32 हजार नवजात मौत के मुंह में समा गए, कोर्ट ने सरकार से मांगी रिपोर्ट

अमर उजाला टीम​ डिजिटल/जयपुर Updated Fri, 12 Jan 2018 08:05 PM IST
Rajasthan highCourt seeks report in six weeks at the new born baby
राजस्थान में नवजात बच्चों की मौत को लेकर पेश किए गए आंकड़ों पर राजस्थान हाईकोर्ट जोधपुर मुख्यपीठ ने असंतोष जताते हुए मौखिक फटकार लगाई है।

सीजे प्रदीप नन्द्राजोग और जस्टिस आरएस झाला कि खंडपीठ में आज स्वप्रेरणा से प्रसंज्ञान लेकर दायर जनहित याचिका पर सुनवाई हुई। पिछली सुनवाई पर सरकार की ओर से प्रदेश में पन्द्रह माह में बत्तीस हजार नवजात बच्चो की मौत का आंकड़ा पेश किया गया था। सीजे नन्द्राजोग ने सरकार की ओर से पेश हुए एएजी कान्तिलाल ठाकुर के सहयोगी रिषभ ताहिल से पूछा कि इनकी मौत कैसे हुई और किन कारणों हुई। प्री-मेच्योर डिलिवरी से कितने की मौत हुई, कुपोषण से कितनी मौत हुई।

इस तरह से कुल सात बिंदुओं पर छह सप्ताह में पूरी रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए हैं। सीजे ने न्यायमित्र राजवेन्द्र सारस्वत व कुलदीप वैष्णव से को भी निर्देश दिए हैं कि वे पता करें कि राजस्थान के आसपास के राज्यों से राजस्थान की क्या स्थिति है। हाईकोर्ट ने सरकार के आकड़ों पर नाराजगी जताई।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

पंजाब: कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने दिया इस्तीफा

पंजाब के कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। राणा गुरजीत ऊर्जा एवं सिंचाई विभाग के मंत्री थे।

16 जनवरी 2018

Related Videos

लव जिहाद के कारण नहीं हुई थी राजस्थान में अफराजुल की हत्या!

राजस्थान के राजसमंद कांड में पुलिस ने खुलासा किया है। हत्यारे शंभू रैगर ने अफराजुल की हत्या लव जिहाद के कारण नहीं बल्कि किसी और कारण से की थी। हत्या का कारण जान हैरान हो जायेंगे आप... 

16 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper