जाधव के लिए तालिबान-ISI के बीच हुई करोड़ों डॉलर की सौदेबाजी

गुंजन कुमार/ अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sat, 20 May 2017 08:05 AM IST
Hundreds of billions dollars negotiation between the Taliban and the ISI for Jadhav
भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव का कारण बने कुलभूषण जाधव के लिए तालिबान और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के बीच करोड़ों डॉलर की सौदेबाजी हुई थी। पिछले साल फरवरी में पहले तालिबान ने एक सुन्नी कट्टरपंथी संगठन की मदद से जाधव को ईरान से अगवा किया और आईएसआई के हाथों बेच दिया। पाक के इस प्रपंच की जानकारी पक्की हो जाने के बाद भारत कूटनीतिक स्तर पर ईरान के साथ इस सच्चाई को उजागर करने की कवायद में जुटा है। 
भारत की इन्हीं कोशिशों के तहत ईरान ने पाक से जाधव तक राजनयिक पहुंच और पूछताछ की इजाजत मांगी है। खुफिया एजेंसी के उच्च पदस्थ सूत्र ने अमर उजाला से इसकी पुष्टि की है कि तालिबान आतंकियों के एक गुट ने ईरान-पाकिस्तान सीमा पर सक्रिय एक सुन्नी कट्टरपंथी गुट के मिलकर जाधव का अपरहण किया था।

सूत्रों के मुताबिक, अभी यह पुष्टि नहीं हो पाई है कि यह अपहरण पाक सेना या आईएसआई के इशारे पर किया गया या तालिबान ने इसे अंजाम देकर सौदे की पेशकश की। सूत्रों ने बताया कि यह सौदेबाजी डॉलर में हुई है।

ईरान की खुफिया एजेंसी मिनिस्ट्री ऑफ इंटेलिजेंस एंड सिक्योरिटी (एमओआईएस) की जांच में उजागर हुए इन तथ्यों को भारत के साथ साझा किया गया है। इसी आधार पर पाकिस्तान में ईरान के राजनयिक मोहम्द रफी ने 10 मई को क्वेटा में यह जानकारी दी कि उनकी सरकार ने पाकिस्तान से जाधव से पूछताछ की इजाजत मांगी।

लेकिन पाक पाकिस्तान ने इसे तवज्जो नहीं दी। सूत्रों के मुताबिक, ईरान में चुनाव के बाद इस मामले में ठोस कदम उठाए जाएंगे। गौरतलब है कि भारतीय नौसेना से रिटायर होने के बाद जाधव ईरान में व्यापार करता था।
आगे पढ़ें

पाक सेना जाधव को फांसी देकर दबाना चाहती है मामला

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

PM मोदी की उड़ान के लिए पाक ने वसूला 2.86 लाख का रूट नेविगेशन शुल्क

लाहौर में रुकने और रूस, अफगानिस्तान, ईरान व कतर यात्रा के दौरान पाक से गुजरने पर यह शुल्क वसूला गया है।

19 फरवरी 2018

Related Videos

‘एविएशन सेक्टर की ताकत पर्यटन को बल देगी’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का भूमिपूजन किया। इस दौरान उन्होंने पिछली सरकारों पर जमकर निशाना साधा।

18 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen