पति ने मायके जाने से रोका तो मासूम बेटी को पटक कर मार डाला

टीम डिजिटल/अमर उजाला, दिल्ली Updated Fri, 10 Jun 2016 03:17 PM IST
विज्ञापन
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
उत्तर प्रदेश में बागपत जिले के बबराला/धनारी थाना क्षेत्र के गढ़ा गांव में बुधवार की शाम पति ने मायके जाने से मना किया तो गुस्से में आगबबूला पत्नी ने अपनी चार माह की दुधमुंही बेटी को जमीन पर पटक कर मार डाला। इसके बाद उसने पलटकर नहीं देखा कि बच्ची का क्या हाल है।
विज्ञापन

सीधे पति और ससुराल वालों के खिलाफ तहरीर लिखाने थाने पहुंच गई। तफ्तीश को पहुंची पुलिस को हकीकत का पता चला तो वह भी सकते में रह गई। पति की तहरीर पर पत्नी, साले और ससुर के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कराया गया है।
गढ़ा गांव निवासी ब्रजपाल सिंह यादव के पुत्र मुकेश यादव की शादी साढ़े चार साल पहले ही रजपुरा थाने के हिरौनी गांव के महाराज सिंह की बेटी सुनीता के साथ हुई थी। सुनीता को ससुराल से ज्यादा मायके में रहना पसंद था। इसमें उसके माता-पिता भी रजामंदी शामिल थी। सुनीता के तीन साल का बेटा है। चार महीने पहले उसने एक बेटी (ज्योति) को जन्म दिया था।
छह महीने मायके में रहने के बाद लगभग पंद्रह दिन पहले मुकेश उसे अपने घर लाया था। दो-तीन दिन बाद वह फिर मायके जाने की जिद करने लगी। सुनीता के पिता महाराज सिंह, भाई सतीश कुमार उसे लेने के लिए बुधवार को गढ़ा पहुंचे।

पति मुकेश व उसके पिता ब्रजपाल सिंह ने कुछ दिन सुनीता को यहीं रहने देने को कहा लेकिन वे नहीं माने। घर से बाहर निकल गए। पति व ससुर ने रोकना चाहा तो पिता व भाई ने कहा कि बेटी को फेंक और चल मेरे साथ। इतना सुनते ही सुनीता ने दुधमुंही बेटी को सड़क पर फेंक दिया और अपने भाई व पिता के साथ बाइक पर बैठकर चली गई।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

'जो तू कहेगी, हम वही करेंगे लेकिन मायके मत जा'

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us