बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

सोने का लालच देकर महिला से ठगी

अमर उजाला ब्यूरो प्रतापगढ़ Updated Thu, 10 Mar 2016 12:08 AM IST
विज्ञापन
पुलिस के मुताबिक हमीरपुर के सनेडी निवासी देशराज (35) पिछले तीन सालों से बागवानियां के पास नालका गांव में किराये के मकान में रहता था। देशराज यहां पर अकेले रहता था तथा उसकी पत्नी और एक बच्ची भी है जो उसके गांव में रहती है। दिन में जूते का कारोबार करने के अलावा वह सुबह शाम कबाड़ का कार्य भी करता था।   नालका गांव में मिला था शव- 5 मार्च को कुछ लोगों ने देशराज का शव नालका गांव के जाने वाले रास्ते से कुछ दूर खेत में पड़ा देखा। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची ओर शव को कब्जे में लिया। सनेड़ पंचायत के प्रधान धरेंद्र सिंह ने बताया कि देशराज 2 मार्च से लापता था। हर रोज बागवानियां अपने काम पर आता था। लेकिन जब दो दिन से नहीं दिखाई दिया तो उसके परिचित लोगों ने उसकी खोजबीन की जिस पर उन्हें इसका शव खेतों में मिला। पंचायत प्रधान ने बताया कि मृतक व्यक्ति शराब पीने का भी आदी था।
पुलिस के मुताबिक हमीरपुर के सनेडी निवासी देशराज (35) पिछले तीन सालों से बागवानियां के पास नालका गांव में किराये के मकान में रहता था। देशराज यहां पर अकेले रहता था तथा उसकी पत्नी और एक बच्ची भी है जो उसके गांव में रहती है। दिन में जूते का कारोबार करने के अलावा वह सुबह शाम कबाड़ का कार्य भी करता था। नालका गांव में मिला था शव- 5 मार्च को कुछ लोगों ने देशराज का शव नालका गांव के जाने वाले रास्ते से कुछ दूर खेत में पड़ा देखा। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची ओर शव को कब्जे में लिया। सनेड़ पंचायत के प्रधान धरेंद्र सिंह ने बताया कि देशराज 2 मार्च से लापता था। हर रोज बागवानियां अपने काम पर आता था। लेकिन जब दो दिन से नहीं दिखाई दिया तो उसके परिचित लोगों ने उसकी खोजबीन की जिस पर उन्हें इसका शव खेतों में मिला। पंचायत प्रधान ने बताया कि मृतक व्यक्ति शराब पीने का भी आदी था।
ख़बर सुनें
महिला को सोने का लालच देकर ठगने वाले एक जालसाज को पब्लिक ने धर दबोचा। जबकि उसके दो साथी भागने में कामयाब रहे। पुलिस ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया। कंधई थाना क्षेत्र के पिपरी खालसा निवासी चंपा देवी पत्नी राम सेवक मंगलवार को शहर में किसी काम से आई थी। टेंपो से वह ट्रेजरी चौराहे के करीब उतरी। तभी तीन लोगों ने उसे रोक लिया और जानकारी लेने लगे। एक व्यक्ति ने उससे कहा कि उसके पास सोने का बिस्किट हैं। जिसकी कीमत एक लाख रुपये है। 50 हजार रुपये देने पर सोने का बिस्किट उसे मिल सकता है। यह सुनते ही चंपा देवी लालच में आ गई। उसने अपने कान की बाली और पांच हजार रुपये उन लोगों को थमा दिया। इसके एवज में जालसाजों ने कपड़े में पैक किया टुकड़ा चंपा को थमा दिया।
विज्ञापन


इसके बाद वे भंगवाचुंगी की ओर निकल भागे। वहां से हटकर चंपा ने पैकेट खोला तो उसका माथा ठनक गया। पैकेट में सोने के बिस्किट की जगह कागज के बंडल थे। वह शोर मचाते हुए उनके पीछे भागी। इस बीच एक व्यक्ति को धर दबोचा। उसके पास से ढाई हजार रुपये भी बरामद हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की। उसने अपना जुर्म मान लिया। उसके दो फरार साथियों को पुलिस तलाशती रही लेकिन वे नहीं मिले। जालसाजी में पकड़ा गया जमुना प्रसाद निवासी आलापुर थाना मछलीशहर जौनपुर का रहने वाला है। दूसरे मामले में कोतवाली पुलिस ने शहर में देवकली की रहने वाली मीना सिंह की चेन छीनने के मामले में पकड़े गए आलोक सिंह उर्फ गोलू निवासी कटरा रोड भुआलपुर व दिनेश सरोज निवासी पूरे ओझा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

  • Downloads

Follow Us