बचपन में मां से इस वजह से रूठ जाती थीं ताहिरा कश्यप, 'लॉकडाउन टेल्स' के जरिए दे रही हैं खास संदेश

अमर उजाला ब्यूरो, मुंबई Published by: shrilata biswas Updated Sun, 10 May 2020 06:19 PM IST
ताहिरा कश्यप
1 of 5
विज्ञापन
आयुष्मान खुराना की पत्नी ताहिरा कश्यप लाखों लोगों के लिए प्रेरणास्रोत हैं। एक लेखक, प्रोफेसर और थियेटर डायरेक्टर के साथ ही उनकी पहचान एक कैंसर सर्वाइवर के तौर पर भी है। उन्होंने अपनी जिंदगी से लेकर अपनी रचनाओं से लोगों को प्रोत्साहित किया है। इन दिनों लॉकडाउन के दौरान चारदीवारी में कैद होने के बावजूद वह एक रोचक ढंग से अपने फैंस से जुड़ी हुई हैं। दरअसल ताहिरा इन दिनों अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लोगों के लिए 'लॉकडाउन टेल्स' नामक कहानियों की सीरीज लेकर आ रही हैं। अंतरराष्ट्रीय मदर्स डे के मौके पर भी उन्होंने रिश्तों से जुड़ी कहानी 'डेट नाइट' साझा की और सभी को इस खास दिन की शुभकामनाएं दी।  
ताहिरा कश्यप
2 of 5
ताहिरा ने अपने इस 'लॉकडाउन टेल्स' की शुरुआत तीन अप्रैल से की थी। इस सीरीज की उनकी पहली कहानी का नाम 'छह फुट दूर' था। जिसके बाद उन्होंने 'नमक कम है', 'चॉकलेट आइसक्रीम', 'टिक टॉक', 'द फोन कॉल', 'द ऑरेंज ट्री', 'हाईवे', 'लिव इन', 'कोविड पॉजिटिव' और नवीनतम 'डेट नाइट' जैसी कहानियां साझा की हैं। 
विज्ञापन
विज्ञापन
ताहिरा कश्यप
3 of 5
अपनी इन कहानियों को लेकर ताहिरा कहती हैं, 'मैं ईमानदारी और दिल से यह सब लिखती हूं। आश्चर्य की बात यह है कि मैं इससे पहले कभी भी मानव भाव से इतना ज्यादा जुड़ी हुई नही थी, जितना इस तरह से लॉकडाउन के समय में जुड़ गई हूं लेकिन यही मानवता है। जो भी चीजें हैं वह अपना रास्ता खुद ही ढूंढ़ लेती हैं और मुझे पूरी उम्मीद है कि मैं लोगों तक ये अपनी कहानियों के जरिए पहुंचा रही हूं।'
View this post on Instagram

Are relationships just one dimensional? Is there always a giver and a receiver in a relationship or can the equation be reversed too? What are stereotypes? Is the general perception of our being, our roles in society, in a family... that leads to the definition of stereotype? And does every story need to have the traditional beginning, middle and end? Can’t it be just a moment? A thought? An experience? Aaah too many questions...this lockdown tale is too simple to answer these complex questions...but hey , like relationships this too might not just be one dimensional...perhaps there’s more to it...perhaps it’s understated...perhaps you can figure out! Let me know! Written and narrated by: me🤓 Packaged by: @packuppictures #thelockdowntales #datenight #stories #internationalmothersday #mothersday #lockdown

A post shared by tahirakashyapkhurrana (@tahirakashyap) on

ताहिरा कश्यप
4 of 5
वहीं मदर्स डे को लेकर ताहिरा ने अपने अनुभव साझा किए। उन्होंने बताया, 'मेरी मां (अनीता कश्यप) एक रॉकस्टार हैं। मुझे लगता है कि सभी अपनी मां के प्रति ऐसा ही सोचते हैं, क्योंकि मां हमें बहुत कुछ देती हैं। अपनी पूरी जिंदगी बदल देती हैं ताकि वह अपने बच्चे को एक बेहतर माहौल दे सकें। मैं अपने आपको खुशनसीब मानती हूं कि मुझे भी ऐसी ही परवरिश मिली है।' 
विज्ञापन
विज्ञापन
ताहिरा कश्यप
5 of 5
ताहिरा आगे बताती हैं, 'मेरे माता-पिता दोनों ही काम करते थे। मेरी मां एक शिक्षाविद थीं। ऐसे बहुत मौके आए जब वह मेरे पास नहीं रहती थीं। मैं सोचा करती थी कि मेरी मां मेरे पास अपनी जॉब के कारण नहीं हैं। जिसके चलते मैं उनसे असंतोष भी जाहिर करती थी। लेकिन अब मेरा दिल उनके प्रति आभार से भर गया है क्योंकि अब मुझे एहसास हो गया है कि कामकाजी मां की जिंदगी काफी चुनौतीपूर्ण होती है। वह मेरी जिंदगी की प्रेरणस्रोत हैं।'

मदर्स डे पर करीना ने शेयर की बेटे संग 'क्यूट सेल्फी', बताया तैमूर के साथ हर दिन ऐसा ही होता है
 
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें मनोरंजन समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। मनोरंजन जगत की अन्य खबरें जैसे बॉलीवुड न्यूज़, लाइव टीवी न्यूज़, लेटेस्ट हॉलीवुड न्यूज़ और मूवी रिव्यु आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00