विज्ञापन

वीडियो: ज्योतिका बोली, सरकार मदद करे तो ओलंपिक से लाऊंगी पदक

विपिन काला, अमर उजाला, शिमला Updated Sun, 02 Sep 2018 05:10 PM IST
Fencing player jyotika dutta interview
विज्ञापन
ख़बर सुनें
राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश के लिए कई मेडल जीत चुकीं ज्योतिका दत्ता खुद को उपेक्षित महसूस कर रही हैं। उनका कहना है प्रदेश सरकार से उन्हें न तो किसी तरह की वित्तीय मदद जा रही है और न ही खेल कोटे में नौकरी की व्यवस्था की गई है। सरकार मदद करे तो वे ओलंपिक में देश के लिए मेडल लाएंगी।
विज्ञापन
इंडोनेशिया के जकार्ता में हुए एशियन गेम्स में हालांकि तलवारबाजी में वे कोई मेडल नहीं जीत पाईं, लेकिन अपनी रैंकिंग में जरूर सुधार किया है। इस बार उनकी रैंकिंग 10 से छठे स्थान पर पहुंच गई है। ज्योतिका शिमला जिले के रोहड़ू के बनछूना गांव की रहने वाली हैं। 

देखें वीडियो


अमर उजाला से बातचीत में उन्होंने कहा कि ओलंपिक में पदक लाना उनका लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि आज तक प्रोत्साहन के नाम पर प्रदेश सरकार से उन्हें कुछ नहीं मिला है। 

ज्योतिका ने कहा कि वे महाराष्ट्र के सोलापुर में वरिष्ठ वर्ग के राष्ट्रीय मुकाबले में स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं। जू्नियर कॉमनवेल्थ मुकाबले में रजत पदक जीता है। वरिष्ठ वर्ग में रजत और कांस्य पदक जीते हैं। एशियन मुकाबलों में ज्योतिका एशिया रैंकिंग में नंबर वन हांगकांग की कांग से क्वार्टर फाइनल में हारी थीं।

इससे पहले ज्योतिका में इंडोनेशिया, कजाकिस्तान, फिलिपिंस, कोरिया और लेबनान के खिलाड़ियों को लीग वन में हराया था। वर्तमान में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पोर्ट्स पटियाला में प्रशिक्षण ले रही हैं। 

अपने खर्च पर बार-बार नहीं जा सकते खिलाड़ी
ज्योतिका दत्ता कहती हैं कि केंद्र सरकार साल में दो बार अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में हिस्सा लेने के लिए भेजती है, जबकि अन्य देशों के खिलाड़ी साल में आठ से दस मुकाबले खेलने जाते हैं। उन्हें विदेशों में खेलने के कम मौके मिलते हैं। खिलाड़ी अपने खर्च पर बार-बार नहीं जा सकते।

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु की खिलाड़ी भवानी देवी को वहां की सरकार वित्तीय मदद के साथ कई प्रकार की सुविधाएं देती है। उनका कहना है कि विदेशी कोचों से प्रशिक्षण की व्यवस्था हो तो वे अपने प्रदर्शन में और सुधार कर सकती हैं। सरकार नौकरी में उनके लिए खेल कोटे में कोई आरक्षण नहीं देती है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

चिराग ने रंगून में भारत के लिए जीता सिल्वर मेडल

वुशू खेल के तालू स्पर्धा के द्वितीय विश्व कप में भारतीय टीम के खिलाड़ी चिराग शर्मा ने बेहतर खेल का प्रदर्शन कर भारत को सिल्वर मेडल दिलाया है।

20 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

शाहरुख खान के बेटे अबराम को मीडिया पर आया गुस्सा, देखिए चिल्लाकर क्या बोले

बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान के बेटे अबराम बॉलीवुड के सबसे पॉपुलर स्टार किड्स में से एक है। इन दिनों अबराम का एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है जिसमें दिख रहा है कि वो फोटोग्राफर्स से तंग आकर उन पर चिल्ला पड़ते हैं।

21 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree