जरूरत की खबर: ट्रेन टिकट बुक करते समय न भूलें यह छोटा सा काम, मिलता है जबरदस्त फायदा

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: सोनू शर्मा Updated Thu, 28 Oct 2021 05:03 PM IST
प्रतीकात्मक तस्वीर
1 of 5
विज्ञापन
ट्रेन में सफर करना जितना आसान और सुविधाजनक है, उतना ही यह फायदेमंद भी है। रेलवे अपने यात्रियों को कई तरह की सुविधाएं देता है, जिसमें से एक इंश्योरेंस भी है। आमतौर पर जब लोग किसी कंपनी का इंश्योरेंस लेते हैं तो उसके लिए भारी-भरकम प्रीमियम भरते हैं, लेकिन रेलवे की इंश्योरेंस सुविधा बेहद ही सस्ती है। जब भी आप ऑनलाइन ट्रेन टिकट बुक करते हैं तो आपने ध्यान दिया होगा कि नीचे 49 पैसे के एक ऑप्शन पर भी क्लिक करने के लिए कहा जाता है। अक्सर लोग उस ऑप्शन पर क्लिक तो कर देते हैं, लेकिन उसके बारे में जानते नहीं कि आखिर वो पैसे किस वजह से कट रहे हैं, उसका क्या फायदा होगा। दरअसल, इस मामूली से पैसे से रेलवे यात्रियों को लाखों रुपये का ट्रेवल इंश्योरेंस देता है, जिसमें यात्रा के दौरान चोरी से लेकर ट्रेन एक्सीडेंट तक, सब शामिल होता है। 
प्रतीकात्मक तस्वीर
2 of 5
आपको जानकर हैरानी होगी कि महज 49 पैसे के इस छोटे से अमाउंट में रेलवे की ओर से 10 लाख रुपये तक का ट्रेवल इंश्योरेंस मिलता है। अगर सफर के दौरान कोई दुर्घटना हो जाती है तो इंश्योरेंस का फायदा यात्री या उसके परिवार को मिलता है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
प्रतीकात्मक तस्वीर
3 of 5
आईआरसीटीसी के मुताबिक, 10 लाख रुपये के ट्रेवल इंश्योरेंस का फायदा सिर्फ उन्हीं यात्रियों को मिलता है, जिनकी टिकट कंफर्म या आरएसी (RAC) होती है। अगर आपकी टिकट वेटिंग लिस्ट में है तो ट्रेवल इंश्योरेंस का फायदा नहीं उठा सकते हैं। इसके अलावा पांच साल से कम उम्र के बच्चों को इसका फायदा नहीं मिलता है। 
प्रतीकात्मक तस्वीर
4 of 5
दरअसल, जब टिकट बुक हो जाता है तो यात्रियों के मोबाइल नंबर पर एसएमएस या ईमेल या दोनों के माध्यम से नॉमिनी डिटेल भरने के लिए एक लिंक आता है। उस लिंक पर क्लिक करके यात्रियों को नॉमिनी की जानकारी भरनी होती है और सबमिट करना होता है। तभी ट्रेवल इंश्योरेंस का फायदा नॉमिनी को मिल पाता है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
प्रतीकात्मक तस्वीर
5 of 5
अब बात करते हैं कि ट्रेवल इंश्योरेंस का क्लेम किस हिसाब से मिलता है? तो दरअसल, इसे पांच वर्गों में बांटा गया है। अगर ट्रेन दुर्घटना में यात्री की मौत हो जाती है या स्थाई विकलांगता की स्थिति में 10 लाख रुपये, आंशिक विकलांगता की स्थिति में 7.50 लाख रुपये का क्लेम मिलता है। वहीं, घायल होने के बाद अस्पताल में भर्ती होने पर दो लाख रुपये का क्लेम मिलता है। इसके अलावा चोरी, डकैती के तहत भी ट्रेवल इंश्योरेंस की कवरेज मिलती है। 
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00