अग्निसार क्रिया: अब नहीं होंगे गैस की समस्या से परेशान

डॉ. शैलेन्द्र शेखर Updated Wed, 03 Jan 2018 11:52 AM IST
cure of acidity and gas problems through agnisar kriya
शरीर को चलाने वाली सभी 13 अग्नियों को इस क्रिया से बल मिलता है। यह क्रिया षटकर्म का एक अंग है। जिन्हें गैस या वायुजनित रोग हैं, उनके लिए यह बहुत उपयोगी है। पूरी सांस भरें और अच्छी तरह से सांस बाहर निकालने के बाद पेट को अंदर की तरफ खींचे और फिर बाहर की ओर ढीला छोड़ें। 

जब पेट को आगे-पीछे करते हुए मांसपेशियां दुखने लगें और सांस रोकना मुश्किल हो जाए, तब पेट को ढीला छोड़ दें और सांस भरकर आराम से सीधे खड़े हो जाएं। थोड़े विश्राम के बाद इस क्रिया को फिर से दुहराएं। शुरुआत में इसे लगभग 10 बार करें। पेप्टिक अल्सर, कोलाइटिस, हर्निया, पेट के ऑपरेशन, मासिक धर्म, गर्भावस्था आदि की स्थिति में इसका अभ्यास न करें।     

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Lifestyle Tips in Hindirelated to health tips, facts, ideas, tasty recipes in Hindi & healthy life style etc. Stay updated with us for all breaking news from Lifestyle and more Hindi News.

Spotlight

Most Read

Yoga and Health

जालंधर बंध: रक्त संचार को सुचारू रखना है तो ये योगासन करें

जानें जालंधर बंध योगासन से होने वाले फायदों के बारे में....

16 जनवरी 2018

Related Videos

जॉन अब्राहम ने सालों की मेहनत के बाद पाई ऐसी जबरदस्त बॉडी, वीडियो

जॉन अब्राहम ने सालों साल मेहनत कर और जिम में पसीना बहाकर जबरदस्त बॉडी हासिल की है।

25 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper