश जारी करने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर चप्पल चल गए थे। लेकिन अग्निशमन विभाग में कर्मचारियों की कमी क्यों है इस सवाल को लेकर आखिर राज्य सरकार कितनी गंभीर है?

पटना हाईकोर्ट ने नीतीश कुमार की सरकार से पूछा है कि अगर अग्निशमन विभाग में कर्मचारी नहीं है तो नियुक्ति क्यों नहीं हो रही है। 

राज्य सरकार को एक महीने में इस मुद्दे पर जवाब देना है। हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान राज्य सरकार ने ये बताया कि अग्निशमन विभाग में 4620 पद हैं और इनमें 75 फीसदी पद खाली हैं। इस जवाब में सबसे चौंकाने वाला पहलू ये था कि ड्राइवर के सभी पद खाली पड़े हैं। 

गौरतलब है कि 2 मई 2016 को अरवल के रहने वाले एक व्यक्ति नीतीश कुमार ने पटना में 'जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम' में नीतीश कुमार पर गुस्से में चप्पल फेंक दिया था। नीतीश कुमार ने उस घटना के कुछ दिनों पहले एक निर्देश जारी किया था कि, 'आगजनी की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर सुबह 9 से शाम 6 बजे तक खाना बनाने और हवन के लिए आग का इस्तेमाल ना किया जाए।' 
आगे पढ़ें

क्या सलाह जारी करना अपराध है?: नीतीश

Spotlight

Most Read

Lucknow

शिवपाल के जन्मदिन पर अखिलेश ने उन्हें इस अंदाज में दी बधाई, जानें- क्या बोले

राजधानी ‌स्थित लोहिया ट्रस्ट में सोमवार को सपा नेता शिवपाल सिंह ने अपने समर्थकों के साथ जन्मदिन मनाया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

दहेज प्रथा और बाल विवाह के विरोध में इस राज्य में बनी सबसे लंबी मानव श्रृखंला

बाल विवाह और दहेज प्रथा जैसी कुरीतियों से निपटने के लिए ना जाने कितनी योजनाएं चल रही हैं।

21 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper