विज्ञापन

दम दिखाने मलयेशिया जाएंगी बास्केटबाल खिलाड़ी बबिता

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शिमला Updated Mon, 03 Sep 2018 07:51 PM IST
asia pacific masters games, babita hamirpur, basketball player hp
ख़बर सुनें
एशिया पेसिफिक मास्टर गेम्स-2018 के लिए हमीरपुर की बबिता का चयन हुआ है। झनयारी बीट वन मंडल हमीरपुर में फॉरेस्ट गार्ड तैनात बबिता बास्केटबाल खिलाड़ी हैं। कई पदक जीत चुकी हैं। बबिता मलयेशिया में 5 से 15 सितंबर तक होने वाले मुकाबलों में हिस्सा लेने जाएंगी। 
विज्ञापन
विज्ञापन
वे वनरक्षक के रूप में 35 गांवों का जिम्मा संभाले हैं। उन्होंने पटियाला से बीपीएड और शिमला से एमपीईएड की डिग्री हासिल की है। फरवरी 2018 को चंडीगढ़ में मास्टर गेम्स फेडरेशन के आयोजित खेल मुकाबलों में भी हिस्सा लिया।

इससे पहले एमसीएम डीएवी कॉलेज चंडीगढ़ में आल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी बास्केटबाल मुकाबलों में भाग लिया और गोल्ड मेडल जीता। बबिता चंडीगढ़ बास्केटबाल फेडरेशन, अखिल भारतीय फारेस्ट चैंपियनशिप में भी खेल चुकी हैं और स्वर्ण पदक जीता है।  

मास्टर गेम फेडरेशन के राष्ट्रीय महासचिव विनोद कुमार, प्रदेश मास्टर एथलेटिक्स एसोसिएशन के संरक्षक सरदार सिंह ठाकुर, महासचिव तेजस्वी  शर्मा, रविंद्र कुमार और प्रेस सचिव मनोज कंवर ने बबिता को भारतीय टीम में शामिल करने पर बधाई दी। 

Recommended

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से
ज्योतिष समाधान

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से
ज्योतिष समाधान

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Shimla

सूबेदार वीरेंद्र कुमार को मिस्टर हिमाचल का खिताब

भारतीय सेना में सूबेदार और बॉडी बिल्डर वीरेंद्र कुमार उर्फ वीरू ने एक फिर बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में विजेता का खिताब जीता है।

20 मार्च 2019

विज्ञापन

भीड़ पत्थर बरसाती रही और इंदिरा गांधी भाषण देती रहीं

1967 के आम चुनाव से पहले इंदिरा गांधी चुनाव प्रचार करने ओडिशा पहुंची थीं। तब ओडिशा स्वतंत्र पार्टी का गढ़ हुआ करता था। जैसे ही इंदिरा ने यहां चुनावी रैली को संबोधित करना शुरू किया। वहां मौजूद भीड़ ने उन पर पत्थरों की बरसात शुरू कर दी।

22 मार्च 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree