विज्ञापन
Home ›   Video ›   Specials ›   BHAGAT SINGH SUKHDEV RAJGURU MARTYRED ON 23 MARCH 1931

फांसी से पहले ये थी भगत सिंह की आखिरी इच्छा, जानकर हैरान रह गए थे अंग्रेज

वीडियो डेस्क, अमर उजाला टीवी/ नई दिल्ली Updated Fri, 23 Mar 2018 11:04 AM IST

23 मार्च यानी शहीद दिवस... आज ही के दिन साल 1931 में आजादी के मतवालों भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को अंग्रेजों ने लाहौर जेल में फांसी दे दी थी। शहीद दिवस के अवसर भारत ही नहीं बल्कि पाकिस्तान में भी कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है, जिनमें शहीदों को श्रद्धांजली दी जाती है।

विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00