बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

फर्जी प्रमाणपत्र बनाने में खानी पड़ी जेल की हवा

ब्यूरो/चंपावत Updated Wed, 01 Apr 2015 10:52 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
फर्जी प्रमाणपत्रों के आधार पर उपनल में नौकरी चाहने की आस लगाए एक युवक को जेल की हवा खानी पड़ी है। नगर के एससी वर्ग के अजय नामक युवक ने ओबीसी प्रमाण पत्र बनाने के लिए तहसीलदार को प्रार्थनापत्र दिया था। जिस पर तहसीलदार हर सिंह रजवार ने परिवार के अन्य सदस्यों के बने ओबीसी प्रमाण पत्र को संलग्न करने को कहा। इस पर युवक ने अपने भाई का ओबीसी प्रमाण पत्र संलग्न किया, जिसकी जांच करने पर पाया गया कि उसका क्रमांक टनकपुर तहसील से जारी किया गया था।
विज्ञापन


युवक ने बड़ी सफाई के साथ स्के न कर उसे वास्तविक प्रमाण पत्र का रूप दिया था। तहसीलदार ने प्रमाण पत्र की जांच कराने के बाद उसे फर्जी पाया। बाद में युवक के विरुद्ध थाने में प्राथमिकी दर्ज कर दी। पुलिस ने युवक के विरुद्ध आईपीसी की धारा 467, 468, 471 और 420 के तहत मामला दर्ज कर युवक को न्यायालय में पेश किया गया, जहां मजिस्ट्रेट ने उसे 14 दिन की रिमांड पर जेल भेज दिया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us