लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Bashindey ›   Post Rajnath's approval, military officers, jawans to get bigger, furnished houses, multilevel parking

पहल: सेना के अफसरों और जवानों को मिलेंगे बड़े सुसज्जित घर और मल्टीलेवल पार्किंग, रक्षा मंत्री राजनाथ ने लगाई मुहर 

एएनआई, नई दिल्ली Published by: Amit Mandal Updated Sat, 14 May 2022 06:20 PM IST
सार

अधिकारियों ने कहा कि सरकार द्वारा स्वीकृत आवास के नए पैमानों से निश्चित रूप से सैन्य कर्मियों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार होगा जब इसे लागू करना शुरू हो जाएगा। 

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : istock
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

आवास के नए पैमाने के लिए रक्षा मंत्रालय की मंजूरी के बाद सैन्य अधिकारियों और जवानों को बेहतर और बड़े सुसज्जित घर मिलेंगे जो नवीनतम राष्ट्रीय मानकों के साथ बनाए जाएंगे। भारतीय सेना के अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए एएनआई को बताया कि इस सप्ताह की शुरुआत में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मंजूरी के साथ सैन्य कर्मियों के लिए नई आवास परियोजनाओं में बहु-स्तरीय पार्किंग सुविधाएं, बहुउद्देश्यीय इनडोर कोर्ट, घरों में 10 प्रतिशत अधिक प्लिंथ क्षेत्र और आवासों में अधिक विद्युत प्वाइंट दिए जाएंगे जो मौजूदा समय की जरूरतों को पूरा करेंगे। 



आवास के नए पैमानों को 13 साल बाद मंजूरी मिली
उन्होंने कहा कि आवास के नए पैमानों को 13 साल बाद मंजूरी मिली है क्योंकि पिछली समीक्षा 2009 में ही की गई थी और तब से सभी कर्मियों और उनके परिवारों की जीवन शैली में काफी बदलाव आया है। अधिकारियों ने कहा कि सरकार द्वारा स्वीकृत आवास के नए पैमानों से निश्चित रूप से सैन्य कर्मियों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार होगा जब इसे लागू करना शुरू हो जाएगा। 


नए पैमानों के तहत सैन्य इंजीनियरिंग सेवाएं, जो तीनों रक्षा बलों की निर्माण शाखा है और इंजीनियर-इन-चीफ की अध्यक्षता में भारतीय तट रक्षक बिजली की जरूरतों को पूरा करने के लिए पवन, सौर, भूतापीय ऊर्जा नवीकरणीय स्रोतों का उपयोग करेंगे। सैन्य कर्मियों के आवासीय क्षेत्रों को अतिरिक्त बास्केटबॉल और वॉलीबॉल कोर्ट के साथ नए इनडोर खेल परिसर भी मिलेंगे।

एमईएस अब मॉड्यूलर किचन के साथ घर भी बनाएगी
एमईएस अब मॉड्यूलर किचन के साथ घर भी बनाएगी और सभी विवाहित आवासों में लगेज स्टोरेज स्पेस का भी विस्तार किया जाएगा। दीवारों, छत और फर्श की फिनिशिंग भी अधिक सौंदर्यपूर्ण ढंग से की जाएगी। मिलिट्री इंजीनियर सर्विसेज (एमईएस) भारतीय सेना के कोर ऑफ इंजीनियर्स के स्तंभों में से एक है जो सशस्त्र बलों और रक्षा मंत्रालय (एमओडी) के संबद्ध संगठनों को रियर लाइन इंजीनियरिंग सहायता प्रदान करता है।

एमईएस सीमावर्ती क्षेत्रों सहित देश भर में सैन्य स्टेशनों/छावनियों जैसे आवासीय और कार्यालय भवनों, अस्पतालों, सड़कों, रनवे और समुद्री संरचनाओं के लिए विविध निर्माण गतिविधियों को अंजाम देता है। पारंपरिक भवनों के अलावा, एमईएस जटिल प्रयोगशालाओं, कारखानों, कार्यशालाओं, हैंगर, गोला-बारूद भंडारण सुविधाओं, डॉकयार्ड, जेटी/घाटों और अन्य परिसरों/विशेष संरचनाओं के निर्माण में भी शामिल है।  

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00