विज्ञापन

स्वच्छता का पाठ पढ़ा रहे हैं लखनऊ यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स, बदल दी है इस गांव की सूरत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Fri, 07 Sep 2018 04:30 PM IST
ग्रामीणों को स्वच्छता का महत्व समझाती छात्राएं
ग्रामीणों को स्वच्छता का महत्व समझाती छात्राएं - फोटो : amar ujala
ख़बर सुनें
शासन प्रशासन के साथ ही युवा पीढ़ी भी स्वच्छता को लेकर काफी गंभीर है। ऐसी ही नजीर पेश की है लखनऊ विश्वविद्यालय के छात्रों ने, जिन्होंने केंद्र सरकार री स्वच्छ भारत समर-इंटर्नशिप से जुड़कर गांव में स्वच्छता अभियान की शुरुआत की। आज गांव की सूरत बिल्कुल बदल गई। कहीं कचरे के ढेर, कूड़ा नजर नहीं आता। ग्रामीण भी स्वच्छता को लेकर जागरूक हुए तो प्रधान ने गांव में नियमित सफाई की शुरूआत कराई। 
 
युवा शक्ति किसी काम को करने की ठान लें तो उसे हर संभव पूरा करती है, फिर चाहे जितनी रुकावटें आईं। ऐसा ही कर दिखाया लखनऊ विश्वविद्यालय के परास्नातक विद्यार्थियों ने, जिन्होंने गंदगी से बदहाल गांव के लोगों को स्वच्छता का पाठ पढ़ाकर नई मिसाल कायम की।
विज्ञापन
योजना बनाकर छात्रों ने बख्शी का तालाब के बर्खुरदार गांव में स्वच्छता अभियान चलाया और गांव की सूरत बदल दी। लोग पहले के मुकाबले सफाई के प्रति अधिक जागरूक हुए और ग्रामीणों की जागरूकता को देखते हुए प्रधान ने भी नियमित सफाई की शुरुआत करा दी। इतना ही नहीं छात्रों ने ग्रामीणों को स्वच्छता के फायदे और नुकसान भी बताए। 

लखनऊ विश्वविद्यालय के पीजी कर रहे श्रेयांस रस्तोगी, आस्था तिवारी, ऐश्वर्या, शालिनी सिंह, ऋषभ रस्तोगी, यशस्वी गुप्ता, स्वाति दास, अम्बालिका तिवारी और अंजनी ने डॉ. पुनीत मिश्रा के निर्देशन में अभियान की शुरुआत की।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

स्कूली बच्चों से हुई शुरुआत

विज्ञापन

Recommended

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से
ज्योतिष समाधान

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से
ज्योतिष समाधान

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Dehradun

खेलने की उम्र में 8वीं का छात्र बना 'वैज्ञानिक', इस प्रोजेक्ट के लिए राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

उत्तराखंड के चंपावत राजकीय इंटर कॉलेज के आठवीं कक्षा के बाल वैज्ञानिक नीरज कुमार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गांधीनगर में हुए फेस्टिवल ऑफ इनोवेशन एंड इंटरप्रेनरशिप में सम्मानित किया।

17 मार्च 2019

विज्ञापन

नोएडा में मेट्रो के सामने कूदकर 22 वर्षीय युवती ने की आत्महत्या

नोएडा सेक्टर-16 मेट्रो स्टेशन पर बड़ा हादसा, 22 साल की युवती ने मेट्रो के सामने कूदकर की आत्महत्या। घटनास्थल पर पुलिस मौजूद है और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

22 मार्च 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree