विज्ञापन
Home ›   Video ›   Specials ›   Special story on acid attack victim in delhi on world women's day

तेजाब डालकर उन्होंने समझा हम बर्बाद हो जाएंगे पर वो गलत थे

बसंत कुमार, अमर उजाला टीवी/ नई दिल्ली Updated Thu, 08 Mar 2018 02:41 AM IST

तेजाब सिर्फ जिस्म नहीं सपने भी जला देता है। ममता और नसरीन जहां के पति ने भी ऐसा ही सोचा होगा कि तेजाब फेंक दूंगा तो ये किसी लायक नहीं रहेंगी। लेकिन कहते है ना जिसके सपने बड़े होते है उनके लिए कोई भी मुश्किल लांघना कठिन नहीं होता है। देखिए किस तरह दोनों ने अपनी जिद और कोशिश से अपने सपनों को पूरा किया। 

विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00