बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

भरपेट खाया और समेट ले गए लाखों का सामान

ब्यूरो/अमर उजाला,हल्द्वानी Updated Sun, 05 Apr 2015 02:15 AM IST
विज्ञापन
Millions gather belongings and took ate hearty

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
द्वारिकापुरी फेज-2 स्थित आईटीआई निदेशालय की महिला लिपिक अमिता वर्मा के घर में घुसकर चोरों ने लाखों रुपए के जेवरात और नगदी उड़ा ली। चोरों ने पांच कमरों को खंगालने के बाद रसोई में खाना बनाकर खाया और छिला हुआ प्याज छोड़कर चले गए। घटना से पहले लिपिक का परिवार मकान में ताला डालकर जयपुर गया था। पड़ोसियों की सूचना पर मुखानी पुलिस ने मौके का मुआयना कर चोरों की तलाश शुरू कर दी है।
विज्ञापन


द्वारिकापुरी फेज-2 आरटीओ कार्यालय के पास रहने वाले भगवानदास वर्मा अपनी पत्नी लिपिक अमिता वर्मा और बड़ी बेटी पूजा के साथ एक अप्रैल को जयपुर (राजस्थान) गए थे। वहां भगवानदास वर्मा की छोटी बेटी कामाक्षी बनस्थली से बीएससी कर रही है। बेटी के कालेज में परिवार के लोग वार्षिक समारोह देखने गए थे। जाने से पहले लिपिक ने पड़ोसियों को मकान देखने के लिए कहा था। शुक्रवार शाम पड़ोसी विजय पांडेय ने लिपिक के छत का दरवाजा खुला देखा और फोन कर अमिता वर्मा को सूचना दी। पड़ोसियों ने मुखानी पुलिस को भी सूचित कर दिया। पुलिस ने छत के रास्ते से मौका मुआयना किया।


शनिवार को घर लौटने पर पता चला कि चोरों ने दो कमरों की अलमारियों और दो दीवान को खंगाला था। चोरों ने रसोई में खाना बनाकर खाया भी था। वहां कटा प्याज और नमक पड़ा था। महिला लिपिक ने बताया कि उनके पति अल्मोड़ा डिग्री कालेज से रिटायर्ड हैं। चोर अलमारियों से चार हजार रुपए नगद, तीन अंगुठी, दो जोड़ी झुमके, दो जोड़ी पायल, दो मंगलसूत्र, टाप्स, सोने के टुकड़े, मटर माला सहित करीब दस तोले सोने के जेवरात, साड़ी और अन्य कपड़े ले गए हैं।

बेटी की शादी के लिए जोड़े थे जेवर
लिपिक अमिता वर्मा ने बताया कि उनकी बड़ी बेटी देहरादून में जॉब करती है। उसकी शीघ्र ही शादी करने की बात चल रही है। बेटी की शादी के लिए ही वह जेवरात और कपड़े जोड़ रही थीं, लेकिन चोरों ने कुछ नहीं छोड़ा। पड़ोसी महिलाओं का कहना था कि 25 सालों के अंदर इस कालोनी में कभी चोरी की घटना नहीं हुई थी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us