विज्ञापन

सीबीआई ने विधायक के तीन करीबियों से की पूछताछ

unnao Updated Wed, 23 May 2018 11:30 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
उन्नाव। भाजपा विधायक कुलदीप सिंह प्रकरण में सीबीआई ने अब करीबियों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। बुधवार को सीबीआई ने विधायक के एक खास जनप्रतिनिधि सहित तीन लोगों को लखनऊ सीबीआई मुख्यालय तलब कर कई घंटे पूछताछ की। सीबीआई ने माखी थाने के कुछ पुलिसकर्मियों से भी किशोरी के पिता के साथ हुई मारपीट के मुकदमे की जानकारी जुटाई। सीबीआई का शिकंजा करीबियों पर कसने से उनके खास लोगों में खलबली मच गई है।
विज्ञापन
भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर मामले में पिछले दिनों सीबीआई की ओर से किशोरी के पिता से मारपीट व हत्या के मुकदमे में पूछताछ के लिए एक साथ कई लोगों को नोटिस देने के बाद से कयास लगाए जाने लगे थे कि जांच एजेंसी के अधिकारी जल्द ही विधायक के करीबियों से पूछताछ कर सकते हैं। सीबीआई ने पूछताछ की कड़ी में विधायक के दो सबसे खास लोगों को पूछताछ के लिए दो दिन पूर्व तलब किया था। इसके अलावा एक जनप्रतिनिधि को अपना पक्ष रखने को कहा गया था। बुधवार को सीबीआई ने पीड़िता की बड़ी बहन, मां व मारपीट की घटना के दिन किशोरी के पिता के साथ दिल्ली से आए उसके साथी से घटना की बिंदुवार जानकारी ली। किशोरी के चाचा के वाहन चालक से जून 2017 की घटना में बयान दर्ज किए गए। अगवा की गई किशोरी की तलाशी का दबाव पड़ने पर माखी थाना पुलिस के लिए किशोरी के चाचा ने अपनी गाड़ी भेजी दी थी। गाड़ी चाचा का ड्राइवर चला रहा था। किशोरी के पिता की हत्या के मामले में विधायक के तीन करीबियों से अलग-अलग पूछताछ की गई। सीबीआई ने किशोरी के पिता के साथ हुई मारपीट व उस पर दर्ज कराए गए मुकदमों के संबंध में सवाल किए। माखी थाने के उन पुलिस कर्मियों से भी पूछताछ की गई जो मुकदमा लिखे जाने के समय थाने में मौजूद थे। सूत्रों के अनुसार सीबीआई जल्द ही कुछ और करीबियों को पूछताछ के लिए तलब कर सकती है।
इनसेट
कल होगी विधायक और शशि की तलबी पेशी
पॉक्सो एक्ट कोर्ट में चल रहे मुकदमे में विधायक सेंगर और सह आरोपी शशि सिंह की तलबी पेशी के लिए 25 मई तय है। माना जा रहा है कि तलबी पेशी से पहले ही मुकदमा पॉक्सो कोर्ट उन्नाव से लखनऊ सीबीआई कोर्ट ट्रांसफर हो जाएगा। अगर ऐसा नहीं हुआ तो सीबीआई विधायक को कोर्ट ला कर या सीतापुर जेल से ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पेशी करा सकती है। सीतापुर जेल में बंद विधायक की तबियत खराब होने से न्यायाधीश ने जेल अधीक्षक के आग्रह पर पिछली तलबी पेशी माफ कर दी थी। सह आरोपी शशि सिंह को सीतापुर से यहां कोर्ट में पेशी पर लगाया गया था।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

अतिक्रमण पर 30 दुकानदारों का चालान

शहर में फैले अतिक्रमण के खिलाफ बुधवार को ट्रैफिक पुलिस व नगर पालिका ने संयुक्त अभियान चलाया।

14 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

मध्यप्रदेश चुनावः अखबार बेचने वाले बच्चे ने खोली नेताओं की पोल

सत्ता का सेमीफाइनल के तहत अमर उजाला डॉट कॉम का चुनावी रथ राजनीतिक हालातों का जायजा लेने मध्यप्रदेश पहुंचा हुआ है। लोगों से राय लेने के दौरान हमने एक बच्चे से भी कुछ जानना चाहा। आइए देखते हैं बच्चे ने नेताओं के लिए क्या कहा...

12 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree