लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   G-23 meeting: Singhvi spoke to disgruntled leaders - strengthen Congress in the elections of the five states

कांग्रेस के इतिहास की दुहाई देकर असंतुष्ट नेताओं से सिंघवी बोले - पहले पांच राज्यों के चुनाव में पार्टी को मजबूत करें

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Sat, 27 Feb 2021 06:16 PM IST
abhishek manu singhavi
abhishek manu singhavi - फोटो : pti
ख़बर सुनें

वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद द्वारा शनिवार को जम्मू में बुलाए गए जी-23 नेताओं के सम्मेलन में कांग्रेस नेतृत्व के प्रति एक बार पुन: असंतोष के स्वर उठे। वहीं दिल्ली में कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने प्रेस कांफ्रेंस कर असंतोष को शांत करने का प्रयास किया। उन्होंने कांग्रेस की विरासत व इतिहास की दुहाई देकर  कहा कि इन नेताओं का पार्टी में बहुत सम्माान है। अभी इन्हें पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को मजबूत करने के अधिकाधिक प्रयास करना चाहिए। 


 

बता दें जम्मू सम्मेलन में असंतुष्ट नेताओं ने पार्टी नेतृत्व पर उनकी उपेक्षा करने व बगैर उनसे परामर्श के फैसले करने और किसी भी निर्णय पर पार्टी में आम सहमति नहीं बनाने को लेकर हमला बोला है। उनके इस बगावती तेवरों को सिंघवी ने ठंडा करने का प्रयास किया। 



जम्मू में मौजूद प्रत्येक नेता का पार्टी में सम्मान
सिंघवी ने आगे कहा कि जम्मू सम्मेलन में शामिल प्रत्येक नेता का पार्टी में आदर है। हमें गर्व है कि ये नेता हमारी पार्टी में हैं। मुझे यकीन है कि इन नेताओं को भी कांग्रेस पार्टी के सदस्य होने का उतना ही गर्व होगा, इसलिए वे इस कांग्रेस परिवार के सदस्य हैं। मैं जो भी उनसे कह रहा हूं वह पूरे आदर के साथ कह रहा हूं। मैं कांग्रेस व इन नेताओं के बीच तीन-चार दशकों की परंपरागत विरासत का आदर करता हूं। 

आजाद को लेकर किसी ने 'इस्तेमाल' शब्द का उपयोग नहीं किया
सिंघवी ने कहा कि जिस मुख्य व्यक्ति (गुलाम नबी आजाद), के सम्मान में यह जम्मू सम्मेलन आयोजित किया गया है, को लेकर 'इस्तेमाल' शब्द का उपयोग नहीं किया। आजाद ने भी कभी ऐसी शिकायत नहीं की। जो इस्तेमाल शब्द का उपयोग करते हैं , वे कुछ चीजों को भूल रहे हैं। उन्हें जानकारी का अभाव है। कांग्रेस के समकालीन इतिहास का ज्ञान नहीं है। 

40 साल सांसद रहे हैं आजाद, सोनिया ने बनाया सीएम
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि हमें गर्व है कि आजाद ने सात से ज्यादा बार संसद में कांग्रेस का झंडा उठाया है। वे पांच बार राज्यसभा व दो बार लोकसभा सदस्य रहे हैं। यह कार्यकाल मोटे तौर पर 40 साल का होता है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने उन्हें जम्मू-कश्मीर का मुख्यमंत्री मनोनीत किया था। 

हम आपसे में व्यस्त न रहें, कांग्रेस अभियानों में जुटें
इसके साथ ही सिंघवी ने कहा कि मैं विनम्रतापूर्वक कहता हूं कि कांग्रेस के लिए हमारा श्रेष्ठ योगदान आपसे में व्यस्त रहने में नहीं, बल्कि पांच राज्यों में पार्टी के रोज चलाए जा रहे अभियानों में सक्रिय भूमिका निभाने से होगा। सिंघवी ने कहा कि वह उन सवालों का जवाब नहीं देंगे, जो मामले को सनसनीखेज बनाएंगे और मूल मुद्दों को कमजोर करेंगे। 
विज्ञापन

पूनावाला ने शर्मा व आजाद से पूछा, क्या गृह राज्य में लगातार जीत सकेंगे चुनाव?
सिंघवी ने जहां वरिष्ठ नेताओं के प्रति नरम रुख अपनाया वहीं कांग्रेस नेता तहसीन पूनावाला ने आक्रामक रवैया अपनाया। उन्होंने सवाल किया कि क्या आनंद शर्मा व गुलाम नबी आजाद अपने गृह राज्यों से लगातार चुनाव जीत सकते हैं? ये नेता यूपी व तमिलनाडु जैसे राज्यों में कांग्रेस को मजबूत क्यों नहीं करते, जहां के वे प्रभारी हैं? इन नेताओं ने तब चुनाव की मांग क्यों नहीं की, जब वे सत्ता का मजा ले रहे थे? ये नेता चुनावी राज्यों में प्रचार अभियान में भाग क्यों नहीं ले रहे हैं? 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00