विज्ञापन
विज्ञापन

सावन के हर सोमवार पर बनेगा विशेष योग, जानें किस दिन की पूजा से मिलेगा कौन सा फल

पं. धनंजय दुबे, ज्योतिषाचार्य Updated Mon, 22 Jul 2019 07:08 AM IST
सावन सोमवार पूजा शुभ मुहूर्त
सावन सोमवार पूजा शुभ मुहूर्त
ख़बर सुनें
इस वर्ष सावन मास में चार सोमवार पड़ेंगे, जो बहुत ही अद्भुत संयोग है। सावन में दो सोमवार कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष में पंचमी तिथि को रहेगा। इनमें से दो सोमवार के साथ प्रदोष व्रत का भी संयोग बनेगा। कृष्ण पक्ष में और शुक्ल पक्ष में पंचमी तिथि में सोमवार होने से भगवान शिव की पूजा बेलपत्र और दूध से अभिषेक करने से किसी भी तरह का दोष समाप्त होता है। रोगों से छुटकारा मिलता है, पितृदोष से मुक्ति मिलती है और रोजगार से सम्बंधित बाधाओं में समाधान मिलता है।
विज्ञापन
सारी इच्छाओं को पूरा करने के लिए इस सावन बाबा बैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक। अभी आर्डर करें।  (विज्ञापन)

सोम प्रदोष व्रत का महत्व 

सोम प्रदोष में भगवान शिव का अभिषेक रुद्राभिषेक और उनका श्रृंगार करने का बहुत ही महत्व है। सोम प्रदोष वाले दिन महादेव की पूजा अर्चना से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। लड़का या लड़की की शादी-विवाह की अड़चनें दूर होती है। संतान की इच्छा रखने वाले लोगों को इस दिन पंचगव्य से महादेव का अभिषेक करना चाहिए। जिन्हें  लक्ष्मी प्राप्ति और कारोबार मे सफलता की कामना हो, उन्हें दूध से अभिषेक करने के बाद शिवलिंग पर फूलों की माला अर्पित करनी चाहिए। इस पूजा से उन्हें प्रत्येक काम में सफलता प्राप्त होगी। 

सावन का पहला सोमवार
इस सावन में चारों सोमवार अति विशेष है। सोमवार का व्रत करते हुए महादेव की पूजा आराधना करने से कल्याणकारी होगा। सावन का प्रथम सोमवार 22 जुलाई को है। इस दिन रुद्राभिषेक करने से संतान सुख में बाधा नहीं आती है। जिन लोगों की कुंडली में पितृदोष या कालसर्प योग है, उन्हें इस पूजन से शांति मिलेगी। 

सारी इच्छाओं को पूरा करने के लिए इस सावन बाबा बैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक। अभी आर्डर करें।  (विज्ञापन)

सावन का दूसरा सोमवार
सावन मास को दूसरा सोमवार 29 जुलाई को है। इस दिन सोम प्रदोष व्रत भी रहेगा। इस दिन के रुद्राभिषेक से मानसिक अशांति, गृह क्लेश और स्वास्थ्य संबंधी चिंता दूर हो जाएगी। 

सावन का तीसरा सोमवार
तीसरा सोमवार अद्भुत मुहूर्त में आ रहा है जो कि पांच अगस्त को पड़ेगा। यह दिन सावन के श्रेष्ठ मुहूर्तों में एक है। इस दिन पूर्णा तिथि है। सोम का नक्षत्र हस्त भी विद्यमान है और सिद्धि योग के साथ-साथ वर्ष की श्रेष्ठ पंचमी यानी नाग पंचमी भी है।

सावन का चौथा सोमवार
सावन का चौथा और अंतिम सोमवार 12 अगस्त को है। इस दिन भी सोम प्रदोष व्रत है। इस दिन शिव-पार्वती साथ-साथ पृथ्वी पर विचरण करेंगे। अत: इस दिन रुद्राभिषेक करने से सारे मनोरथ सफल होंगे। 

सारी इच्छाओं को पूरा करने के लिए इस सावन बाबा बैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग में कराएं रुद्राभिषेक। अभी आर्डर करें।  (विज्ञापन)

क्या सफलता आपसे है कोसों दूर? ज्योतिषीय समाधान के लिए यहां क्लिक करें

विज्ञापन

Recommended

डिजिटल मीडिया में करियर की संभावनाओं पर नि:शुल्क काउंसलिंग का आयोजन
TAMS

डिजिटल मीडिया में करियर की संभावनाओं पर नि:शुल्क काउंसलिंग का आयोजन

घर बैठे इस पितृ पक्ष गया में पूरे विधि-विधान एवं संकल्प के साथ कराएं श्राद्ध पूजा, मिलेगी पितृ दोषों से मुक्ति
Astrology Services

घर बैठे इस पितृ पक्ष गया में पूरे विधि-विधान एवं संकल्प के साथ कराएं श्राद्ध पूजा, मिलेगी पितृ दोषों से मुक्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स, परामनोविज्ञान समाचार, स्वस्थ्य संबंधी योग समाचार, सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Festivals

Vishwakarma Puja 2019: विश्वकर्मा पूजा आज, जानें महत्व, पूजा विधि, सामग्री, मंत्र और शुभ मुहूर्त

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार दुनिया के सबसे पहले इंजीनियर और वास्तुकार भगवान विश्वकर्मा के जन्मदिन को विश्वकर्मा जयंती के रूप में मनाने की प्रथा चली आ रही है।

17 सितंबर 2019

विज्ञापन

ट्रायल के दौरान कर्नाटक में क्रैश हुआ डीआरडीओ का यूएवी रुस्तम 2

डीआरडीओ का एक अनमैन्ड एरियल व्हीकल (UAV) रुस्तम 2 कर्नाटक में क्रैश हो गया। ये हादसा ट्रायल के दौरान हुआ।

17 सितंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree