बेटी का शव तलाशने गाजियाबाद से पहुंचा पिता -छोटे भाई की मौत के बाद बहन ने पुल जटवाड़ा से लगा दी थी गंगनहर में छलांग, एम्बुलेंस

Dehradun Bureau Updated Fri, 12 Jan 2018 10:41 PM IST
अमर उजाला ब्यूरो
हरिद्वार।
छोटे भाई के शव को सरेराह रखने से क्षुब्ध बहन का गंगनहर में कूदने के बाद से उसका कोई पता नहीं चल पाया है। गाजियाबाद से शुक्रवार को यहां पहुंचे पिता ने पथरी पावर हाउस क्षेत्र में बेटी को तलाशा, लेकिन कामयाबी नहीं मिली।
तीन दिन पहले पुल जटवाड़ा से देर रात करीब एक बजे गाजियाबाद के प्रेमनगर निवासी फारुख की बेटी आयशा (18) ने गंगनहर में छलांग लगा दी थी। तब सामने आया था कि फारुख के बेटे ओएश (10) का इलाज चल रहा था और उसकी मौत होने के बाद परिजन शव लेकर गाजियाबाद जा रहे थे, लेकिन एंबुलेंस चालक ने शव पुल जटवाडा के पास सड़क रखकर गाजियाबाद जाने से इंकार कर दिया था। इससे ही क्षुब्ध होकर बहन ने गंगनहर में छलांग लगा दी थी। तब युवती को तलाशने के बजाय परिजन बेटे का शव लेकर गाजियाबाद चले गए थे। बेटे के शव को सुपुर्द ए खाक करने के बाद पिता यहां बेटी की तलाश में पहुंचा।
दिन भर गंगनहर किनारे एवं पथरी पावर हाउस क्षेत्र में पिता अपनी बेटी की तलाशता रहा लेकिन कुछ पता नहीं चल सका। यह सामने आ रहा है कि जब युवती गंगनहर में कूदी थी तब ज्वालापुर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई थी, लेकिन पुलिस ने मामले में दिलचस्पी लेना जरूरी नहीं समझा था। पुलिस को युवती के गंगनहर में छलांग लगाने के बारे में सूचना होने के बाद भी उसको तलाशने की जहमत नहीं उठाई गई। पिता खुद ही तलाश में जुटा है।

गंभीर रोग का कर रहा था इलाज
बेटे का इलाज यहां एक निजी चिकित्सालय में चल रहा था। यह सामने आया है कि चिकित्सालय का संचालक खुद को बीएएमएस डिग्री धारक बताता है लेकिन वह इलाज गंभीर रोग का कर रहा था। बताया जा रहा है कि मासूम के गुर्दे का इलाज कर रहे चिकित्सक ने कई लाख की रकम इलाज के नाम पर ले ली थी। जब युवती कूदी तब चिकित्सक भी मौके पर पहुंच गया था और परिवार को गाजियाबाद जाने की सलाह दी थी। यह चिकित्सक पहले भी कई प्रकरण में चर्चित रहा है। चिकित्सक के पास मुस्लिम समुदाय के मरीज ही अधिक आते हैं।

Spotlight

Most Read

National

2019 में कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव नहीं लड़ेगी CPM

महासचिव सीताराम येचुरी की ओर से पेश मसौदे में भाजपा के खिलाफ लड़ाई में कांग्रेस समेत तमाम धर्मनिरपेक्ष दलों को साथ लेकर एक वाम लोकतांत्रिक मोर्चा बनाने की बात कही गई थी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

हरिद्वार जिला जेल से मिली ये जानकारी आपको चौंका देगी

उत्तराखंड से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल हरिद्वार जिला जेल में 16 कैदी एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं।

24 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper